UPTET : यूपी टीईटी 2019 परीक्षा में अगर किया ये काम तो नहीं चेक होगी OMR शीट

UPTET : यूपी टीईटी 2019 परीक्षा में अगर किया ये काम तो नहीं चेक होगी OMR शीट

हिन्दुस्तान टीम,प्रयागराज । UPTET 2019: उत्तर प्रदेश में 22 दिसंबर को होने जा रही शिक्षक पात्रता परीक्षा ( यूपी टीईटी 2019 ) में सफेदा (करेक्टिव फ्लूड या व्हाइटनर) लगाया तो आंसर-शीट के रूप में मिली ओएमआर शीट नहीं जांची जाएगी। यानी व्हाइटनर लगाने की एक गलती अभ्यर्थी की पूरी मेहनत पर पानी फेर देगी। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी की ओर से जारी निर्देश पर लिखा है कि ओएमआर शीट पर अशुद्ध लिखने के बाद व्हाइटनर का इस्तेमाल कभी न करें। ऐसा होने पर ओएमआर शीट निरस्त की जाएगी। 

यही नहीं यदि कोई परीक्षार्थी सादी ओएमआर शीट जमा करता है तो कक्ष निरीक्षक उस पर अभ्यर्थी से क्रॉस कराएंगे। क्योंकि उसका मूल्यांकन नहीं होगा। उत्तर पत्रक (ओएमआर शीट) पर दिए स्थान पर पेन से हल किए गए प्रश्नों की संख्या शब्दों एवं अंकों में लिखना जरूरी है। प्रश्न पुस्तिका और उत्तर पत्रक की कार्बन कॉपी की एक कॉपी अभ्यर्थी परीक्षा के बाद अपने साथ ले जा सकेंगे। 

परीक्षा केंद्र में वॉशरूम के बाहर गार्ड अलग से तैनात होंगे। 

यूपी के एडेड हाईस्कूलों में भी शिक्षक भर्ती में टीईटी व भर्ती परीक्षा

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) में इस बार 16,34,249 से ज्यादा अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। एनआईसी से मिले आंकड़ों के मुताबिक प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 10,68,912 और उच्च प्राथमिक स्तर में 5,65,337 अभ्यर्थियों ने फार्म भरा है। 5,78,376 अभ्यर्थियों ने सिर्फ प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए आवेदन किया है जबकि 74,801 अभ्यर्थी उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी में शामिल होना चाहते हैं। 4,90,536 अभ्यर्थियों ने दोनों स्तर की परीक्षा के लिए फार्म भरा है। 

बीएड अभ्यर्थियों को प्राथमिक की अनुमति मिल जाने के कारण प्राथमिक स्तर की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की संख्या अधिक है। पहली पाली की परीक्षा 10 से 12 और दूसरी पाली की परीक्षा 02:30 से 05:30 बजे तक होगी। अभ्यर्थियों को एक घंटा पहले सेंटरों पर पहुंचना होगा।

Post a Comment

0 Comments