FAKE, SHIKSHAK BHARTI : 68500 सहायक अध्यापक नियुक्ति में फर्जीवाड़े पर डायट प्रवक्ताओं समेत कई शिक्षक फंसे

FAKE, SHIKSHAK BHARTI : 68500 सहायक अध्यापक नियुक्ति में फर्जीवाड़े पर डायट प्रवक्ताओं समेत कई शिक्षक फंसे

डायट प्रवक्ताओं समेत कई शिक्षक फंसे

सहायक अध्यापक नियुक्ति में फजीवाड़े पर जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) के प्रवक्ताओं सहित कई संस्थाओं के शिक्षक फंस गए हैं। सभी पर टेबुलेशन चार्ट में गलत नंबर अंकित करने का आरोप है। कर्नलगंज पुलिस के मुताबिक जल्द ही नियुक्ति से संबंधित रिकार्ड खंगाले जाएंगे।
सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 में 49 शिक्षकों की नियुक्ति गलत ढंग से हुई थी। मूल्यांकन में मनमानी का आरोप लगाते हुए 38 शिक्षक, प्रवक्ता सहित 87 लोगों के खिलाफ कर्नलगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज हुई है। एफआइआर में जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान प्रयागराज की प्रवक्ता डॉ. प्रतिभा सरोज, डॉ. अमिता जायसवाल, रेखाराम, आंग्ल भाषा शिक्षण संस्थान की प्रवक्ता वंदना सिंह, रेशू सिंह, राज्य शिक्षा संस्थान की शोध प्राध्यापिका मंजुलेश विश्वकर्मा, अशोक कुमार, रिटायर्ड शोध प्राध्यापक राज सिंह, अंशिका यादव, वंदना मिश्र नामजद हैं। राज्य विज्ञान शिक्षा संस्थान की प्रवक्ता डॉ. सरिता, पत्रचार शिक्षा संस्थान की प्रवक्ता रीता यादव, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की प्रवक्ता सुनीता व पूजा सिंह, मंजुल मिश्र, शशिप्रभा, उर्वशी, लता सरोज, अनीता उत्तम, वंदना, सारिका सिंह, प्रियंका और राजकीय इंटर कॉलेज के प्रवक्ता कामता प्रसाद सरोज, महेंद्र कुमार, लाल चंद्र पटेल, राम बरन, माया तिवारी, संतोष पांडेय को भी आरोपित बनाया गया है। आइएएसई की अनुदेशक स्मिता सिंह, सीटीई के निदेशक अनिल यादव व पवन श्रीवास्तव, माध्यमिक शिक्षा परिषद की प्रवक्ता ¨बदु यादव और कुछ अन्य संस्थान की शिक्षिका प्रेमलता, दीपाली दिव्यम और श्रद्धा मिश्र के खिलाफ भी मुकदमा हुआ है। (जागरण संवाददाता, प्रयागराज )

नियुक्ति में फर्जीवाड़ा

सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 में गलत ढंग से हुई थी 49 शिक्षकों की नियुक्ति, गलत नंबर अंकित करने का है आरोप

Post a Comment

0 Comments