UPTET, EXAMINATION : यूपी टीईटी 22 को ही, 200 गज परिधि पूर्ण प्रतिबंधित

UPTET, EXAMINATION : यूपी टीईटी 22 को ही, 200 गज परिधि पूर्ण प्रतिबंधित

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) 2019 तय समय पर 22 दिसंबर को ही होगी। इसमें किसी तरह का बदलाव नहीं है। परीक्षा नकलविहीन व शांतिपूर्ण कराने के लिए सख्त निर्देश फिर जारी किए गए हैं। हर परीक्षा केंद्र के आसपास 200 गज की परिधि को पूर्ण प्रतिबंधित किया गया है, वहां पर परीक्षार्थी व परीक्षा कार्य से जुड़े लोगों को छोड़कर कोई प्रवेश नहीं कर सकेगा, वहां धारा 144 लागू रहेगी। सभी जिलों में डीएम व एसपी को संवेदनशील स्थलों की जांच कराने को कहा गया है।

बेसिक शिक्षा सचिव मनीषा त्रिघाटिया ने गुरुवार को फिर सभी मंडलायुक्तों व डीएम को परीक्षा से संबंधित आदेश जारी किया है। इसमें यह भी कहा गया है कि परीक्षार्थियों ने ऑनलाइन आवेदन करते समय जो भी पहचान पत्र अंकित किया है, उसकी मूल प्रति जरूर साथ लाएं। इसके अलावा प्रवेशपत्र व किसी सेमेस्टर का अंक पत्र भी लाना है। सचिव ने निर्देश दिया है कि केंद्र व्यवस्थापक, पर्यवेक्षक या फिर स्टेटिक मजिस्ट्रेट कैमरायुक्त मोबाइल लेकर परीक्षा स्थल पर प्रवेश नहीं करेगा, वे बिना कैमरा वाला मोबाइल लेकर जा सकते हैं। वहीं परीक्षार्थियों को सिर्फ पेन व प्रवेशपत्र के साथ ही प्रवेश दिया जाएगा, अन्य कोई सामग्री कक्ष में ले जाने की अनुमति नहीं है। यह भी कहा गया है कि पेपर लीक का सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार करने वालों पर पुलिस महानिदेशक साइबर क्राइम के तहत मुकदमा दर्ज करके सख्त कार्रवाई करें। केंद्रों के प्रवेश द्वार व पेपर खोलते समय की वीडियो रिकॉर्डिग को अनिवार्य किया गया है। जिलों में आवागमन सुगम रखने का जिम्मा डीएम व एसपी पर है, मंडलायुक्त भी परीक्षा के पहले बैठक करके निर्देश जारी करें।

परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने कहा है कि परीक्षार्थी प्रवेशपत्र पर दिए निर्देशों का अध्ययन कर लें, ऐसे ही परीक्षा कक्ष में प्रश्नपुस्तिका पर दिए निर्देशों के अनुसार ही ओएमआर पर सूचना अंकित करें।

अलीगढ़, मऊ व सहारनपुर के परीक्षार्थी पड़ोसी जिलों से निकालें प्रवेशपत्र : यूपी टीईटी के समय ही नागरिकता कानून को लेकर प्रदेश भर में आंदोलन भी हो रहा है, ऐसे में शासन ने एहतियातन अलीगढ़, मऊ व सहारनपुर में इंटरनेट सेवाएं बंद कराई हैं। इससे अभ्यर्थी प्रवेशपत्र डाउनलोड नहीं कर पा रहे हैं। सचिव ने कहा है कि परीक्षार्थी पड़ोसी जिले से इसे निकाल सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments