Wednesday, December 31, 2014

"आजकाप्राइमरीकामास्टर" की पूरी टीम की तरफ से आप सब मित्रों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं | मित्रों आप सब.......

"आजकाप्राइमरीकामास्टर" की पूरी टीम की तरफ से आप सब मित्रों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं | मित्रों आप सब लोगों तक बेसिक शिक्षा विभाग से जुड़ी खबरों को तेजी से पहुंचाने का पूरा प्रयास रहा है |

        मित्रों माह जून 2014 से आपके बीच "आजकाप्राइमरीकामास्टर" की टीम ने सूचनाओं और नई जानकारियों को पहुंचाने का प्रयास शुरू किया जिसे आप लोगों ने सराहा और समय-समय पर सलाह भी दिया जिस पर खरा उतरने का प्रयास हर समय जारी रहता है|

        आप सभी ने बहुत ही कम समय में जो प्यार दिया उसके लिए दिल से आभार.....नई सूचनाओं और जानकारियों के लिए www.aajkaprimarykamaster.com पर जाकर कभी भी प्राप्त कर सकते हैं |

����                      ��
��                          ��
��                          ��
��                          ��
������������ ��
��                           ��
��                           ��
��                           ��
                     ��
                ��    ��
              ��         ��
           ��               ��
        ����������
     ��                          ��
  ��                                ��
��                                     ��

��������������
��                                  ��
��                                   ��
��������������
��
��
��
��

��������������
��                                  ��
��                                  ��
��������������
��
��
��
��

     ��                                   ��
         ��                            ��
            ��                      ��
                ��                ��
                    ��         ��
                             ��
                            ��
                            ��
                            ��

��                        ��
��   ��               ��
��          ��        ��
��                  ����
��                        ��
��                        ��

������������
��
��
������������
��
��
������������

��                         ��           
��                         ��
��          ��          ��
��          ��         ��
��      ��   ��   ��
��   ��        �� ��

��                           ��
   ��                     ��
        ��             ��
           ��        ��
               ��   ��
                     ��
                     ��
                     ��
������������
��
��
������������
��
��
������������

                      ��  
                  ��   ��
               ��          ��
             ��              ��
           ����������
         ��                         ��
       ��                             ��
     ��                                  ��

������������
��                           ��
��                           ��
������������
��   ��
��             ��
��                    ��
��                           ��

������������
��                           ��
                                  ��
������������
��
��                           ��
������������

������������
��                           ��
��                           ��
��                           ��
������������

         ��
��  ��
          ��
          ��
          ��
��������
����������
��
����������
                            ��
���� ������

                     
                         
                         
                         

                          
                          
                          
                    
                   
                      
                         
       
                              
                                 
                                    

                                 
                                  

                                 
                                 

                                       
                                    
                                 
                               
                            
                            
                           
                           
                           

                       
                 
                 
                 
                       
                       



                                    
                        
                   
                  
           
          

                          
                       
                    
                  
                 
                    
                    
                    


                        
                    
                        
                          
          
                                 
                                   
                                      

                          
                          

  
            
                   
                          

                          
                                 

                          

                          
                          
                          

        
 
         
         
         

                           

प्रदेश में जिला और ब्लॉक अध्यक्ष भी गोद लेंगे परिषदीय स्कूल :  पढ़ाई को लेकर  शिक्षाधिकारी व शिक्षकों के बीच होगा मुकाबला-

प्रदेश में जिला और ब्लॉक अध्यक्ष भी गोद लेंगे परिषदीय स्कूल :  पढ़ाई को लेकर  शिक्षाधिकारी व शिक्षकों के बीच होगा मुकाबला-

रायबरेली : परिषदीय विद्यालयों का शैक्षिक स्तर सुधारने में अब शिक्षाधिकारियों और शिक्षक नेताओं के बीच बराबरी का मुकाबला होगा। क्योंकि अब प्रदेश के जिला व ब्लाक अध्यक्ष और मंत्री दो-दो परिषदीय स्कूलों को गोद लेंगे। प्रदेश कार्य समिति की बैठक के बाद उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष लल्लन मिश्रा ने यह निर्देश जारी किए हैं। इस आदेश के बाद परिषदीय विद्यालयों की शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार होने की आशाएं बढ़ती दिख रही है। बेसिक शिक्षा मंत्री राम गोविंद चौधरी ने हाल में आदेश जारी किया था कि एडी बेसिक, डायट प्रचार्य, बीएसए, बीईओ और एबीआरसी दो-दो स्कूलों को गोद लेकर उन्हें आदर्श बनाएंगे।

