STF, SHIKSHAK BHARTI : 69 हजार शिक्षक भर्ती मोस्ट वांटेड चंद्रमा यादव की तलाश जारी, एसटीएफ ने की छापेमारी

STF, SHIKSHAK BHARTI : 69 हजार शिक्षक भर्ती मोस्ट वांटेड चंद्रमा यादव की तलाश जारी, एसटीएफ ने की छापेमारी

पुलिस को पता चला कि चंद्रमा यादव धूमनगंज इलाके में मौजूद है इस पर एसटीएफ की टीम ने वहां छापेमारी की तो वह नहीं मिला

प्रयागराज, जेएनएन। 69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा मामले में मोस्ट वांटेड चंद्रमा यादव है। उसकी तलाश में स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने फिर छापेमारी की। चंद्रमा के धूमनगंज स्थित घर और कौशांबी जिले की सीमा के पास रहने वाले कुछ रिश्तेदार के मकान में दबिश दी गई। हालांकि इस दौरान वह एसटीएफ की गिरफ्त में नहीं आया। एसटीएफ ने वहां मौजूद लोगों से उसके बारे में पूछताछ की।

चंद्रमा ने हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत अर्जी दिया है

दरअसल, एसटीएफ के अधिकारियों को भनक लगी थी कि स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव ने गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने एक अधिवक्ता के जरिए हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत अर्जी दाखिल कराई है। वह कोर्ट में समर्पण करने के लिए भी कुछ वकीलों के संपर्क में है। इसी बीच पुलिस को पता चला कि चंद्रमा यादव धूमनगंज इलाके में मौजूद है। इस पर एसटीएफ की टीम ने वहां छापेमारी की तो वह नहीं मिला। कुछ संदिग्ध लोगों से पूछताछ में रिश्तेदारों के घर में छिपने का सुराग मिला, जिसके बाद वहां भी दबिश दी गई।

मोबाइल फोन का नहीं कर रहा प्रयाेग चंद्रमा, लोकेशन नहीं ट्रेस हो रही

इस मामले में चंद्रमा से एसटीएफ को कई अहम सुराग मिलने की उम्मीद है। इसलिए एसटीएफ उसकी गिरफ्तारी के लिए पसीना बहा रही है। कहा जा रहा है कि शातिर चंद्रमा मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं कर रहा है, इससे उसकी लोकेशन नहीं ट्रेस हो रही है। फर्जीवाड़े में भदोही निवासी मायापति दुबे, प्रतापगढ़ के दुर्गेश पटेल समेत चार अन्य आरोपित अभी भी फरार  हैं।

Post a Comment

0 Comments