लखनऊ : कॅरिअर काउंसलिंग से नौकरी तक का रास्ता दिखागा यू-राइज - योगी

लखनऊ : कॅरिअर काउंसलिंग से नौकरी तक का रास्ता दिखागा यू-राइज - योगी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ शिक्षा के क्षेत्र में समानता से ही समरस समाज का सपना साकार होगा। लिहाजा भविष्य की जरूरतों के मद्देनजर शिक्षण संस्थानों में शिक्षा के सभी चरणों में सहज एकीकरण और समन्वय होना चाहिए। इससे विद्यार्थियों को उनके सीखने के क्षमता के अनुसार विकल्प चुनने के अवसर मिलेंगे। तभी वे अपनी प्रतिभा और रुचि के अनुसार सफलता हासिल कर सकेंगे। इसी उद्देश्य से यू-राइज यानी यूनिफाइड री-इमेजिंड इनोवेशन फॉर स्टूडेंट इम्पावरमेंट पोर्टल तैयार किया गया है, जो युवाओं को कॅरिअर काउंसलिंग से नौकरी तक का रास्ता दिखाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये बातें बृहस्पतिवार को कही। वह युवाओं के सशक्तीकरण के लिए एकीकृत पुनर्जागरण नवाचार यू-राइज पोर्टल का लोकार्पण करने के बाद लोकभवन में युवकों को संबोधित कर रहे थे।डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विवि (एकेटीयू) और प्राविधिक शिक्षा विभाग ने संयुक्त रूप से यू-राइज पोर्टल को इंजीनियरिंग व व्यावसायिक शिक्षा संस्थानों के विद्यार्थियों के लिए तैयार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यू-राइज पोर्टल पर विद्यार्थी जीवन के संपूर्ण चक्र जैसे संस्थान में प्रवेश, शुल्क, शिक्षण, प्रशिक्षण, प्रयोग, परीक्षा से लेकर रोजगार पाने तक पूरा ब्यौरा दर्ज होगा। कोई भी सेवायोजक इस पोर्टल से विद्यार्थी के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सकता है। यह पोर्टल व्यावसायिक व तकनीकी शिक्षा प्राप्त कर रहे 20 लाख विद्यार्थियों के लिए काफी मददगार साबित होगा। कार्यक्रम में विभिन्न तकनीकी संस्थानों के निदेशक, शिक्षक और विद्यार्थी भी डिजिटल माध्यम से मौजूद रहे। इस मौके पर एकेटीयू के कुलपति एके पाठक ने सीएम को यू-राइज पोर्टल के बारे में जानकारी दी। 
 
*तकनीक के जरिये कई काम हुए आसान*

मुख्यमंत्री ने कहा कि फर्जी शिक्षकों के षड्यंत्र का पर्दाफाश तकनीक की मदद से हुआ है। कोरोना काल में तकनीक की मदद से ही लोगों को अधिकाधिक सुविधाएं पहुंचाने में सफलता मिली है। शिक्षा व्यवस्था का ऑनलाइन संचालन भी तकनीक की मदद से संभव हो सका है।

*इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए दिए 100 करोड़ रुपये*

मुख्यमंत्री ने दीनदयाल उपाध्याय गुणवत्ता सुधार कार्यक्रम के दूसरे चरण में 100 करोड़ भी जारी किए। इससे छात्रावासों का निर्माण, क्लास रूम, लैब, फर्नीचर, पुस्तकालय का विस्तार, ऑनलाइन क्लासेज, स्मार्ट क्लास रूम, वर्चुअल लैब आदि की व्यवस्था की जाएगी।
 
*यू-राइज पोर्टल की खास बातें*

-पोर्टल पर पंजीकरण के बाद विद्यार्थी आजीवन वहां उपलब्ध कंटेंट व सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे।
-पोर्टल पर उद्योग, प्रशिक्षकों और फैकल्टी का एक वृहद नेटवर्क तैयार किया गया है।
-पोर्टल पर विद्यार्थियों के ट्रैक रिकॉर्ड का डिजिटल संग्रह करने प्रक्रिया लगातार चलती रहेगी।
-पढ़ाई पूरी करने के बाद भी विद्यार्थी पोर्टल से रोजगार संबंधी सूचनाएं पाते रहेंगे।

Post a Comment

0 Comments