प्रतापगढ़ : राजकीय माध्यमिक स्कूलों में मानदेय पर रखे जाएंगे शिक्षक

प्रतापगढ़ : राजकीय माध्यमिक स्कूलों में मानदेय पर रखे जाएंगे शिक्षक

प्रतिनियुक्ति पर आए परिषदीय विद्यालयों के अध्यापकों को उनके द्वारा प्राप्त समान वेतन दिया जाएगा

प्रतापगढ़,जेएनएन। जिले के राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में एलटी ग्रेड के रिक्त पदों पर मानदेय के आधार पर प्रतिनियुक्ति के शिक्षक रखे जाएंगे। इसके लिए ऐसे शिक्षक पात्र होंगे जो परिषदीय स्कूलों में विशिष्ट बीटीसी की योग्यता रखते होंगे। इसके साथ ही माध्यमिक विद्यालयों के अवकाश प्राप्त शिक्षक भी पात्र होंगे।

आवेदन डीआइओएस कार्यालय से दिए जाएंगे

जिले में संचालित राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में अधीनस्थ शिक्षा (प्रशिक्षित स्नातक श्रेणी) के शिक्षकों (एलटीग्रेड) के रिक्त पदों पर मानदेय के आधार पर शिक्षकों की नियुक्ति के लिए डीआइओएस द्वारा आवेदन मांगे गए हैं। आवेदन डीआइओएस कार्यालय से दिए जाएंगे। विशिष्ट बीटीसी के माध्यम से चयनित एवं कार्यरत शिक्षक-शिक्षिकाओं के अलावा बेसिक शिक्षा परिषद के अधीन कार्यरत अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं, जो राजकीय माध्यमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक, प्रवक्ता पद की शैक्षिक अर्हता रखते हों पात्र होंगे।

चयन के लिए साक्षात्कार लिया जाएगा

ऐसे अभ्यर्थियों के आवेदन पत्र जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा अग्रसारित किया जाएगा। शिक्षकों का चयन प्रतिनियुक्ति के आधार पर उत्तरप्रदेश अधीनस्थ शिक्षा (प्रशिक्षित स्नातक श्रेणी) सेवा नियमावली के अंतर्गत किया जाएगा। चयन के लिए साक्षात्कार लिया जाएगा, और सम्यक विचारोपरांत समस्त पहलुओं पर विचार कर चयन किया जाएगा। राजकीय एवं अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों से सेवानिवृत्त सहायक अध्यापक भी अपने विषय के अनुसार आवेदन कर सकेंगे। आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर निर्धारित की गई है।

*प्रतिनियुक्ति अवधि समाप्त होने के बाद मूल विभाग वापस किए जाएंगे*

डीआइओएस सर्वदा नंद ने बताया कि राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में नियुक्ति के लिए आवेदन पत्र पंजीकृत एवं सीधे डीआइओएस कार्यालय में जमा किए जा सकेंगे। प्रतिनियुक्ति अवधि समाप्त होने के बाद संबंधित शिक्षक,शिक्षिका को मूल विभाग (बेसिक शिक्षा विभाग) में वापस कर दिया जाएगा तथा उनकी तैनाती के संबंध में बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा अपने स्तर से निर्णय लिया जाएगा। प्रतिनियुक्ति पर आए परिषदीय विद्यालयों के अध्यापकों को उनके द्वारा प्राप्त समान वेतन दिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments