BTC, SHIKSHAK BHARTI : 68500 सेवारत की घुसपैठ व बीएड वालों का विरोध कर रहे बीटीसी अभ्यर्थी, शिक्षक भर्ती में निपटना होगा इन चुनौतियों से

BTC, SHIKSHAK BHARTI : 68500 सेवारत की घुसपैठ व बीएड वालों का विरोध कर रहे बीटीसी अभ्यर्थी, शिक्षक भर्ती में निपटना होगा इन चुनौतियों से



प्रयागराज | बीटीसी अभ्यर्थियों का एक पक्ष शिक्षक भर्ती में बीएड अभ्यर्थियों को शामिल करने संबंधी राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद की ओर से 28 जून 2018 को जारी शासनादेश का विरोध कर रहा है। इनका कहना है कि बीएड अभ्यर्थियों के पास प्राथमिक विद्यालयों की भर्ती में प्रतिभाग करने के लिए योग्यता नहीं है। लेकिन आज की तारीख में उनका विरोध कहीं टिकता नजर नहीं आ रहा है। कुछ अभ्यर्थी इस भर्ती में बीटीसी प्रशिक्षुओं को प्राथमिकता देने के लिए कानूनी लड़ाई की तैयारी में हैं।


68500 वालों की घुसपैठ: दो साल पहले 68500 सहायक अध्यापक भर्ती में चयनित हजारों अभ्यर्थी अपने मनपसंद जिले में नियुक्ति पाने को 69 हजार शिक्षक भर्ती में भी शामिल हुए हैं। 69 हजार शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों की मांग है कि 68500 में चयनित शिक्षक इस भर्ती प्रक्रिया में प्रतिभाग न करें जिससे कम मेरिट वालों का भी चयन हो सके। 



हालांकि सचिव बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से 16 मई को जारी विज्ञापन में पूर्व में चयनित अभ्यर्थियों के लिए एनओसी लेने की बाध्यता भी की गई है। लेकिन विभाग के पास 68500 के चयनित शिक्षकों को 69 हजार भर्ती में शमिल होने से रोकने का कोई मेकैनिज्म नहीं है। ऐसे तमाम अभ्यर्थी हैं जिन्हें मनपसंद जिला मिला तो इस्तीफा देकर नई नौकरी ज्वाइन कर लेंगे।

Post a Comment

0 Comments