महराजगंज : पुरानी पेंशन समेत 21सूत्रीय मांगों के लिए कर्मचारियों ने शिक्षकों ने भरी हुंकार, कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन कर सौंपा मांग पत्र

महराजगंज : पुरानी पेंशन समेत 21सूत्रीय मांगों के लिए कर्मचारियों ने शिक्षकों ने भरी हुंकार, कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन कर सौंपा मांग पत्र

आज दिनांक 28/10/2021 को कर्मचारी शिक्षक अधिकारी पेंशनर्स अधिकार मंच उत्तर प्रदेश के आह्वान पर जनपद मुख्यालय महाराजगंज पर विभिन्न कर्मचारी संगठनों,शिक्षकों, शिक्षा मित्रों ,अनुदेशकों ,रसोईया, आंगनबाड़ी आदि ने अपने मांगों के संबंध में जिलाध्यक्ष केशव मणि त्रिपाठी की अध्यक्षता में विशाल धरना प्रदर्शन किया गया एवम ज्ञापन सौंपा ।
          धरने की अध्यक्षता करते हुए जिलाध्यक्ष केशव मणि त्रिपाठी ने कहा कि सरकार को हमारी मांगे माननी ही पड़ेगी क्योंकि सभी कर्मचारी संगठनों ने कमर कस लिया है और पुरानी पेंशन सहित 21 सूत्रीय मांगो के साथ अन्य मांगो के प्रति जागरूक हैं ।आज प्रत्येक कर्मचारी शिक्षक सरकार की हठधर्मिता से व्यथित हैं जिसका खामियाजा सरकार को आने वाले विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ सकता है इसलिए समय रहते सरकार हमारी मांगों को स्वीकार करे ।
            मंच के संयोजक श्री भागवत सिंह ने कहा सरकार हमारे बुढ़ापे की लाठी पुरानी पेंशन बहाल कर दे हमारी सभी समस्याओं का हल हो जायेगा क्योंकि पुरानी पेंशन हमारे परिवार के मुश्किल समय में आर्थिक हितों से जुड़ा हुआ मुद्दा है इसलिए सरकार पुरानी पेंशन बहाल करे ।मंच के प्रधान महासचिव कमलेश सिंह ने कहा कि सरकार ने कर्मचारियों का डी ए एवम अन्य भत्ते फ्रिज करके बहुत ही आर्थिक क्षति पहुंचाई है ।सरकार को शीघ्र सभी भत्ते बहाल करने होंगे ।
      वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्राथमिक शिक्षक संघ महाराजगंज बैजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सभी मांगे जायज है जिसको सरकार ने हमसे छीन लिया अथवा मांग स्वीकार नही कर रही । हम सभी अपने संघर्ष के बल पर सरकार को झुकने के लिए मजबूर कर देंगे ।
           मंच के वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवम प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलामंत्री सत्येंद्र कुमार मिश्र ने कहा कि आज सरकार की गलत नीतियों के वजह से आज सभी शिक्षक कर्मचारी असंतुष्ट हैं ।सबका साथ सबका विकास का नारा देने वाली सरकार कर्मचारियों ,शिक्षकों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है जिसे अब बर्दाश्त नही किया जायेगा ।
         शिक्षा मित्र संघ के जिलाध्यक्ष राधेश्याम गुप्ता एवम जिलामंत्री महेश सिंह ने कहा कि सरकार ने शिक्षा मित्रों के साथ बहुत अन्याय किया है । शिक्षा मित्रों को बधुआ मजदूर की तरह व्यवहार करने वाली सरकार को इस बार के विधानसभा चुनाव तक मोहलत है अगर हम सभी  को स्थाई नही किया गया तो हम सभी सरकार के विरोध में मतदान करेंगे ।
राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के मांडलिक मंत्री संजय सिंह ने कहा कि सरकार कर्मचारियों की हितैषी नही है इसने कर्मचारियों को हमेशा परेशान किया है जरूरत है संघर्ष को तेज और निर्णायक करना है ।