कुछ इसी तर्ज पर प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष लल्लन मिश्रा ने उत्तर प्रदेश के जिला व ब्लाक के अध्यक्ष और मंत्री को एक नहीं बल्कि दो-दो स्कूलों को गोद लेने के निर्देश दिए है। जिला व ब्लाक के अध्यक्ष और मंत्री एक अपना स्कूल और एक दूसरा स्कूल गोद लेंगे। इस दौरान जिलाध्यक्ष और मंत्री एक-एक दिन दोनों स्कूलों में देंगे। ताकि शैक्षिक गुणवत्ता का विकास हो सके।

अब सरकारी अफसरों और जिला के शिक्षक नेताओं के बीच शैक्षिक गुणवत्ता को लेकर मुकाबला देखने को मिलेगा। क्योंकि शिक्षाधिकारी और शिक्षक नेता गोद लिए हुए स्कूलों पर कितना समय देते है यह बात कुछ दिनों के अंदर सामने आ जाएगी।

"प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला व ब्लाक के अध्यक्ष और मंत्री गोद लेने वाले स्कूलों में समय से पहुंचे। छात्रों को जनरल नालेज (जीके), शिक्षण माहौल, यूनीफार्म समेत अन्य कार्यो को अप-टू-डेट रखें। ताकि प्रदेश के परिषदीय स्कूलों के साथ-साथ छात्रों का विकास हो सके।"
-लल्लन मिश्रा, प्रदेश अध्यक्ष, प्राथमिक शिक्षक संघ, रायबरेली।

      खबर साभार :  हिन्दुस्तान/दैनिकजागरण

बीटीसी-2012 बैच के दाखिले में देरी से दांव पर भविष्य : प्रशिक्षण पूरा होने पर आयु जोड़ने की मांग-

बीटीसी-2012 बैच के दाखिले में देरी से दांव पर भविष्य : प्रशिक्षण पूरा होने पर आयु जोड़ने की मांग-

     खबर साभार : हिन्दुस्तान

आंगनबाड़ी केन्द्रों में सुविधाओं का टोटा : 13 फिसदी आंगनबाड़ी केन्द्रों में साफ-सफाई की व्यवस्था नहीं -

आंगनबाड़ी केन्द्रों में सुविधाओं का टोटा : 13 फिसदी आंगनबाड़ी केन्द्रों में साफ-सफाई की व्यवस्था नहीं -

     खबर साभार : हिन्दुस्तान

शीतलहर में आंगनबाड़ी केंद्र खोलने का दबाव : पीरनगर में सुपरवाइजर ने कार्यकत्र्री व आया को केंद्र बंद रखने पर लगायी फटकार-

शीतलहर में आंगनबाड़ी केंद्र खोलने का दबाव : पीरनगर में सुपरवाइजर ने कार्यकत्र्री व आया को केंद्र बंद रखने पर लगायी फटकार-

१-स्कूल बंदी का मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी का निर्देश विकास खण्ड में निष्प्रभावी साबित हो रहा है।
२-ढाई साल से पांच साल तक आयु सीमा के दुधमुंहे बच्चों को शीतलहर से बचाव का शायद बाल विकास परियोजना के जिम्मेदार लोगों को ध्यान नहीं रहा
३-कक्षा एक से 12 तक के स्कूलों को पहली जनवरी तक का बंदी का आदेश बाल विकास परियोजना विभाग के लिए कोई मायने नहीं रखता।

