UPPSS : UPPSS के प्रांतीय अध्यक्ष डा दिनेश चन्द्र शर्मा ने पत्र लिखकर की मांग, सचिव उ0प्र0 शासन के आदेश संख्या-1686/2020/सीएक्स 3 गृह (गोपन) अनुभाग-3 दिनांक 30 जून 2020 के अनुपालन के सम्बन्ध में।

UPPSS : UPPSS के प्रांतीय अध्यक्ष डा दिनेश चन्द्र शर्मा ने पत्र लिखकर की मांग, सचिव उ0प्र0 शासन के आदेश संख्या-1686/2020/सीएक्स 3 गृह (गोपन) अनुभाग-3 दिनांक 30 जून 2020 के अनुपालन के सम्बन्ध में।

पत्रांक : ..696.9.25
दिनांक : 01-07-2020

सेवा में,

अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा उ०प्र० शासन, लखनऊ।

विषय : मुख्य सचिव उ0प्र0 शासन के आदेश संख्या-1686/2020/सीएक्स 3 गृह (गोपन) अनुभाग-3 दिनांक 30 जून 2020 के अनुपालन के सम्बन्ध में।

आदरणीय महोदय,

विनम्र अनुरोध है कि उक्त आदेश एवं उसके साथ संलग्न गृह मंत्रालय भारत सरकार के आदेश संख्या-40-3/2020 डी0एम0-1(ए) दिनांक 29 जून 2020 में कोविड 19 के दौरान लॉक डाउन गतिविधियों को प्रारम्भ करने (अनलॉक-2) के सम्बन्ध में दिशा निर्देश निर्गत किये गये हैं। जिसके निम्नलिखित बिन्दुओं का संज्ञान लेने की कृपा करें। बिन्दु 2(2)0 समस्त स्कूल, कालेज, शैक्षिक/प्रशिक्षण/कोचिंग संस्थान इत्यादि 31 जुलाई 2020 तक बन्द रहेंगे। 

यद्यपि ऑनलाइन/दूरस्थ शिक्षा हेतु अनुमति पूर्व की भॉति जारी रहेगी। केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के प्रशिक्षण संस्थान 15 जुलाई 2020 से कार्य करना आरम्भ करेंगे, जिनके लिए कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DOPT) द्वारा standard operating procedure (SOP) पृथक से जारी की जायेगी।

 बिन्दु 80) 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति सह-रूग्णता (co-morbidity) अर्थात एक से अधिक अन्य बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती स्त्रियां और 10 वर्ष की आयु से नीचे के बच्चे घरों के अन्दर रहेंगे, सिवाय ऐसी परिस्थितियों के जिनमें स्वास्थ्य सम्बन्धी आवश्यकताओं हेतु बाहर निकलना जरूरी हो। उपरोक्त से स्पष्ट है कि प्रदेश के समस्त विद्यालय 31 जुलाई 2020 तक बन्द रहेंगे। 

परन्तु प्रदेश के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों द्वारा 30 जून 2020 को पत्र निर्गत करके विद्यालय खोल कर शिक्षक, शिक्षा मित्र एवं अनुदेशकों को विद्यालय में उपस्थित रहने के निर्देश जारी किये गये हैं। 
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों द्वारा अपने आदेश में आपके आदेश दिनांक 29 मई 2020, 26 जून 2020 तथा शिक्षा निदेशक बेसिक उ0प्र0 के पत्र दिनांक 22 जून 2020 का उल्लेख किया गया है। मुख्य सचिव उ0प्र0 शासन द्वारा अनलॉक-2 के सम्बन्ध में दिनांक 30 जून 2020 को जारी दिशा-निर्देशों को दृष्टिगत रखते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों द्वारा विद्यालय खुलवाना मुख्य सचिव महोदय के दिशा-निर्देशों के विपरीत है। 
उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षकों को कोविड-19 महामारी से बचाव में संलग्न कर्मचारियों की भांति जीवन बीमा अथवा सुरक्षा उपकरण तक नही दिये गये हैं उसके बावजूद भी प्रदेश के बेसिक शिक्षक राशन कार्ड सत्यापन, राशन वितरण, पुष्टाहार वितरण, हॉट स्पॉट या क्वारनटाईन केन्द्र के पर्यवेक्षण, विशेष ट्रेनों से आने वाले श्रमिकों की रेलवे स्टेशनों पर आगवानी तथा उन्हें घर तक पहुँचाने जैसे कार्य में संलग्न हैं।

 प्रदेश में तमाम शिक्षक या उनके परिजन खुद कोविड-19 से संक्रमित हैं तथा कतिपय शिक्षक कन्टेन्मेन्ट जोन में रह रहे हैं। गर्भवती शिक्षकों एवं मधुमेह, हृदयरोग, कैंसर आदि बीमारियों से प्रभावित शिक्षक भी हैं। जिनके लिए कोई व्यवस्था नहीं दी गयी है।

 अतः आपसे विनम्र अनुरोध है कि भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार (मुख्य सचिव उ0प्र0 शासन) के दिशा निर्देश क्रमशः दिनांक 29 जून 2020 तथा 30 जून 2020 का अनुपालन सुनिश्चित करने हेतु जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित करने की कृपा करें। आदर सहित!

भवदीय
(डॉ. दिनेश चन्द्र शर्मा)
 अध्यक्ष

(संजय सिंह) 
 महामंत्री

प्रतिलिपि निम्नलिखित को सूचनार्थ एवं आवश्यक कार्यवाही हेतु सादर प्रेषित।
1. महानिदेशक स्कूली शिक्षा उत्तर प्रदेश। 2. शिक्षा निदेशक बेसिक उ०प्र०
3. सचिव, बेसिक शिक्षा परिषद उ०प्र० । 
4. समस्त जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी उत्तर प्रदेश।
5. समस्त जिलाध्यक्ष व जिला मंत्री उ0प्र0 प्राथमिक शिक्षक संघ को इस आशय से कि इस पत्र की प्रति संबंधित जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को प्राप्त कराना सुनिश्चित करें। 
6. कार्यालय प्रति।

(डा. दिनेश चन्द्र शर्मा) अध्यक्ष

(संजय सिंह) महामंत्री

Post a Comment

0 Comments