SHIKSHAMITRA : 69000 सहायक अध्यापक भर्ती में भारांक के चलते परीक्षा में उत्तीर्ण शिक्षामित्र हरहाल में बनेंगे अध्यापक

SHIKSHAMITRA : 69000 सहायक अध्यापक भर्ती में भारांक के चलते परीक्षा में उत्तीर्ण शिक्षामित्र हरहाल में बनेंगे अध्यापक

आठ हजार से ज्यादा शिक्षामित्रों का सहायक शिक्षक बनना तय


प्रयागराज । 69000 शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में आठ हजार से ज्यादा शिक्षामित्रों ने पास होकर अपनी भर्ती लगभग सुनिश्चित कर ली है। अधिकतम 25 अंकों के भारांक (वेटेज ) के साथ शिक्षक भर्ती की मेरिट में ज्यादातर शिक्षामित्र अपनी जगह बनाने में सफल रहेंगे। शिक्षक भर्ती में 8018 शिक्षामित्रों ने की है। सफलता हासिल डीएड (स्पेशल इस परीक्षा में टीईटी पास 45357 स्पेशल बीटीसी शिक्षामित्र बैठे थे। शिक्षामित्रों को प्रतिवर्ष सेवा के ढाई अंक भारांक दिया जाएगा और अधिकतम 25 अंकों का भारांक तय किया गया है। दसवीं, बारहवीं, स्नातक व उर्दू बीटीसी बीएलएड प्रशिक्षण के 10-10 फीसदी अंक और 60 फीसदी अंक लिखित परीक्षा के जोड़ने के बाद शिक्षामित्रों को 25 अंक अलग से दिए जाएंगे। सभी शिक्षामित्र अधिकतम वेटेजयानी 25 अंक पाने की श्रेणी में आते हैं। शिक्षामित्रों की यह सफलता इसलिए बड़ी मानी जा रही है कि इनकी नियुक्तियां 2010 से पहले हुई हैं और ये बहुत समय से पढ़ाई से दूर हैं।

 प्रयागराज : परिषदीय स्कूलों में सहायक अध्यापक बनने के लिए हर प्रशिक्षण योग्यता के अभ्यर्थी पर संशय है, केवल परीक्षा पिछली भर्ती से 2.86 फीसदी कम रहा सफलता प्रतिशत परिषदीय स्कूलों की 68500 शिक्षक भर्ती की अपेक्षा 69000 भर्ती का उत्तीर्ण करने वाले शिक्षामित्र ही एस सफलता प्रतिशत 286 फीसदी कम हैं जिनका शिक्षक बनना तय है। इसे ऐसे भी कह सकते हैं कि SMS शिक्षामित्र चयनित होंगे, ऊहापोह शेष 61 हजार पदों को लेकर है। इसकी वजह शिक्षामित्रों का मिलन वाला भारांक है। 
एकेडमिक मारट और परीक्षा मिले अंकों का प्रतिशत निकालने के बाद जब यह अंक जाड़ दिए जाएंगे तो वह हर वर्ग के मेधावी को बराबर खड़े हो जाएंगे। 68500 भर्ती में जब सामान्य- है। पिछली बार रिजल्ट में 38.52 प्रतिशत अभ्यर्थी सफल हो पाए थे, जबकि इस बार 35.66 प्रतिशत अभ्यर्थी ही सफल हुए हैं। हालांकि दोनों भर्तियों की लिखित परीक्षा का पैटर्न और परीक्षा के लिए आवेदक और शामिल होने वालों के साथ ही सफल होने वालों की संख्या में जमीन-आसमान का अंतर है। का कटऑफ अंक 60 प्रतिशत तय ओबीसी का 45 और एससी-एसटी हुआ तो सफल होने वालों की तादाद का कट ऑफ अंक 40 प्रतिशत था, तब परीक्षा में सफल होने वाले शिक्षामित्रों की संख्या 7224 थी। 


जबकि 6900 भर्ती में सामान्य बढ़कर 8018 हो गई। ज्ञात हो कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर परीक्षा में सफल होने वाले सभी शिक्षामित्रों को 2.5 अंक प्रतिवर्ष के हिसाब से की 65 और अन्य आरक्षित वर्ग भारांक दिए जाने के आदेश हैं।

Post a Comment

0 Comments