प्रयागराज : डीआईओएस की अनुमति के बाद भी प्रबंधन स्कूल खोलने पर असमंजस में

प्रयागराज : डीआईओएस की अनुमति के बाद भी प्रबंधन स्कूल खोलने पर असमंजस में

प्रयागराज। जिला विद्यालय निरीक्षक की ओर से जनपद के यूपी बोर्ड, सीबीएसई, आईसीएसई, संस्कृत बोर्ड एवं मदरसा बोर्ड के विद्यालयों को आंशिक रूप से खोलने के निर्देश के बाद भी स्कूल प्रबंधन असमंजस में है।शहर के सीबीएसई से जुड़े स्कूलों में महर्षि पतंजलि विद्या मंदिर, पतंजलि ऋषिकुल, श्री महाप्रभु पब्लिक स्कूल, बीबीएस इंटरनेशनल, गंगागुरुकुलम एवं आईसीएसई से जुड़े सेंट जोसफ कॉलेज, यूपी बोर्ड से जुड़े ज्वाला देवी सरस्वती विद्या मंदिर, बीबीएस इंटर कॉलेज सहित दूसरे स्कूलों के प्रबंधन की ओर से आंशिक रूप से स्कूल खोलने के फैसले पर असमंजस में हैं। स्कूल प्रबंधन सीधे स्कूल में बच्चों को बुलाने के नाम से बच रहे हैं। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि अभिभावकों की राय लेने के बाद बच्चों को बुलाने पर निर्णय किया जाएगा।बीबीएस इंटर कॉलेज, बीबीएस इंटरनेशनल के प्रबंधक रंजीत सिंह का कहना है कि कोरोना काल में उनका विद्यालय आंशिक रूप से खुला है। शिक्षकों को जरूरत के अनुसार बुलाकर ऑनलाइन क्लास के दौरान हुई पढ़ाई का मूल्यांकन किया जा रहा है। बच्चे अपनी सुविधानुसार स्कूल में आकर कॉपी चेक करवा सकते हैं। सेंट जोसफ कॉलेज के प्रधानाचार्य फादर थामस कुमार का कहना है कि दसवीं और बारहवीं के छात्रों के अभिभावकों को 28 सितंबर से बच्चों एवं अभिभावकों को अलग-अलग बुलाकर उनकी राय जानी जाएगी। फिलहाल अभी ऑनलाइन क्लास ही चलेगी।बच्चों को स्कूल बुलाकर अध्यापक उनकी समस्या का बारी-बारी निवारण करेंगे। अभी कक्षाएं चलाना संभव नहीं है। 
गंगागुरुकुलम की प्रधानाचार्या अल्पना डे एवं पतंजलि ऋषिकुल के प्रधानाचार्य नित्यानंद सिंह का कहना है कि पहले अभिभवकों की राय जानी जाएगी, उसके बाद आंशिक रूप से स्कूल खोलने पर फैसला होगा। श्रीमहाप्रभु पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या रविंदर बिरदी का कहना है कि स्कूल में इस समय कंपार्टमेंट परीक्षाएं चल रही हैं, ऐसे में स्कूल खोलना संभव नहीं। अभिभावक जैसी राय देंगे, उसी के अनुसार निर्णय लिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments