SHIKSHAK BHARTI : 69000 भर्ती के आवेदकों की परेशानी बढ़ाएगा लॉकडाउन-4, आवेदन आज से, शिक्षक भर्ती ट्रेनें-बसें बंद, तीन से छह जून के बीच प्रस्तावित काउंसलिंग में कैसे होंगे शामिल?

SHIKSHAK BHARTI : 69000 भर्ती के आवेदकों की परेशानी बढ़ाएगा लॉकडाउन-4,  आवेदन आज से, शिक्षक भर्ती ट्रेनें-बसें बंद, तीन से छह जून के बीच प्रस्तावित काउंसलिंग में कैसे होंगे शामिल?

प्रयागराज । 18 May 2020
परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 69000 सहायक अध्यापक भर्ती के लिए सोमवार से शुरू हो रहे ऑनलाइन आवेदन में लॉकडाउन 4 से अभ्यर्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। सरकार ने आवेदन का टाइमटेबल जब जारी किया था तब तक लॉकडाउन 17 मई तक ही था लेकिन इसकी समयसीमा बढ़ने के कारण आवेदन से लेकर काउंसिलिंग करवाने तक हर कदम पर दिक्कत पेश आएगी। सबसे पहले तो ऑनलाइन आवेदन में ही परेशानी होने जा रही है।


लॉकडाउन में सभी साइबर कैफे बंद है। अधिकांश अभ्यर्थी साइबर कैफे की मदद से ही ऑनलाइन आवेदन करते हैं क्योंकि ऑनलाइन आवेदन की सुविधा हर किसी के पास नहीं है और न ही उन्हें इतनी जानकारी है। अधिकतर अभ्यर्थी 100-50 रुपये साइबर कैफे वाले को देकर फॉर्म भरवाना पसंद करता है। दूसरी समस्या विश्वविद्यालयों के बंद होने के कारण होगी। बड़ी संख्या में ऐसे अभ्यर्थी हैं जिन्होंने अपनी डिग्री व प्रमाणपत्र अब तक नहीं निकाले हैं।


अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग के समय सभी शैक्षिक व अन्य मूल अभिलेखों व उसकी दो सेट स्व प्रमाणित छायाप्रति, चार पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ और सचिव बेसिक शिक्षा परिषद के पदनाम से निर्धारित आवेदन शुल्क का बैंकड्राफ्ट लेकर प्रतिभाग करना होगा। ऐसे में मूल प्रमाणपत्र नहीं होने पर काउंसिलिंग में प्रतिभाग नहीं कर सकेंगे। तीसरा और सबसे बड़ा मसला ट्रेन, बस व ट्रांसपोर्ट के अन्य साधन बंद होना है। जिलों का ऑनलाइन विकल्प भरने के बाद अभ्यर्थियों को 3 से 6 जून तक काउंसिलिंग के लिए चयनित जिले तक जाने में परेशानी होगी। यदि उन्हें अपने साधन से जाने की इजाजत दे भी दी जाए तो सबके पास अपनी गाड़ी नहीं है और प्राइवेट साधन मिलना आसान नहीं होगा।
शिक्षक भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन आज से: 69000 शिक्षक भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन सोमवार अपराह्न से शुरू होंगे जो 26 मई रात 12 बजे तक किए जा सकेंगे। वेबसाइट पर अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा का अनुक्रमांक, जन्मतिथि तथा मोबाइल नंबर भरना होगा जिसके बाद मोबाइल पर ओटीपी मिलेगा जिसे भरने पर ही आवेदन पर आवश्यक प्रविष्टियां भर सकेंगे।



आवेदन आज से, काउंसलिंग में फंसेगा पेच, 
69000 शिक्षक भर्ती : ट्रेनें-बसें बंद, तीन से छह जून के बीच प्रस्तावित काउंसलिंग में कैसे होंगे शामिल? 


