SHIKSHAK BHARTI, RESULT : 68500 भर्ती में 600 अभ्यर्थियों के पुनर्मूल्यांकन का रिजल्ट जल्द

SHIKSHAK BHARTI, RESULT : 68500 भर्ती में 600 अभ्यर्थियों के पुनर्मूल्यांकन का रिजल्ट जल्द


■  68500 शिक्षक भर्ती

● 15 सितंबर तक परिणाम घोषित कर सकता है परीक्षा नियामक प्राधिकारी

● कोर्ट ने 22 अक्तूबर 2019 को दोबारा कॉपी जांचने का दिया था आदेश

● तीन महीने की बजाय 10 महीने में घोषित नहीं हो सका परिणाम

● पूर्व में दो बार जांची जा चुकी है लिखित परीक्षा की कॉपियां



बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापक भर्ती के लिए आयोजित लिखित परीक्षा के पुनर्मूल्यांकन का परिणाम 15 सितंबर तक जारी होने की उम्मीद है। हाईकोर्ट के आदेश पर परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय लगभग 600 कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन का रिजल्ट बना रहा है जिसे एक सप्ताह में घोषित करने की तैयारी है।


अगस्त 2018 में 68500 की परीक्षा का परिणाम घोषित होने के 20 दिन में ही बड़े पैमाने पर गड़बड़ी का खुलासा हो गया था। कि फेल अभ्यर्थियों को पास और पास को फेल कर दिया गया था। आप यह खबर प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं। इसके बाद परिणाम को लेकर हाईकोर्ट में सैकड़ों याचिकाएं हुई। कॉपियों का दोबारा मूल्यांकन राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) में हुआ तो 4733 अभ्यर्थी दोबारा पास हो गए।


लेकिन इस परिणाम से भी अभ्यर्थी संतुष्ट नहीं थे। इन अभ्यर्थियों ने फिर से याचिकाएं की जिस पर हाईकोर्ट ने 22 अक्तूबर 2019 को कापियों के पुनर्मूल्यांकन और तीन महीने में रिजल्ट घोषित करते हुए अभ्यर्थियों को नियुक्ति देने का आदेश दिया। लेकिन लगभग 10 महीने बीतने के बावजूद परिणाम घोषित नहीं हो सका है। सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी का कहना है कि पुनर्मूल्यांकन का रिजल्ट जल्द घोषित करेंगे।


गौरतलब है कि 68500 भर्ती में 46352 अभ्यर्थियों का चयन हुआ था। 5 सितंबर 2018 को शिक्षक दिवस के अवसर पर अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र मिलना शुरू हुए थे। हालांकि गलत मूल्यांकन से पीड़ित सैकड़ों अभ्यर्थी दोसाल से भटक रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments