TEACHER, BRC : जून में भी प्रधानाध्यापकों-शिक्षकों को करना पड़ेगा काम, रोस्टरवार लगेगी ड्यूटी

TEACHER, BRC : जून में भी प्रधानाध्यापकों-शिक्षकों को करना पड़ेगा काम, रोस्टरवार लगेगी ड्यूटी


विशेष संवाददाता-राज्य मुख्याल यजून में विभाग के जरूरी काम पूरा करने के लिए इस बार सरकारी प्राइमरी स्कूलों के प्रधानाध्यापकों-शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि प्रधानाध्यापक समेत शिक्षकों को मिड डे मील की धनराशि ट्रांसफर करने, यू-डायस डाटा भरने, मानव संपदा पोर्टल का ब्यौरा दुरुस्त करने समेत ई पाठशाला की मॉनिटरिंग करनी होगी। ब्लॉक स्तर पर प्रधानाध्यापक और शिक्षकों का रोस्टर तैयार होना है। 5-5 प्रधानाध्यापकों को सुबह व शाम की पाली में उपस्थित होकर ये काम करवाने हैं। किसी भी समय में दो-तीन समूह उपस्थित न होंगे। 

मिड डे मील बंटवाने के लिए बच्चों और उनके अभिभावकों के नाम, अभिभावक का बैंक खाता संख्या, बैंक का नाम, आईएफएससी कोड और मोबाइल नंबर जुटाने हैं।एमडीएम का खाद्यान्न कोटेदार के माध्यम से और परिवर्तन लागत बैंक खाते में भेजी जानी है। इस ब्यौरे को प्रेरणा पोर्टल पर अपलोड करना है। वहीं यू डायस डाटा की गलतियों को सही करने और मानव संपदा पोर्टल में शिक्षकों के ब्यौरे को चेक करने का काम भी जून में किया जाना है। 

मानव संपदा पोर्टल पर उपलब्ध शिक्षकों के ब्यौरे को अभी लगभग एक लाख शिक्षकों ने ही चेक किया है जबकि विभाग में 5 लाख से ज्यादा शिक्षक हैं। इस ब्यौरे को 15 जून तक चेक करके लॉक किया जाना है। ई पाठशाला के तहत चल रही व्हाट्सएप कक्षाओं की मॉनिटरिंग के साथ ज्यादा से ज्यादा शिक्षकों को इससे जोड़ने की मुहिम भी सुनश्चित की जाएगी और जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं है, उन्हें दूरदर्शन और आकाशवाणी से कनेक्ट किया जाएगा।

गर्मी की छुट्टियों में काम का हो रहा है विरोधहालांकि शिक्षक पहले ही जून में काम करने का विरोध कर रहे हैं क्योंकि शिक्षकों को गर्मी की छुट्टियां 21 मई से 30 जून तक अनुमन्य हैं। उन्हें किसी भी किस्म का उपार्जित अवकाश नहीं मिलता है। इस संबंध में शिक्षक संघों ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

Post a Comment

0 Comments