MOBILE, ONLINE APPLICATION : 69 हजार शिक्षक भर्ती में सॉफ्टवेयर बदले बिना समय में नहीं हो सकेंगे आवेदन, मोबाइल से आवेदन में दिक्कतें, मोबाइल नम्बर बदलने की सुविधा भी देनी होगी ऑनलाइन

MOBILE, ONLINE APPLICATION : 69 हजार शिक्षक भर्ती में सॉफ्टवेयर बदले बिना समय में नहीं हो सकेंगे आवेदन, मोबाइल से आवेदन में दिक्कतें, मोबाइल नम्बर बदलने की सुविधा भी देनी होगी ऑनलाइन


69000 भर्ती  : मोबाइल नंबर बदला कैसे करें आवेदन?


प्रयागराज। 69000 शिक्षक भर्ती के बड़ी संख्या में आवेदन मोबाइल नंबर बदलने के कारण ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पा रहे हैं। ऑनलाइन जिला आवेदन का फॉर्म भरने के लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर की आवश्यकता है क्योंकि ओटीपी उसी नंबर पर आएगा। अभ्यर्थियों के साथ समस्या है कि लिखित परीक्षा का फॉर्म दिसंबर 2018 में भरा था। 


सैकड़ों अभ्यर्थियों के रजिस्टर्ड नंबर बदल गए हैं। यही कारण है कि वे फार्म नहीं पा रहे हैं। अभ्यर्थियों ने सचिव बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय में ज्ञापन देकर नंबर अपडेट करने का अनुरोध किया है। 68500 की तरह नंबर अपडेट करने के लिए प्रतिवेदन लेने पर भीड़ जुटना तय है। अभ्यर्थियों का सुझाव है कि आवेदन पत्र की कॉपी की फोटो के साथ ही पैन कार्ड/आधार कार्ड की ओरिजिनल कॉपी की फोटो तथा साथ में एक शपथ पत्र के प्रारूप में संबंधित अभ्यर्थी का घोषणा पत्र जिसमें कि वह अपने हस्ताक्षर करें आदि को निर्धारित ई-मेल पर लगाकर मोबाइल नंबर अपडेट किया करवाएं।


प्रयागराज : 69000 शिक्षक भर्ती के लिए 24 घंटे में जिस तरह से ऑनलाइन आवेदन हुए हैं, उससे सभी के जिला विकल्प तय समय में नहीं लिए जा सकेंगे। तकनीक के जानकार कहते हैं कि ऑनलाइन आवेदन का सॉफ्टवेयर इस तरह का है कि साइबर कैफे से आसानी से आवेदन हो सकते हैं, इस मोबाइल या फिर लैपटॉप से करने में दिक्कत आ रही है। 



इसीलिए आवेदनों की गति धीमी है। जरूरी है कि सॉफ्टवेयर में बदलाव किया जाए, ताकि वह मोबाइल से भी आसानी से संचालित हो सकें। इस समय लॉकडाउन में अधिकांश अभ्यर्थी शहर से दूर गांवों से भी आवेदन कर रहे हैं, वहां मोबाइल नेटवर्क और अन्य दिक्कतें भी आ रही हैं। अभी साइबर कैफे नहीं खुले हैं यह जरूर है कि उनके खुलने से आवेदन बढ़ सकते हैं। 


इसी तरह से अभ्यर्थियों के मोबाइल नंबर बदलने की सहूलियत भी ऑनलाइन देनी होगी, तभी शारीरिक दूरी का पालन हो सकता है। पिछले वर्षों में परिषद मुख्यालय पर ऑनलाइन आवेदन लेकर मोबाइल नंबर बदले गए थे। इस बार अभ्यर्थियों की संख्या अधिक होने से ऑनलाइन मोबाइल नंबर बदलना काफी मुश्किल है। 


इसमें सबसे बड़ी बाधा यह है कि हर अभ्यर्थी प्रयागराज तक आखिर आएगा कैसे? अफसरों ने सुझाव दिया है कि मोबाइल संशोधन ऑनलाइन करने की व्यवस्था की जाए, तभी समस्या खत्म होगी। वरना करीब डेढ़ लाख अभ्यर्थियों के आवेदन जल्द पूरे नहीं हो सकेंगे।

Post a Comment

0 Comments