UPPSS, CM : उ0प्र0वेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों के छात्रों व बेसिक शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण के सम्बन्ध में माननीय मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन।

UPPSS, CM : उ0प्र0वेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों के छात्रों व बेसिक शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण के सम्बन्ध में माननीय मुख्यमंत्री को प्रेषित ज्ञापन।

पत्रांक : ..590..
दिनांक : 21-11-2019

सेवा में,

माननीय मुख्यमंत्री जी
उत्तर प्रदेश सरकार
लखनऊ।

विषय : उ0प्र0वेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों के छात्रों व बेसिक शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण के सम्बन्ध में ज्ञापन।

आदरणीय महोदय,

आपको सादर अवगत कराना है कि उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक निरन्तर उत्तर प्रदेश की बेसिक शिक्षा को नित नई ऊँचाईयों तक ले जाने के लिए प्रयासरत हैं। वर्तमान परिस्थितियों में शिक्षक लगातार स्वयं के प्रयासों एवं सामुदायिक सहयोग से विद्यालयों की तस्वीर बदलने का कार्य कर रहे हैं। संसाधनों के अभाव के बावजूद हजारों शिक्षकों द्वारा अपने विद्यालयों को अत्यन्त ही सुन्दर व आकर्षक बनाया जा चुका है। पूरे प्रदेश में शिक्षकों द्वारा अपने विद्यालयों को आदर्श एवं आकर्षक बनाये जाने की प्रतिस्पर्धा चल रही है। प्रदेश सरकार द्वारा समय-समय पर जो भी उत्तरदायित्व दिए जाते हैं। उनका निर्वहन करने में शिक्षक प्राण-पण से लगे हैं, परन्तु उसके उपरान्त भी निरन्तर प्रदेश भर के वेसिक शिक्षकों का उत्पीडन किया जा रहा है तथा शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण के प्रति विभागीय अधिकारियों की संवदेनशून्यता बनी हई है।

बेसिक शिक्षा व शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण हेत उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक
शिक्षक संघ द्वारा अनेक ज्ञापन हर स्तर पर प्रेषित किये जा चुके हैं, परन्तु कोई भी कार्यवाही न होने के कारण प्रदेशभर के शिक्षक उoप्रoसरकार का ध्यानाकर्षण कराने एवं अपनी समस्याओं के निराकरण हेतु 05 सितम्बर 2019 से निरन्तर आन्दोलनरत हैं। प्रदेश के शिक्षकों द्वारा 05 सितम्बर 2019 को प्रत्येक जनपद मुख्यालय पर शिक्षक सम्मान बचाओ दिवस मनाकर तथा 11 सितम्बर 2019 से 13 सितम्बर 2019 तक जनपद मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन करते हए अपनी समस्याओं के निराकरण हेतु जिलाधिकारी के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री जी को ज्ञापन प्रेषित किये जा चुके हैं परन्तु दुर्भाग्यपूर्ण है कि अभी तक शिक्षकों की समस्याओं का निराकरण नही किया गया जिससे आहत होकर प्रदेश भर के लाखों शिक्षक आज दिनांक 21 नवम्बर, 2019 को राजधानी लखनऊ के इको गार्डेन में एकत्र होकर अपनी मांगों के समर्थन में धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। 

अतः आपसे अनुरोध है कि बेसिक शिक्षा व बेसिक शिक्षकों की निम्नलिखित समस्याओं का निराकरण कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने की कृपा करें।

