FAKE, SHIKSHAK BHARTI : पूरे प्रदेश में शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच शुरू

FAKE, SHIKSHAK BHARTI : पूरे प्रदेश में शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच शुरू

जासं, बाराबंकी : बनारस में स्थित संपूर्णानंद विश्वविद्यालय से डिग्री लेकर शिक्षक की नौकरी करने वाले अध्यापकों की जांच शुरू कर दी गई है। यह जांच तब शुरू की गई, जब बाराबंकी में दो शिक्षकों को एसटीएफ ने पकड़ा और 12 शिक्षकों के फर्जीवाड़े की बात सामने आई। अब बेसिक शिक्षा सचिव ने जिलों के खंड शिक्षा अधिकारियों से संपूर्णानंद विश्वविद्यालय से डिग्री लेकर शिक्षक बनने वालों की रिपोर्ट तलब की है।

नौ नवंबर को जिले में एसटीएफ ने फर्जी शिक्षक पिता-पुत्रों को गिरफ्तार किया था। दोनों फर्जी नियुक्तियां कराते थे। पकड़े जा रहे फर्जी शिक्षक बनारस के संपूर्णानंद विश्वविद्यालय के डिग्री धारक हैं। एसटीएफ ने बाराबंकी, गोरखपुर, बलरामपुर और महाराजगंज में जांच शुरू कर दी थी। अब बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव ने जांच के क्रम में 75 जिलों के बीएसए से संपूर्णानंद विश्वविद्यालय से डिग्री लेकर नौकरी करने वाले शिक्षकों की रिपोर्ट तलब की है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी वीपी सिंह ने बताया कि ऐसे शिक्षकों की सूची तैयार की जा रही है। बीएसए ने बताया कि कुछ शिक्षक डिग्री के द्वितीय प्रतिलिपि पर नौकरी कर रहे हैं। उनकी भी सूची बनाई जा रही है। बेसिक शिक्षा सचिव ने यह भी रिपोर्ट मांगी है।


Post a Comment

0 Comments