माल-लखनऊ (एसएनबी)। स्कूल बंदी का मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी का निर्देश विकास खण्ड में निष्प्रभावी साबित हो रहा है। कक्षा एक से 12 तक के स्कूलों को पहली जनवरी तक का बंदी का आदेश बाल विकास परियोजना विभाग के लिए कोई मायने नहीं रखता। गत 26 दिसम्बर को पीरनगर गांव स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र में सुपरवाइजर एक बजे चेक करने पहुंचे, बंद केन्द्र की कार्यकत्र्री व आया को फटकार लगायी, जिसके भय से आंगनबाड़ी केन्द्र गुरुवार को लगाया गया। ध्यान रहे कि बीती बीस दिसम्बर से शीत लहर को देखते हुए इण्टर तक की कक्षाएं बंद करने का निर्देश कई बार समाचार पत्रों व आकाशवाणी के माध्यम से प्रसारित किया जा चुका है, लेकिन ढाई साल से पांच साल तक आयु सीमा के दुधमुंहे बच्चों को शीतलहर से बचाव का शायद बाल विकास परियोजना के जिम्मेदार लोगों को ध्यान नहीं रहा होगा या उन्होंने आकाशवाणी, टीवी चैनल व समाचार पत्रों पर नजर नहीं फेरी होगी। नहीं तो बीती 26 दिसम्बर को पीरनगर आंगनबाड़ी केन्द्र सुपरवाइजर क्यों देखने की हिमाकत करते और बंद आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को क्यों फटकार लगाते? यही नहीं इस बीच स्वयं सेवी संस्था वात्सल्य द्वारा भी इस केन्द्र पर कई बार बच्चों को एकत्रित करने की गुस्ताखी की जा चुकी है।

    खबर साभार : राष्ट्रीयसहारा

ऑनलाइन लिए जाएंगे अनुदेशकों के आवेदन फार्म : ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 जनवरी -

ऑनलाइन लिए जाएंगे अनुदेशकों के आवेदन फार्म : ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 जनवरी -

१-आवेदन बेसिक शिक्षा की वेबसाइट यूपीबेसिकईडीयूपीएआरआइएसएचएडी डाट जीओवी डाट इन ( www.upbasicedupa.gov.in या www.ishad.gov.in) पर विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
२-चयन प्रक्रिया, शैक्षिक अर्हता, आयु, आरक्षण, आवेदन शुल्क, मानदेय की जानकारी मिलेगी। इसी वेबसाइट पर आनलाइन फार्म, ई-चालान व आवेदनपत्र उपलब्ध है।
३-अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर 0532-2250734 शुरू किया गया है।

जासं, इलाहाबाद : पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में पठन-पाठन व्यवस्था दुरुस्त करने के उद्देश्य से अनुदेशकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई है। जिला में 340 पदों की भर्ती निकाली गई है, जिसके लिए ऑनलाइन आवेदन लिया जाएगा। इसमें 178 कला शिक्षा, 29 शारीरिक एवं स्वास्थ्य तथा 133 कार्यानुभव शिक्षा पर भर्ती की जाएगी। आवेदन बेसिक शिक्षा की वेबसाइट यूपीबेसिकईडीयूपीएआरआइएसएचएडी डाट जीओवी डाट इन पर विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसमें चयन प्रक्रिया, शैक्षिक अर्हता, आयु, आरक्षण, आवेदन शुल्क, मानदेय की जानकारी मिलेगी। इसी वेबसाइट पर आनलाइन फार्म, ई-चालान व आवेदनपत्र उपलब्ध है। अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर 0532-2250734 शुरू किया गया है।

आनलाइन फार्म भरने की अंतिम तिथि 30 जनवरी है। जबकि ई-चालान द्वारा आवेदन शुल्क 27 जनवरी तक जमा किया जा सकता है। आवेदन पत्र में त्रुटि सुधारने के लिए 16 फरवरी तक का मौका रहेगा। अनुदेशकों की नियुक्ति उन पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में होगी जहां छात्रों की संख्या सौ से अधिक है।

     खबर साभार : दैनिकजागरण

मेन्यू मुताबिक हॉट एंड कुक्ड फूड नहीं दिया तो कटेगा पैसा : एनजीओ के फर्जीवाड़े पर नकेल कसने की तैयारी-

