COOK, MDM : अब लज्जत के साथ पौष्टिकता की कसौटी पर भी परखें जाएंगे मिड डे मील रसोइया।

मिड-डे मील के रसोइये बनाएंगे भोजन और छात्र बनेंगे जज, रसोइयों की प्रतियोगिता के लिए हर जिले को 51,750 रुपये का बजट

प्राइमरी स्कूलों में खाने की गुणवत्ता सुधारने को होगी पाक कला प्रतियोगिता, सभी बेसिक और खंड शिक्षा अधिकारियों को 15 फरवरी तक प्रतियोगिता करवाने के निर्देश

प्रतियोगिता के लिए हर जिले को 51,750 रुपये का बजट दिया जाएगा। इसके तहत प्रतिभागियों का नकद पुरस्कार समेत भोजन पकाने की व्यवस्था शामिल होगी। प्रतियोगिता में अव्वल आने वाले विजेता को 3500 रुपये, दूसरे को 2500 और तीसरे को 1500 रुपये पुरस्कार के रूप में दिए जाएंगे। सांत्वना पुरस्कार  250 रुपये रखा गया है। रसोइयों के लिए आने जाने का भत्ता 250 रुपये प्रति प्रतिभागी होगा। साथ ही हर जिले के बीएसए को सर्टिफिकेट, भोजन साम्रगी, जलपान, बैनर और खाना बनाने के बर्तन और गैस चूल्हे के लिए 30 हजार रुपये दिए जाएंगे।

प्रतियोगिता में हर जिले से 30 रसोइयों का चयन होगा, ये अलग-अलग स्कूलों से होंगे। प्रतिभागी को मिड डे मील बनाने का दो साल का अनुभव होना अनिवार्य है। साथ ही जिन्होंने काम के दौरान कम छुट्टियां ली हों। एनजीओ से जुड़े रसोइयां भाग नहीं ले सकते हैं।

लखनऊ : प्राइमरी स्कूलों में बंटने वाले मिड-डे मील की क्वॉलिटी सुधारने और रसोइयों को प्रोत्साहित करने के लिए जिला स्तरीय पाक कला प्रतियोगिता होगी। मिड डे मील प्राधिकरण के निदेशक विजय किरण आनंद ने प्रदेश के सभी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों और खंड शिक्षा अधिकारियों को 15 फरवरी तक जिलेवार प्रतियोगिता करवाने का निर्देश दिया है। साथ ही सभी जिलाधिकारी और सीडीओ को सूचित किया है।

आनंद ने बताया कि इस प्रतियोगिता की सबसे अच्छी बात यह होगी कि इसमें छात्र भी जज की भूमिका में नजर आएंगे। साथ ही बेसिक शिक्षा अधिकारी के साथ अन्य आठ अधिकारी भी निर्णायक समिति में शामिल होंगे। इच्छुक रसोइयां प्रधानाध्यापक या इंचार्ज से अप्लीकेशन फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं। फॉर्म भरकर खंड शिक्षा अधिकारी के जरिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में 31 दिसंबर तक जमा करना होगा। प्रतियोगिता का दिन और समय बीएसए तय करेंगे। मेन्यू ऑन द स्पॉट लॉटरी के जरिए तय किया जाएगा। प्रतियोगिता करवाने के बाद फरवरी के अंत तक फोटोग्राफ के साथ विजेता का नाम, प्रतियोगिता की तारीख और निर्णायक समिति का ब्योरा भी भेजना होगा।  प्रतियोगिता के लिए चयनित निर्णायक समिति के लिए जिलाधिकारी से अप्रूवल लेना जरूरी होगा।




अब लज्जत के साथ पौष्टिकता की कसौटी पर भी परखें जाएंगे मिड डे मील रसोइया।  



Post a Comment

0 Comments