SHIKSHSK BHARTI : 69000 शिक्षक भर्ती में अभ्यर्थियों ने फॉर्म भरने में की चूक, अब मौका जाने का डर

SHIKSHSK BHARTI : 69000 शिक्षक भर्ती में अभ्यर्थियों ने फॉर्म भरने में की चूक, अब मौका जाने का डर

1590640331404839-0
69000 सहायक अध्यापक भर्ती में छोटी-मोटी चूक के कारण कई अभ्यर्थियों के हाथ से नौकरी फिसलने का खतरा पैदा हो गया है। कई अभ्यर्थी अपने फॉर्म में दिव्यांग या शिक्षामित्र की कैटेगरी ही नहीं लिख सके तो कोई किसी ने प्राप्तांक और पूर्णांक गलत भर दिया। 


एक अभ्यर्थी रजत शर्मा ने अपने फॉर्म में निवास प्रमाणपत्र के स्थान पर जाति प्रमाणपत्र जगा दिया जबकि एक अन्य अंजू शर्मा ने अपने निवास स्थान के कॉलम में उत्तर प्रदेश की जगह बाह्य प्रदेश भर दिया।

प्रयागराज के रोहित तिवारी ने प्राप्तांक में कम नंबर लिख दिया है। इसके कारण मेरिट में उनका नीचे हो रहा है लेकिन इसके बावजूद उन्हें संशोधन की अनुमति नहीं मिल रही। मोबाइल नंबर में संशोधन की अनुमति मिलने के बाद इन अभ्यर्थियों ने भी त्रुटि संशोधन की गुहार लगाई है। 

बुधवार को बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन देने का प्रयास किया लेकिन कोई सुनवाई नहीं है। इन्हें अब तक कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिले हैं।


सफल अभ्यर्थियों ने परिषद कार्यालय में फिर किया प्रदर्शन

प्रयागराज। परिषदीय विद्यालयों में 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में सफल बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों ने बुधवार को भी उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय का घेराव किया। अभ्यर्थियों का कहना है कि लिखित परीक्षा में पास होने के बाद भी उन्हें मानवीय त्रुटि के चलते काउंसलिंग में शामिल होने से वंचित होना पड़ेगा। 



कहा, मोबाइल नंबर में संशोधन की ही तरह उन्हें आवेदन में प्राप्तांक, पूर्णाक, जन्मतिथि, नाम की स्पेलिंग में संशोधन का मौका दिया जाए। इनका कहना है कि लॉकडाउन के चलते वह अपनी मांग प्रदेश के मुख्यमंत्री तक नहीं पहुंचा पा रहे हैं। मांग करने वालों में अमित सिंह, पूजा, अनिल कुमार सहित बड़ी संख्या में अभ्यर्थी शामिल रहे।

Post a Comment

0 Comments