मेन्यू मुताबिक हॉट एंड कुक्ड फूड नहीं दिया तो कटेगा पैसा : एनजीओ के फर्जीवाड़े पर नकेल कसने की तैयारी-

१-सरकार ने आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए बनाए नियम

२-3 से 6 वर्ष तक के बच्चों को हॉट एंड कुक्ड फूड परोसा जाता है

किस दिन का क्या है मेन्यू दिनव्यंजनमात्रा-

१-सोमवार व शुक्रवारमीठा दलिया 150 ग्राम

२-बुधवार व शनिवारहलुआ 100 ग्राम

३-मंगलवारखिचड़ी 170 ग्राम

४-गुरुवारतहरी 120 ग्राम

किसमें कितनी होगी कटौती-

मेन्यू से भोजन उपलब्ध न कराए जाने पर10 %

मानक से खाद्य सामग्री न इस्तेमाल होने पर50 %

भोजन न उपलब्ध कराने पर दंड 100%प्रति केंद्र

लखनऊ। आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को बंटने वाले हॉट एंड कुक्ड फूड के गोलमाल पर सरकार सख्त हो गई है। इस पर अंकुश लगाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। स्वयं सेवी संस्थाओं (एनजीओ) ने यदि मेन्यू के अनुसार हॉट एंड कुक्ड फूड नहीं परोसा तो अब उनका पैसा काटा जाएगा। यही नहीं किसी भी दिन भोजन गोल किया तो एनजीओ पर पेनल्टी लगाई जाएगी।

आंगनबाड़ी केंद्रों में तीन से छह वर्ष तक की आयु के बच्चों को हॉट एंड कुक्ड फूड परोसा जाता है। कई जिलों के आंगनबाड़ी केंद्रों में यह भोजन एनजीओ बना रहे हैं। लेकिन इनमें से कई स्थानों पर गड़बड़ी की लगातार शिकायतें मिल रही हैं। कई जगह खाना कम दिया जा रहा है तो कई जगह मेन्यू के अनुसार खाना ही नहीं मिल रहा। कई जिलों में कम बच्चों को खाना खिलाकर संख्या अधिक बताई जा रही है। इसे देखते हुए सरकार ने नियमों का सख्ती से पालन करने के लिए कहा है।

"सूबे के सभी जिला कार्यक्रम अधिकारियों को प्रारूप भेजा है। इसके अनुसार पैसा काटा जाएगा। साथ ही एनजीओ द्वारा परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता की जांच करने के लिए कहा गया है।"

- आनंद कुमार सिंह, निदेशक बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार

       खबर साभार : अमरउजाला

मदरसा शिक्षकों का मानदेय बढ़ा : अखिलेश यादव की कैबिनेट ने मंजूरी दी : देखें किस शिक्षक को कितना मिला अनुदान-

मदरसा शिक्षकों के मानदेय में Rs3000 तक का इजाफा-

लखनऊ (एसएनबी)। केन्द्र सरकार की तर्ज पर ही अब राज्य सरकार अपने खजाने से यूपी में संचालित मदरसों में कार्यरत शिक्षकों को मानदेय का भुगतान करेगी। इस तरह राज्य के मदरसा शिक्षकों के मानदेय में 1000 से लेकर 3000 रुपये तक की बढ़ोतरी हो जाएगी। मंगलवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी है। कैबिनेट में केन्द्र पुरोनिधानित मदरसा आधुनिकीकरण योजना के तहत आधुनिक विषयों के शिक्षकों को राज्य सरकार के बजट से प्रतिमाह अतिरिक्त मानदेय प्रदान करने का निर्णय लिया है। कैबिनेट के फैसले के मुताबिक इण्टरमीडिएट शैक्षिक अर्हता रखने वाले शिक्षकों को एक हजार रुपये, स्नातक के साथ बीएड शिक्षकों को दो हजार रुपये और परास्नातक के साथ बी एड शिक्षकों को प्रतिमाह तीन हजार रुपये अतिरिक्त धनराशि मानदेय में बढ़कर मिलेगी। 

