SHIKSHAK BHARTI, STF : शिक्षक भर्ती में एसटीएफ ने शुरू की मामले की जांच, कस्टडी रिमांड पर की जाएगी आरोपियों से पूछताछ

SHIKSHAK BHARTI, STF : शिक्षक भर्ती में एसटीएफ ने शुरू की मामले की जांच, कस्टडी रिमांड पर की जाएगी आरोपियों से पूछताछ

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, प्रयागराज 69 हजार शिक्षक भर्ती मामले की जांच एसटीएफ ने शुरू कर दी। बुधवार रात एसटीएफ प्रयागराज कार्यालय में जांच के आदेश आ गए। मुख्य सरगना डॉ. केएल पटेल के खिलाफ एसटीएफ पहले भी जांच कर चुकी है। शिक्षक भर्ती मामले में गड़बड़ी की जांच के लिए शासन एसटीएफ को जांच सौंपी है। बुधवार रात एसटीएफ कार्यालय में आदेश आ गया।एएसपी एसटीएफ नीरज पांडे ने बताया कि आदेश आने के बाद जांच शुरू कर दी गई है। संबंधित थाना और जांच टीम से कागजात मंगाए जा रहे हैं। इस मामले में अभी तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। उनसे फिर पूछताछ की जाएगी। 69000 शिक्षक भर्ती मामले में एसटीएफ पर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने इस मामले में पहले ही मुख्य सरगना डॉ. केएल पटेल समेत 11 लोगों को जेल भेज दिया है। एसटीएफ के सूत्रों ने बताया कि जेल भेजे गए आरोपियों से पूछताछ की जाएगी। अदालत से अनुमति लेकर आरोपियों को कस्टडी रिमांड पर लिया जाएगा। पुलिस से पूछताछ में जो भी खुलासे हुए हैं या आरोपियों ने जो भी बयान दिए हैं। सब का मिलान कराया जाएगा।एसटीएफ ने ऐसे अभ्यर्थियों की सूची बनाई है जो टॉपर्स की लिस्ट में या जिन्होंने बहुत अधिक नंबर पाए हैं। मिलान किया जा रहा है कि ऐसे अभ्यर्थी क्या डॉक्टर केएल पटेल या उसके किसी सहयोगी से संपर्क में तो नहीं थे। नैनी स्थित दो सेंटर्स और शहर के एक सेंटर के पास होने वाले छात्रों के बारे में जानकारी इकट्ठा की जा रही है। उनके मोबाइल नंबर और कॉल डिटेल्स भी निकाले जा रहे हैं। आरोपी की कॉल डिटेल्स पहली पुलिस निकाल चुकी है। अब अधिक नंबर पाए हुए अभ्यर्थियों और गिरोह के सदस्यों के मोबाइल नंबर का मिलान किया जाएगा। किसी से भी उनका संपर्क मिला तो उसे संदिग्ध माना जाएगा। 

Post a Comment

0 Comments