NOC, SHIKSHAK BHARTI : पसंदीदा जिला नहीं मिलने के कारण 69000 में किया था आवेदन, एनओसी लेने के बाद ही आवेदन करने की दें अनुमति

NOC, SHIKSHAK BHARTI : पसंदीदा जिला नहीं मिलने के कारण 69000 में किया था आवेदन, एनओसी लेने के बाद ही आवेदन करने की दें अनुमति

 इस बार भी मनपसंद जिला न मिला तो नहीं करेंगे ज्वाइन

पसंदीदा जिला न मिलने पर हजारों सीट खराब करेंगे 68500 के चयनित

एनओसी लेने के बाद ही आवेदन करने की दें अनुमति

69000 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा के परिणाम में सीटों से दोगुने से अधिक अभ्यर्थियों के पास होने से एक बात तो साफ हो गई है किएक-एक सीट पर चयन की मारामारी रहेगी। ऐसे में चिंता की बात है कि 68500 सहायक अभ्यर्थियों को अपने जिले भविष्य में उन्हें अंतर जनपदीय तबादलेकालाभ नहीं मिलेगा। 


इस बीच एक दिसंबर 2018 को 69000 भर्ती की प्रक्रिया शुरू होने पर 68500 के चयनित शिक्षकों ने भी आवेदन कर दिया ताकि उन्हें मनपसंद  जिले में ज्वाइनिंग अध्यापक भर्ती में चयनित अभ्यर्थियों के थी गलत जिला आवंटन को लेकर चलते इस भर्ती में हजारों सीटें खराब होने शिखा सिंह व 48 अन्य ने हाईकोर्ट में याचिकाएं भी की थी। लेकिन कुछ नहीं वाले अभ्यर्थी 68500 में चयनित शिक्षकों को 69000 भर्ती में अवसर नहीं देने की मांग कर रहे हैं। 68500 में चयनित हजारों हुआ। अपने गृह जनपद से दुर जिले में तैनात 68500 शिक्षक भर्ती के चयनित शिक्षक अपने घर आने के लिए इसलिए जिले में तैनाती मिल जाए। 
एनओसी लेने के बाद ही आवेदन करने की दें अनमति 

अभ्यर्थियों का कहना है कि सेवारत शिक्षकों को अपने नियोक्ता से बिना अनापति प्रमाणपत्र (एनओसी) लिए 69000 भर्ती के लिए आवेदन न करने का प्रावधान होना चाहिए ताकि सीटें खराब न हो। चूंकि समान ग्रेड पे के लिए एनओसी मिलती है इसलिए 68500 में चयनित शिक्षक नई भर्ती में आवेदन नहीं कर सकेंगे। 


शासन को चाहिए की उत्तीर्ण अभ्यर्थियों से ऑनलाइन आवेदन में यह अवश्य पूछा जाए कि वह किसी सरकारी अथवा गैर-सरकारी, निकाय संस्था आदि में सेवारत है या नहीं। जैसा केंद्र सरकार सभी व राज्य सरकार की | अन्य सेवाओं के लिए आवेदन करने के लिए यह कॉलम अनिवार्य रूप से अंकित | होता है। अनावश्यक विवाद उत्पन्न न हो इसलिए बेसिक शिक्षा विभाग को भी चाहिए वह अपने आवेदन में यह विवरण अवश्य मांगे।

Post a Comment

0 Comments