इस तरह नये फैसले के बाद इण्टरमीडिएट शिक्षकों को Rs 4000, स्नातक शिक्षक को Rs 8000 और परास्नातक शिक्षक को 15,000 रुपये मानदेय कुछ शतरें/प्रतिबन्धों के अधीन प्राप्त होगा। उल्लेखनीय है कि भारत सरकार द्वारा मदरसा शिक्षकों को यही धनराशि मानदेय के रूप में दी जा रही है। कैबिनेट ने इस सम्बन्ध में किसी प्रकार के परिवर्तन/परिवर्धन के लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत भी कर दिया है।

                 खबर साभार : राष्ट्रीयसहारा

मदरसा शिक्षकों का मानदेय बढ़ा : अखिलेश यादव की कैबिनेट ने मंजूरी दी : देखें किस शिक्षक को कितना मिला अनुदान-

किस शिक्षक को कितना मिला अनुदान-

शिक्षकों की श्रेणी  >>  वर्तमान    >>   प्रस्ताव
पोस्ट ग्रेजुएट शिक्षक    12000         15000
ग्रेजुएट शिक्षक             6000             8000
अंडर ग्रेजुएट शिक्षक     3000             4000

लखनऊ। अखिलेश यादव की कैबिनेट ने मंगलवार को मदरसा शिक्षकों का मानदेय बढ़ाने को मंजूरी दे दी है। इसके तहत मदरसा शिक्षकों का एक हजार रुपये से लेकर तीन हजार रुपये तक का फायदा होगा। यह अतिरिक्त मानदेय प्रदेश सरकार अपने बजट से देगी।
केंद्र सरकार की मदरसा आधुनिकीकरण योजना में प्रदेश के कई मदरसों को अनुदान मिलता है। इसके तहत शिक्षकों की तीन तरह की श्रेणियां बनाई गई हैं। मदरसों में आधुनिक विषय पढ़ाने के लिए इन्हें केंद्र सरकार की ओर से मानदेय दिया जाता है। अब इस मानदेय को प्रदेश सरकार ने अपना अंश भी जोड़ दिया है। इस अंश के जुड़ने से मदरसा शिक्षकों को पहले से ज्यादा मानदेय मिल सकेगा। सरकार के इस निर्णय से प्रदेश के करीब 17 हजार मदरसा शिक्षकों को इसका लाभ मिल सकेगा।

    खबर साभार : अमरउजाला

Tuesday, December 30, 2014

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET)2014-15 की संरचना और विषय सूची देखें-

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET)2014-15 की संरचना और विषय सूची देखें-

कड़ाके की ठंड में भी खुले हैं आंगनबाड़ी केन्द्र : जबकि प्रशासन ने 12 जनवरी तक सभी विद्यालय बन्द करने का दिया है आदेश-

कड़ाके की ठंड में भी खुले हैं आंगनबाड़ी केन्द्र : जबकि प्रशासन ने 12 जनवरी तक सभी विद्यालय बन्द करने का दिया है आदेश-

  खबर साभार : हिन्दुस्तान

72825 प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती : जनवरी के दूसरे हफ्ते से नियुक्ति पत्र की उम्मीद-

72825 प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती : जनवरी के दूसरे हफ्ते से नियुक्ति पत्र की उम्मीद-

• मूल काउंसलिंग और प्रोविजनल काउंसलिंग वाले अभ्यथियों की सूची अलग-अलग मंगाई गई है।

•तीन दर्जन जिलों ने सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के मुताबिक पात्र अभ्यथियों की सूची भेज दी है।

राज्य मुख्यालय : प्रदेश में चल रही 72,825 प्रशिक्षु शिक्षक भती में जनवरी के दूसरे हफ्ते से नियुक्ति पत्र जारी किए जाने की उम्मीद है। लगभग तीन दर्जन जिलों ने सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के मुताबिक पात्र अभ्यथियों की सूची भेज दी है। बाकी के जिलों से 30 दिसम्बर की शाम तक सूची मांगी गई है। इसके बाद ये सूची एनआईसी को सौंपी जाएगी। एनआईसी जब इस ब्यौरे को पास करेगा, इसके बाद ही नियुक्ति पत्र दिए जाएंगे। ये काम 3-4 दिन में पूरा हो जाएगा। इसके बाद नियुक्ति पत्र जारी करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

