SHIKSHAK BHARTI : 69000 शिक्षक भर्ती को लेकर सोशल मीडिया पर बहस शुरू, कटऑफ से लेकर कोर्ट केस को मांगा जा रहा चंदा

SHIKSHAK BHARTI : 69000 शिक्षक भर्ती को लेकर सोशल मीडिया पर बहस शुरू, कटऑफ से लेकर कोर्ट केस को मांगा जा रहा चंदा

राज्य मुख्यालय | विशेष संवाददाता 69000 शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा का रिजल्ट क्या आया, सोशल मीडिया पर गुणा भाग शुरू हो गया। किस रहा है कि अमुक भर्ती की लड़ाई इनके वर्ग में कितने अंक वाले चयनित होंगे? सहयोग से ही लड़ी गई। चंदे के लिए नंबर भी जारी किए जा रहे हैं। वहीं 60-65 फीसदी के प्रकार भी सुप्रीम कोर्ट लिए चंदा इकट्ठा कर निकला है। रहे हैं। लगभग 10 लाख का खर्चा बताया जा रहा है औरहाईकोर्ट के आदेश की सुप्रीम कोर्ट में रक्षा करने के लिए रहा है। 
69000 शिक्षक भर्ती
ओबीसी वालों का कटऑफ कहां तक जाएगा। वहां पर धड़े के नेता सक्रिय हो गए हैं। 85 से 89 नंबर लाने वाले में लड़ाई लड़ने के अभ्यर्थियों को लामबंद किया जा रहा है कि लिखित परीक्षा के विवादित प्रश्नों को लेकर हाईकोर्ट जाने के लिए चंदा  2000 प्रति याची चंदा इकट्ठा किया जाए। 


दूसरी तरफ, प्राथमिक शिक्षामित्र संघ सुप्रीम कोर्ट में 60-65 फीसदी कटऑफ के फैसले के खिलाफ विशेष अनुमति याचिका दायर कर चुका है। सोशल मीडिया पर न सिर्फ मैसेजों की बाढ़ आ गई बल्कि 69 हजार शिक्षक भर्ती के लिए अलग से ग्रुप भी बन गए हैं। मैसेज के साथ ही वकीलों के नंबर भी भेजे जा रहे हैं। पुरानी भर्तियों का हवाला भी दिया जा इन पर है आपत्ति 68,500 शिक्षक भर्ती में चयनित हो चुके वे शिक्षक जिन्हें अपनी पसंद का जिला नहीं मिला था वे भी इसमें चयनित हुए हैं। 


उनके खिलाफ अभ्यर्थी लामबंद हैं कि उन्हें एनओसी न दी जाए ताकि एक सीट जरूरतमंद युवा को मिल सके। वहीं विभाग से भी अनुरोध कर रहे हैं कि उनका जिला आवंटन पहले कर दे। बीटीसी 2015 के बैकपेपर देने वालों को भी बताया जा रहा है कि वे भर्ती में भाग लेने के पात्र नहीं है क्योंकि उनका रिजल्ट बाद में घोषित हुआ है ।

Post a Comment

0 Comments