BUDGET : सरकार शिक्षा पर खर्च करेगी 71 हजार करोड़़ रुपये, बच्चों के स्कूल बैग पर ११० करोड़़ व संस्कृत शिक्षा के लिए २९५ करोड़़ दिये

BUDGET : सरकार शिक्षा पर खर्च करेगी 71 हजार करोड़़ रुपये, बच्चों के स्कूल बैग पर ११० करोड़़ व संस्कृत शिक्षा के लिए २९५ करोड़़ दिये


 लखनऊ, एसएनबी । प्रदेश सरकार वर्ष २०२०–२१ में सूबे की शिक्षा व्यवस्था पर ७१ हजार करोड़़ रुûपये खर्च करेगी‚ इसमें प्राथमिक‚ माध्यमिक व उच्च शिक्षा विभाग पर होने वाले व्यय शामिल हैं। साथ ही केन्द्र सहायतित योजनाओं पर खर्च होने वाली धनराशि को भी शामिल किया गया है‚ जबकि पूरी सरकार का बजट ५.१२ लाख करोड़़ रुûपये का है। इस बजट में परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों–शिक्षामित्रों के सामूहिक बीमा योजना के लिए ५६.३९ लाख की धनराशि का भी प्रावधान है॥। 


योगी सरकार ने अपने पिछले वर्ष के शिक्षा के बजट से इस बार विभिन्न मदों में करीब ३ हजार करोड़Ã से ज्यादा की बढ़øोतरी की है। वैसे सरकार के विभागीय बजट पर अभी यूपी विधानसभा में चर्चा होनी है। प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष २०१९–२० में जहां प्राथमिक शिक्षा के बजट में ५३९९० करोडÃ की धनराशि का प्रावधान किया था‚ वहीं इस बार इसको बढ़øाकर ५५०६४.५५ करोडÃ रुûपये किया गया है। माध्यमिक शिक्षा विभाग के लिए सरकार के बजट में १२९८८.९ करोड़़ रुûपये का प्रावधान है‚ जबकि पिछले वर्ष के बजट में यह धनराशि ११५३४.६५ करोड़़ रुûपये थी‚ इसी तरह उच्च शिक्षा के बजट में भी सरकार ने पिछले वर्ष से ज्यादा की धनराशि दी गयी। इस बार ३६५१.६६ करोड़़ रुûपये के बजटीय प्रावधान किया गया है‚ जबकि पिछले वर्ष २८९६.६७ करोड़़ था। हालांकि वास्तविक व्यय ३०२०.३० करोड़़ रुûपये का आया था। 


योगी सरकार ने इस बार संस्कृत शिक्षा के बजट के लिए भी २९४.६९ करोड़़ की धनराशि दी है। इसके साथ ही ११० करोड़़ रुûपये प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को स्कूल बैग देने और ४० करोड़़ रुûपये बच्चों को मुफ्त मिलने वाली यूनिफार्म पर व्यय होंगे। सरकार के इस बजट में मुख्यमंत्री अध्यापक पुरस्कार के लिए भी १० लाख रुûपये का प्रावधान है। सरकार के लगातार प्रयास से परिषदीय स्कूलों में छात्र–छात्राओं की संख्या बढ़øाकर एक करोड़़ ८० लाख के करीब पहुंच गयी है‚ यह पूर्व की सरकारों में सबसे ज्यादा है। ॥ परिषदीय स्कूलों में सामूहिक बीमा योजना के लिए ५६.३९ लाख की धनराशि॥ 




Post a Comment

0 Comments