दरअसल, अभी तक एससीईआरटी ने काउंसलिंग के मुताबिक पात्र अभ्यथियों की सूची तैयार की थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने अनारक्षित वग में 70 और आरक्षित वग में 65 फीसदी अंकों का कटऑफ तय कर दिया। लिहाजा, अब जिलों को दोबारा इसके मुताबिक सूची तैयार करनी पड़ रही है। इस बीच, आवेदन पत्रों की गलतियों में ऑनलाइन संशोधन कर ब्यौरा अपडेट किया गया है। लिहाजा प्रोविजनल काउंसलिंग करा चुके अभ्यथियों को अब मुख्य सूची में शामिल किया जाएगा। अभी जिले से मांगी गई सूची में मूल काउंसलिंग और प्रोविजनल काउंसलिंग वाले अभ्यथियों की सूची अलग-अलग मंगाई गई है।

           खबर साभार :   हिन्दुस्तान

छठी काउंसलिंग में बुलाए जाएंगे बीस गुना अभ्यर्थी : छठवीं काउंसलिंग सात एवं आठ जनवरी को : साथ में देखें जारी आदेश पत्र-

छठी काउंसलिंग में बुलाए जाएंगे बीस गुना अभ्यर्थी : छठवीं काउंसलिंग सात एवं आठ जनवरी को : साथ में देखें जारी आदेश पत्र-

१-जूनियर विज्ञान गणित सीधी शिक्षक भर्ती की छठी काउंसलिंग

२-7 और 8 जनवरी को होने का आदेश जारी

३-20 गुना  बुलाने की है तैयारी

४-3 जनवरी को जारी होगी मेरिट सूची

इलाहाबाद (ब्यूरो)। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से जूनियर हाईस्कूलों में 29334 शिक्षक पदों पर भर्ती के लिए छठवीं काउंसलिंग सात एवं आठ जनवरी को कराई जाएगी। परिषद ने पांचवीं काउंसलिंग के बाद रिक्त पदों के सापेक्ष बीस गुना अभ्यर्थियों का चुनाव करके इसकी सूची तीन जनवरी तक प्रकाशित करने को कहा है। छठीं काउंसलिंग के लिए अभ्यर्थियों की सूची जनपदों के एनआईसी की वेबसाइट पर अपलोड कर दी जाएगी। जिले में विषय के पद उपलब्ध होने की स्थिति में ही अभ्यर्थियों का दावा स्वीकार किया जाएगा। इस आशय का पत्र सचिव बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से प्रदेश के सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजा गया है।
 

इलाहाबाद : विज्ञान और गणित के 29 हजार 334 शिक्षकों की छठवीं काउंसिलिंग में उन अभ्यर्थियों को भी शामिल होने का अवसर मिलेगा जो पूर्व की पांचवीं काउंसिलिंग में शामिल तो हो चुके हैं लेकिन उनका अंतिम चयन नहीं हो सका है। यह काउंसिलिंग सात व आठ जनवरी को होने जा रही है। अभ्यर्थियों के लिए भर्ती में शामिल होने का यह आखिरी अवसर होगा।

बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने शासन को यह अवगत कराया था कि पूर्व की पांचवीं काउंसिलिंग में शामिल कई अभ्यर्थियों का अंतिम चयन किसी जिले की निर्धारित सीटों के तहत नहीं हो सका है। उन्होंने छठवीं काउंसिलिंग में ऐसे अभ्यर्थियों को अवसर दिए जाने की इजाजत मांगी थी। शासन की ओर से बेसिक शिक्षा सचिव हीरा लाल गुप्ता ने इसके लिए अनुमति प्रदान कर दी है। उच्च प्राथमिक स्कूलों में गणित एवं विज्ञान विषय के शिक्षकों के लिए की जा रही इस भर्ती में पांच काउंसिलिंग होने के बाद भी 2800 पद रिक्त हैं। शासन ने साफ कर दिया है कि यह काउंसिलिंग अंतिम होगी। सचिव संजय सिन्हा ने बीएसए को निर्देश जारी कर कहा है कि छठवीं काउंसिलिंग के लिए बीस गुना अभ्यर्थियों की सूची तैयार कर ली जाए |

