FAKE : अब असली संध्या द्विवेदी पहुंची बीएसए कार्यालय, चंदौली की संध्या के नाम पर तीन शिक्षिकाएं कर रहीं नौकरी

FAKE : अब असली संध्या द्विवेदी पहुंची बीएसए कार्यालय, चंदौली की संध्या के नाम पर तीन शिक्षिकाएं कर रहीं नौकरी

लखनऊ : कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में फर्जी ढंग से शिक्षक नियुक्ति का मामला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। चर्चा अनामिका शुक्ला प्रकरण की जांच चल ही रही है, इसके अलावा चंदौली की संध्या द्विवेदी का भी मामला सामने आया है। उनके नाम से तीन शिक्षक नौकरी कर रही हैं। जानकारी पर असली संध्या द्विवेदी बीएसए कार्यालय पहुंची। चंदौली की एक शिक्षिका संध्या द्विवेदी के दस्तावेज पर अलीगढ़, फर्रुखाबाद फीरोजाबाद में नौकरी का मामला प्रकाश में आया है। शिक्षिका का नाम, पता व पिता का नाम भी एक ही है। बलिया में तैनात शिक्षिका संध्या द्विवेदी को इसकी भनक 24 जून को लगी तो उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को पूरे मामले से अवगत कराया। चकिया स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में वीरशाहपुर (मीरजापुर) निवासिनी संध्या द्विवेदी की तैनाती वर्ष 2019 में हुई थी। बीएसए चंदौली भोलेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि अलीगढ़, फर्रुखाबाद व फीरोजाबाद का जो संध्या का प्रकरण आया है, उसमें अलग-अलग जन्मतिथि पर शिक्षिका काम कर रही थीं। संध्या को आशंका है कि कहीं दस्तावेज का दुरुपयोग तो नहीं हुआ है। इसके बाद संध्या से मूल अभिलेख और आवेदन ले लिया गया है। तीनों जिलों के बीएसए को आख्या भेज दी गई है। अलीगढ़ के बिजौली के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में अनामिका शुक्ला के नाम से नौकरी करने वाली कानपुर की बबलू यादव के फर्जीवाड़े की परतें खुलने लगी है।

Post a Comment

0 Comments