BED, EXAMINATION : विरोध के बीच बीएड प्रवेश परीक्षा आज, तैयारी पूरी, आधे घंटे विलंब से पहुंचने पर भी परीक्षा में शामिल करने निर्देश

BED, EXAMINATION : विरोध के बीच बीएड प्रवेश परीक्षा आज, तैयारी पूरी, आधे घंटे विलंब से पहुंचने पर भी परीक्षा में शामिल करने निर्देश

 कैमरे की नजर में आज बीएड प्रवेश परीक्षा, परीक्षार्थी रखें ये बातें ध्यान

● परीक्षा शुरू होने के एक घंटे पहले पहुंचना है। 
● सैनिटाइजर लेकर जाना व मास्क पहनना अनिवार्य है। 
● अपना वास्तविक पहचान पत्र जरूर लेकर जाएं।


संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड-2020 का आयोजन रविवार को किया जाएगा। राजधानी समेत प्रदेश भर के 73 जिलों में बने कुल 1089 केन्द्रों पर 4.32 लाख अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। दो पालियों में सुबह नौ से 12 और दोपहर 2 से पांच बजे तक परीक्षा होगी। वहीं लखनऊ में 82 केन्द्र बनाए गए हैं, जहां करीब 31 हजार परीक्षार्थी पेपर देंगे। परीक्षा में नकल रोकने और व्यवस्था बनाने रखने के लिए एसटीएफ को लगाया गया है। परीक्षा की जिम्मेदारी लखनऊ विश्वविद्यालय के पास है। प्रवेश परीक्षा राज्य समन्वयक प्रो. अमिता बाजपेई ने बताया कि केन्द्रों पर परीक्षार्थियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया है। प्रत्येक केन्द्र पर सैनिटाइजेशन कराया गया है।

लखनऊ विश्वविद्यालय की ओर से रविवार को होने वाली राज्य संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा में  प्रदेश भर में इस परीक्षा में कुल चार लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे। देखा जाए तो कोरोना काल की यह सबसे बड़ी परीक्षा होगी। परीक्षा आयोजन समिति ने कोरोना संक्रमण के चलते परीक्षार्थियों को आधे घंटे विलंब से पहुंचने पर भी परीक्षा में शामिल करने का निर्देश दिया है। जिससे कोई अभ्यर्थी परीक्षा से वंचित न होने पाए।


पहली पाली की परीक्षा नौ से बारह, दूसरी दो से पांच बजे
स्थानीय स्तर पर परीक्षा आयोजन की जिम्मेदारी प्रो. राजेंद्र सिंह (रज्जू) भय्या विश्वविद्यालय को दी गई है। विवि के रजिस्ट्रार शेषनाथ पांडेय ने बताया कि पहली पाली की परीक्षा प्रात: नौ से बारह बजे के बीच होगी। इसके लिए परीक्षार्थियों को केंद्र पर  8.30  बजे रिपोर्ट करना होगा। दूसरी पाली की परीक्षा दो से पांच बजे के बीच होगी।



रज्जू भैया विवि के रजिस्ट्रार ने बताया कि परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे बाद अर्थात 9.30 बजे तक केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रयागराज के 74 केंद्रों पर 25 हजार परीक्षार्थियों के अतिरिक्त मंडल के दूसरे जिलों प्रतापगढ़ के सात केंद्रों, कौशांबी तीन केंद्रों और फतेहपुर के दो केंद्रों पर कुल मिलाकर चार हजार परीक्षार्थी बीएड प्रवेश परीक्षा में शामिल होंगे। इस प्रकार पूरे मंडल में लगभग 29 हजार परीक्षार्थी परीक्षा के लिए पंजीकृत हैं।