     खबर साभार : अमरउजाला/दैनिकजागरण

बीटीसी-2012 के 22 हजार अभ्यर्थियों का रिजल्ट 25 के बाद : बीटीसी-2011 की भर्ती प्रक्रिया में हो सकते है शामिल-

बीटीसी-2012 के 22 हजार अभ्यर्थियों का रिजल्ट 25 के बाद : बीटीसी-2011 की भर्ती प्रक्रिया में हो सकते है शामिल-

इलाहाबाद। बीटीसी-2012 के करीब 22 हजार अभ्यर्थियों के फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाएं जनवरी माह के पहले हफ्ते से शुरू होकर 10 जनवरी तक संपन्न होने जा रही है। इन अभ्यर्थियों का रिजल्ट 25 जनवरी के बाद घोषित किये जाने की तैयारियां है। यह रिजल्ट घोषित होने के बाद बीटीसी-2012 के अभ्यर्थी बीटीसी-2011 की चल रही भर्ती प्रक्रिया में शामिल हो सकते है। वहीं बीटीस के कई अन्य सत्रों की भी परीक्षाएं होने जा रही है जिसका रिजल्ट 25 जनवरी के बाद घोषित होगा। इसकी तैयारियां सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में जोरशोर से चल रही है। 

सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी श्रीमती नीना श्रीवास्तव ने बताया कि बीटीसी के कई सत्रों की परीक्षाएं जनवरी माह के पहले हफ्ते से शुरू होकर 10 जनवरी तक संपन्न होगी। उसका रिजल्ट भी शीघ्र घोषित कर दिया जायेगा। उधर, बीटीसी- 2012 के अभ्यर्थियों का रिजल्ट शीघ्र घोषित हो जायेगा तो यह लोग बीटीसी-2011 की चल रही 15 हजार शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में शामिल हो सकते है। इससे बीटीसी-2011 के अभ्यर्थियों की परेशानियां बढ़ जायेगी। 

टीईटी परीक्षा को लेकर बैठक कल-

टीईटी परीक्षा वर्ष 2014 को लेकर शासन में बुधवार को बैठक होगी। इसमें आनलाइन आवेदन लिये जाने की तिथि तय होगी जबकि परीक्षा की तिथि 13 और 14 फरवरी तय की गयी है। शासन में सोमवार को हुई बैठक में एनआईसी से टीईटी के लिए आवेदन लिये जाने की तिथि तय नहीं हो पायी। ऐसे में बुधवार को होने वाली बैठक में तिथि के तय होने की संभावना है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी श्रीमती नीना श्रीवास्तव ने बताया कि अगर बुधवार को होने वाली बैठक में आनलाइन आवेदन लिये जाने की तिथि तय नहीं हो पायेगी तो टीईटी परीक्षा के मई में होने की संभावना है। टीईटी में 65 व 70 फीसदी अंक पाने वालों की सूची भेजी इलाहाबाद। डायट ने 72825 शिक्षक-शिक्षिकाओं की भर्ती में शामिल 65 फीसदी एससी/एसटी और सामान्य वर्ग के 70 फीसदी अंक पाने वाले अभ्यर्थियों की सूची एससीआरटी को सोमवार को भेज दी। इन अभ्यर्थियों को 31 जनवरी तक नियुक्ति पत्र दिये जाने की तैयारियां शासन स्तर पर चल रही है। डायट प्राचार्य विनोद कृष्ण ने बताया कि 65 और 70 फीसद मेरिट वाले अभ्यर्थियों की सूची एससीईआरटी को भेज दी है |

       खबर साभार : राष्ट्रीयसहारा

RECENT POSTS

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/आदेश/निर्देश/सर्कुलर/पोस्ट्स एक साथ एक जगह, बेसिक शिक्षा न्यूज ● कॉम के साथ क्लिक कर पढ़ें ।

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/ आदेश / निर्देश / सर्कुलर / पोस्ट्स एक साथ एक जगह , बेसिक शिक्षा न्यूज ●...