*___मांगें निम्नवत हैं:-*

1- उत्तर प्रदेश में 01 अप्रैल 2005 से पूर्व लागू पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल की जाये।
2- उ0प्र0बेसिक शिक्षा परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में न्यूनतम 05 सहायक अध्यापक तथा 01 प्रधानाध्यापक एवं प्रत्येक उच्च प्राथमिक विद्यालय में न्यूनतम 03 सहायक अध्यापक व 01प्रधानाध्यापक की संख्या के आधार पर शीघ्र ही शिक्षकों की नियुक्ति की जाये।
3- विद्यालयों में मूलभूत सुविधाओं यथा फर्नीचर, विद्युत, पंखे, चाहरदीवारी, शुद्ध पेयजल आदि की सुविधा उपलब्ध करायी जाये।
4- उ0प्र0बेसिक शिक्षा परिषदीय प्रत्येक विद्यालय में लिपिक एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नियुक्ति की जाये।
5- प्रदेश भर के 01 लाख 58 हजार 914 बेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों में से 01 लाख 27 हजार विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के पद समाप्त कर दिये गये हैं जिससे परिषदीय शिक्षकों की पदोन्नति के अवसर समाप्त हो गये हैं। अतः प्रत्येक विद्यालय में
प्रधानाध्यापक का पद बहाल किया जाये।
6- उoप्रoबेसिक शिक्षा परिषद के अध्यापक भी अन्य विभागों की भॉति उ०प्र०सरकार के नियंत्रणाधीन हैं तथा अन्य विभागों की भॉति उoप्रoशासन के आदेश शिक्षकों पर भी लागू होते हैं। उ०प्र०सरकार के किसी भी विभाग में "प्रेरणा एप' प्रणाली के माध्यम से कर्मचारियों व अधिकारियों की उपस्थिति की व्यवस्था नहीं है जबकि यह प्रणाली परिषदीय शिक्षकों पर लागू की जा रही है जोकि सरासर अनुचित है। अतः प्रेरणा एप प्रणाली को परिषदीय विद्यालयों में लागू करने पर तत्काल रोक लगायी जाये।
7- एक ही परिसर में स्थित एक से अधिक प्राथमिक अथवा उच्च प्राथमिक विद्यालयों के संविलियन पर रोक लगायी जाये।
8- प्रदेश के दूरदराज एवं ऐस्प्रेशनल जनपदों सहित सभी जनपदों में कार्यरत शिक्षकों के उनके गृह जनपद में अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण शीघ किये जायें।
9- प्रदेश के शिक्षकों की 17140 व 18150 न्यूनतम वेतन की विसंगति दूर की जाये।
10- प्रदेश के शिक्षकों को राज्य कर्मचारियों की भॉति ए०सी०पी० व कैशलेस चिकित्सा सुविधा का लाभ दिया जाये।
11- प्रदेश के परिषदीय विद्यालयों में ग्रीष्मावकाश के स्थान पर शिक्षकों को 40 दिन का उपार्जित अवकाश एवं प्रत्येक माह के द्वितीय शनिवार का अवकाश प्रदान किया जाये।
12. प्रत्येक विद्यालय पर शिक्षकों को उनके वेतनक्रम के आधार पर आवासीय सुविधा
उपलब्ध करायी जाये।
13- उ०प्र०वेसिक शिक्षा परिषदीय विद्यालयों में बेसिक शिक्षा विभाग तथा प्रशासनिक
अधिकारियों के अलावा अन्य किसी विभाग के कर्मचारी या अधिकारी के निरीक्षण पर
रोक लगायी जाये।
14- प्रदेश भर के शिक्षकों को मिलने वाले परिवार नियोजन प्रोत्साहन भत्ते को बहाल किया जाये।
15. परिषदीय शिक्षकों के सामुहिक बीमा की बीमित धनराशि रू0 10 लाख करते हुए इसे बहाल किया जाये।
16. सेवाकाल में मृत शिक्षकों के आश्रितों को पूर्व की भॉति शिक्षक के पद पर नियुक्ति दी जाये।

सादर!

भवदीय

*डा.दिनेश चन्द्र शर्मा*
     (अध्यक्ष)
  *संजय सिंह*
     (महामंत्री)

Post a Comment

1 Comments

  1. thanks for giving us such vauable information
    https://sarkariflix.com/

    ReplyDelete