कोरोना पॉजिटिव मिलने से गौरी पाठशाला गली सील, कैसे पहुंचेंगे परीक्षार्थी
शहर के व्यस्ततम इलाके में से एक कल्याणी देवी क्षेत्र में स्थित गौरी पाठशाला इंटर कॉलेज को भी बीएड प्रवेश परीक्षा का केंद्र बनाया गया है। परीक्षा केंद्र वाली गली में ही कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से इलाके को सील कर दिया गया है। अब समस्या यह हो गई है कि परीक्षार्थी केंद्र तक कैसे पहुंचेंगे। अधिकांश महिला शिक्षिकाओं के मन में डर बैठ गया है कि कहीं वह भी कोरोना संक्रमण की चपेट में ना आ जाएं। दो दिन पहले चौक क्षेत्र के केसर विद्यापीठ इंटर कॉलेज में भी एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिल चुका है। कई स्कूलों में तो शिक्षक परीक्षा ड्यूटी से किसी ने किसी बहाने नाम कटवाने की जुगत में लगे हैं। वहीं, प्रशासन परीक्षा से पहले और परीक्षा के बाद सैनिटाइजेशन करने की बात कह रहा है।

बीएड प्रवेश परीक्षा का विरोध जारी
प्रयागराज। कोरोना संक्रमण के बीच रविवार को बीएड प्रवेश परीक्षा कराने के विरोध में छात्रों का विरोध जारी रहा। इविवि छात्रसंघ भवन के सामने छात्रों ने प्रवेश पत्र जलाकर विरोध दर्ज कराया। इविवि में बिना परीक्षा प्रोन्नत किए जाने की मांग को लेकर छात्रों का क्रमिक अनशन जारी रहा। अनशन स्थल पर पहुंचकर छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष एवं एमएलसी रामवृक्ष यादव ने कहा कि स्वास्थ्य किसी भी युवा के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। आंदोलनकारियों ने चेतावनी दी कि छात्रों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ सरकार पर भारी पड़ेगा। विरोध करने वालों में राजेश शर्मा, राघवेन्द्र यादव, छात्रनेता अजय यादव सम्राट, शैलेश पासवान, अविनाश विद्यार्थी, रोहित सावन, मो. सलमान, नवनीत यादव, आयुष प्रीदर्शी, शक्ति रिजवान,सचिन पहलवान, जितेन्द्र धनराज, राहुल पटेल, कुंवर विकास, सुनील पटेल, विकास यादव, सलमान शामिल रहे।

संक्रमण के डर से परीक्षा छोड़ रहे अभ्यर्थी
कोरोना के डर से बीएड प्रवेश परीक्षा में शामिल होने से परीक्षार्थी बच रहे हैं। आशंका जताई जा रही है कि बड़ी संख्या में अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल नहीं होंगे। परीक्षार्थियों का कहना है कि बस एवं ट्रेन से यात्रा में भी संक्रमण का खतरा है। परीक्षार्थियों ने बताया कि प्रयागराज से बस्ती परीक्षा केंद्र बना दिया गया है, ऐसे में वहां जाकर ठहरने पर भी कोरोना संक्रमण का खतरा बना हुआ है। ऐसे में यह छात्र परीक्षा छोड़ने को ही अधिक सुरक्षित मान रहे हैं। बीएड प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले विनोद कुमार पांडेय, अतुल कुमार, अभिषेक मिश्र सहित सभी परीक्षार्थियों का कहना है कि कोरोना संक्रमण की चपेट में आए तो पूरा परिवार प्रभावित होगा। ऐसे में परीक्षा छोड़कर वह बीमारी को रोकेंगे, परीक्षा नहीं देंगे।


बीएड परीक्षार्थियों के लिए रोडवेज आज करेगा बसों का संचालन 
रविवार को प्रयागराज में आयोजित बीएड प्रवेश परीक्षा में आने वाले परीक्षार्थियों की सहूलियत के लिए रोडवेज द्वारा अतिरिक्त बसों का इंतजाम किया गया है। रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक टीकेएस बिसेन ने बताया कि रविवार को प्रतापगढ़, लखनऊ, सुल्तानपुर, जौनपुर, वाराणसी, मिर्जापुर, चित्रकूट आदि जिलों के लिए 60 अतिरिक्त बसें चलाई जाएंगी। इसके अलावा शहर में 40 सिटी बसों का भी संचालन होगा। शहर के विभिन्न रूट पर चलने वाली सिटी बसें रविवार को बस स्टेशन से होकर गुजरेंगी।

Post a Comment

0 Comments