      कर्मचारी शिक्षक अधिकारी एवम पेंशनर्स अधिकार मंच के अंतर्गत शामिल विभिन्न घटक दलों की प्रमुख मांगो में पुरानी बहाली, ए सी पी,कैसलेस चिकित्सा एवम उपार्जित अवकाश, शिक्षा मित्र,अनुदेशकों ,विशेष शिक्षक ,कस्तूरबा गांधी विद्यालयों के शिक्षक, मानदेय शिक्षकों को नियमित करने ,रसोईया को स्थाई करते हुए मानदेय दस हजार करने ,आंगनबाड़ी का मानदेय पंद्रह हजार करने ,सामूहिक बीमा दस लाख करने , संविलियन को निरस्त करने ,रिक्त पदों पर पदोन्नति करने ,शिक्षा मित्रों,अनुदेशकों के आश्रितों को नौकरी देने ,राज्य कर्मचारियों के निरस्त भत्ते बहाल करने ,सातवें वेतन आयोग की संस्तुति के अनुरूप वेतन देने,उपार्जित अवकाश 600 करने ,स्नातक न्यूनतम योग्यता वाले संबर्ग में 9300.. 34800ग्रेड पे 4200 करने ,वाई श्रेणी के नगरों में 20%तथा जेड श्रेणी में 10% मकान किराया भत्ता देने ,समस्त लिपिक संवर्ग की शैक्षिक योग्यता स्नातक करके ग्रेड वेतन 2800 और लेवल 5 किया जाए तथा लिपिक संवर्ग से 25% राजपत्रित पदों पर पदोन्नति करने ,लेखपाल का नाम उप राजस्व निरीक्षक करने ,अमीन की पदोन्नति 
नायब तहसीलदार पद पर बहाल करने एवम सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले पी आर डी,होमगार्ड्स,रसोईया,आशा,मनरेगा कर्मी,ग्रामपंचायत अंकेक्षण,संबिदाकर्मी ,कंप्यूटर ऑपरेटर,आंगनबाड़ी आदि का न्यूनतम मानदेय 15000देते हुए नियत समय पर देते हुए नियत समय पर भुगतान किया जाए ।
         अंत में धरना स्थल पर कर्मचारी शिक्षक अधिकारी एवम पेंशनर्स अधिकार मंच के घटक दलों की विभिन्न मांगों को जिलाधिकारी महाराजगंज को संबोधित ज्ञापन ए डी एम महाराजगंज को दिया ।तथा मांगों के नही मांगे जाने की स्थिति में आगामी 30 नवंबर को इको गार्डन लखनऊ में प्रदेश स्तर पर विशाल धरना करके संघर्ष को आगे बढ़ाने की प्रतिज्ञा सभी ने लिया ।
         इस अवसर पर राघवेंद्र पाण्डेय, मनौवर अली,हरीश शाही ,वीरेंद्र सिंह,धनप्रकाश त्रिपाठी ,अखिलेश पाठक, प्रद्युम्न कुमार सिंह,संतोष तिवारी ,दिनेश मणि ,देवेंद्र मिश्र,सीताराम जायसवाल,अरविंद गुप्ता हरिश्चंद चौधरी,लालबिहारी प्रसाद ,घनश्याम पाण्डेय,जगजीवन पटेल,गजेंद्र भारती,अशोक राय,आदित्य सिंह,अखिलेश तिवारी,रामदयाल यादव,मुन्ना कुमार,समीउद्दीन अंसारी,भोला गुप्ता,जगदीश नारायन पटेल,उमेश शाही,शशांक शेखर त्रिपाठी,आनंद पाल गौतम,राजू सिंह,अतिकुरहमान,अलाउद्दीन खां,अनूप कुमार धन्नू चौहान ,बृजेश पाण्डेय,अमरेंद्र सिंह ,राकेश सिंह,सुरेंद्र शर्मा ,साकेत जैन,कृष्ण कुमार मद्धेशिया,जितेंद्र सिंह,कृष्ण कुमार गौंड,निमिषा सिंह, मिलू मिश्र,शशिकला ,मौसम ,वंदना , आशीष सिंह,पंकज मौर्य ,मनोज वर्मा,प्रेम किशन ,अविनाश चौधरी,संजय रजक,जितेंद्र सिंह,सत्यप्रकाश वर्मा , संजय वर्मा,विपिन बिहारी मिश्र दयानंद त्रिपाठी,चंद्रभान प्रसाद,कैलाश,अनिता विश्वकर्मा ,निधि सचान ,प्रियंका आर्य,गोपाल पटेल सहित भारी संख्या में शिक्षक कर्मचारी ,शिक्षा मित्र,अनुदेशक ,रसोईया,आंगनबाड़ी सहित सभी घटक दलों के सदस्यगण उपस्थित रहे ।

Post a Comment

0 Comments