कमरे में छूटे दस्तावेज
लॉकडाउन में लौट रहे अभ्यर्थी प्रयागराज की विभिन्न डेलीगेसियों में लाखों की संख्या में प्रतियोगी छात्र किराए के कमरों में रहते हैं। लॉकडाउन के कारण प्रतियोगी छात्र अपने शहर या गांव लौट गए थे। इन दिनों डायट में टीईटी-2018 की मार्कशीट का वितरण किया जा रहा है। इसके अलावा काउंसलिंग का कार्यक्रम भी घोषित कर दिया गया है। ऐसे में लॉकडाउन के कारण अपने गांव या शहर लौटे अभ्यर्थियों को फिर से प्रयागराज आना पड़ रहा है। कोई मोटरसाइकिल तो कोई अन्य साधन से पहुंच रहा है। लॉकडाउन के कारण रास्ते में कोई रोक न ले, इस आशंका से ज्यादातर प्रतियोगी छात्र देर रात आ रहे हैं। उनके दस्तावेज कमरों में ही छूट गए थे, सो उनके सामने वापस आने के अलावा और कोई रास्ता भी नहीं बचा है।


प्रयागराज। दिन-रात मेहनत करके 69 हजार शिक्षक भर्ती में सफलता तो हासिल कर ली, लेकिन मंजिल अब भी काफी दूर नजर आ रही है। सहायक अध्यापक भर्ती में सफल घोषित किए गए अभ्यर्थियों के ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया 18 मई से शुरू होने जा रही है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में वरीयता क्रम में 75 आवेदन तो घर बैठे हो जाएगा लेकिन जिलों को विकल्प के तौर पर भरना है। काउंसलिंग में पेच फंसेगा। काउंसलिंग तीन से छह जून तक प्रस्तावित है जबकि सामान्य यात्री ट्रेनों का परिचालन 30 जून तक बंद रहेगा।


 रोडवेज की बसों के संचालन को लेकर भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। ऐसे में बड़ी संख्या में अभ्यर्थी काउंसलिंग से वंचित हो सकते है। ऐसा हुआ तो भर्ती में सफलता के बावजूद नौकरी हाथ नहीं आएगी। हालांकि जब 69 हजार शिक्षक भर्ती का परिणाम आया था, तब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 26 मई की मध्यरात्रि तक होगा। इसके बाद मेरिट बनाकर कटऑफ अंक तय किए जाएंगे और इसी आधार पर अभ्यर्थियों को काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा कटऑफ अंक के आधार पर अभ्यर्थियों को काउंसलिंग के लिए किसी भी जिले में जाना पड़ सकता है। 


उदाहरण के तौर पर प्रयागराज में रहने वाले किसी अभ्यर्थी ने अगर पहला विकल्प प्रयागराज भरा और बाकी 74 वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये शासन और जिलों का विकल्प अपनी सुविधानुसार बेसिक शिक्षा परिषद के अफसरों की ऑनलाइन बैठक में यह मुद्दा उठा था लेकिन इस समस्या का कोई निराकरण नहीं खोजा जा सका। 


काउंसलिंग में शामिल होने के लिए अभ्यर्थियों को सोमवार से शुरू क्रमवार भरा है तो जरूरी नहीं कि अभ्यर्थी की में शामिल होने के लिए इंतजार करना होगा। अगर अभ्यर्थी का कटऑफ किसी अन्य जिले के लिए निर्धारित कटऑफ के समान है तो अभ्यर्थी वहां आयोजित होने वाली काउंसलिंग में शामिल होगा, 


लेकिन सवाल उठ रहे हैं कि जब सामान्य यात्री ट्रेनों और बसों का संचालन नहीं होगा तो अभ्यर्थी संबंधित जिले तक कैसे पहुंचेगा। इस बारे में उतर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद के उप सचिव अनिल कुमार का कहना है कि पूर्व में हुई वीडियो कंफ्रेंसिंग के दौरान इस मसले पर चर्चा की गई थी। इन परिस्थितियों में महानिदेशक स्कूली शिक्षा की ओर से सामान्य दिशा निर्देश जारी कर दिए जाएंगे कि 69 हजार काउंसलिंग प्रयागराज में हो और उसे यही शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों को संबंधित पोस्टिंग मिल जाए। अगर उसका कटऑफ जिले में आयोजित काउंसलिंग में शामिल होने के लिए निजी वाहनों से जाने की प्रयागराज के लिए निर्धारित कटऑफ से भिन्न है तो अभ्यर्थी को दूसरे जिले की काउंसलिंग अनुमति प्रदान की जाए।

Post a Comment

0 Comments