SCHOOL : टीचर और बच्चे फिट तो स्कूल को मिलेंगे तीन स्टार, फिट इंडिया स्कूल रेटिंग की दी गई जानकारी

SCHOOL : टीचर और बच्चे फिट तो स्कूल को मिलेंगे तीन स्टार, फिट इंडिया स्कूल रेटिंग की दी गई जानकारी



एनबीटी, लखनऊ : फिट इंडिया ने स्कूलों में स्टाफ और बच्चों की तंदरुस्ती को परखने के लिए फिट इंडिया स्कूल रेटिंग प्रणाली विकसित की है। इसके तहत स्कूलों को थ्री और फाइव स्टार की रेटिंग दी जाएगी। इसमें कोई भी स्कूल हिस्सा ले सकता है, जबकि सीबीएसई से मान्यता प्राप्त स्कूलों का हिस्सा लेना जरूरी है। खेल मंत्रालय की ओर से तैयार रूपरेखा में रेटिंग का आधार स्कूलों में बच्चों और शिक्षकों की फिटनेस और ऐक्टिवटी होगा। उत्तर प्रदेश शिक्षा विभाग और सीआईआई की ओर से इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में चल रही स्कूल समिट के दूसरे दिन गुरुवार को फिट इंडिया की मिशन डायरेक्टर एकता विश्नोई ने इस कार्यक्रम की जानकारी दी।

मिशन डायरेक्टर ने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत स्कूलों को 31 दिसंबर तक रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। रजिस्ट्रेशन के लिए तीन क्राइटेरिया बनाए गए हैं। इनमें एक फिट इंडिया फ्लैग होगा। इसमें स्कूल को एक पीरियड अनिवार्य रूप से खेल और फिजिकल ऐक्टिविटी के लिए देना होगा जबकि एक फिजिकल एजुकेशन टीचर का होना अनिवार्य होगा। रजिस्ट्रेशन करवाने पर स्कूल को फिट इंडिया फ्लैग मिल जाएगा।

इसके अलावा ऐसे स्कूल जिनके स्पोर्ट्स टीचर फिट हों और कम से कम दो फिजिकल एजुकेशन के टीचर हों। साथ ही एक घंटे की फिजिकल ऐक्टिविटी होती हो, उन्हें थ्री स्टार की कैटिगरी में रखा जाएगा। कैटिगरी में वे स्कूल भी शामिल होंगे, जिनके प्लेग्राउंड में दो या इससे अधिक खेल खेले जा सकते हों। वहीं, फाइव स्टार की कैटिगरी में वे स्कूल आएंगे, जो हर महीने इंट्रा स्कूल स्पोर्ट्स कॉम्पिटीशन करवाते हों। सभी टीचर्स फिजिकल एजुकेशन में ट्रेंड हों। स्कूलों में दो से अधिक स्पोर्ट्स कोच हों, एनसीईआरटी के फिजिकल एजुकेशन कोर्स को फॉलो कर रहे हों। इसके अलावा जो स्कूल बच्चों की फिटनेस का भी असेसमेंट करते हों, उन्हें भी फाइव स्टार मिलेगा।

ऐसे होगा रजिस्ट्रेशनः फिट इंडिया स्कूल की रेटिंग हासिल स्कूलों को www.fitindia.gov.in पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। रजिस्ट्रेशन के बाद स्कूल को ऑनलाइन सर्टिफिकेट दिया जाएगा। जो भी स्कूल अच्छा परफॉर्म करेंगे, उन्हें राज्य और केंद्र सरकार से सम्मानित करवाए जाने की भी योजना बन रही है।

बढ़ रहीं लाइफ स्टाइल संबंधी बीमारियांः एकता ने बताया कि डब्ल्यूएचओ के डेटा के अनुसार देश में 12 से 19 साल के लोग मोटापे का शिकार हो रहे हैं। देश की एक तिहाई आबादी को लाइफ स्टाइल संबंधी बीमारियों का खतरा है। ऐसा फिजिकल ऐक्टिविटी बंद होने के कारण हो रहा है। इनमें बच्चों की संख्या 35 करोड़ है। ऐसे में केंद्र के आह्वान पर फिट इंडिया मूवमेंट शुरू किया गया है।

Post a Comment

0 Comments