BEO, CIRCULAR, BUDGET : सकल धनराशि रूपये 439.47 करोड़ में से खण्ड शिक्षा अधिकारियों के वाहन भत्ते का भुगतान किराये की सुविधा के रूप में दिये जाने के सम्बन्ध में की गयी प्रेच्छा के सम्बन्ध में।

BEO, CIRCULAR, BUDGET : सकल धनराशि रूपये 439.47 करोड़ में से खण्ड शिक्षा अधिकारियों के वाहन भत्ते का भुगतान किराये की सुविधा के रूप में दिये जाने के सम्बन्ध में की गयी प्रेच्छा के सम्बन्ध में।

प्रेषक,
राज्य परियोजना निदेशक,
समग्र शिक्षा उत्तर प्रदेश।
सेवा में,
अपर मुख्य सचिव,
बेसिक शिक्षा,
शिक्षा अनुभाग-5
उत्तर प्रदेश शासन।
पत्रांक/ नि0का0/ISSE/ख०शि०अधि0/3797 /2019-20 दिनांकः 21नवम्बर, 2019 

विषयः खण्ड शिक्षा अधिकारियों को किराये के वाहन की सुविधा दिये जाने के सम्बन्ध में की गयी प्रेच्छा के सम्बन्ध में।

महोदया,
कृपया अधोहस्ताक्षरी के कार्यालय पत्रांक नि0का0/ ISSE/ख०शि०अधि0/ 3649/2019-20 दिनांक: 14 नवम्बर, 2019 का सन्दर्भ ग्रहण करने का कष्ट करें, जो रागस्त जनपदों के खण्ड शिक्षा
अधिकारियों को किराये के वाहन की सुविधा दिये जाने सम्बन्धी प्रस्ताव से सम्बन्धित है।

 उक्त कम में शासन द्वारा की प्रेच्छा के सन्दर्भ में अवगत कराना है कि भारत सरकार के प्रोजेक्ट अप्रूवल बोर्ड द्वारा MME (Management Cost) के रूप में वर्ष 2019-20 में कुल 439.47 करोड़ रुपये स्वीकृत हुए हैं। MME (Management Cost) के तहत वर्णित कार्यों में किराये पर गाडी लिये जाने का
प्राविधान (पताका 'क')। इस प्रकार भारत सरकार के प्रोजेक्ट अप्रूवल बोर्ड द्वारा MME (Alanagement Cost) के रूप में स्वीकृत सकल धनराशि रूपये 439.47 करोड़ में से खण्ड शिक्षा अधिकारियों के वाहन भत्ते का भुगतान किया जा सकता है। अवगत कराना है कि बेसिक शिक्षा विभाग के लियेIntegrated Portal 'प्रेरणा 04 सितम्बर, 2019 से क्रियाशील किया गया है। इस पोर्टल पर अध्यापकों एवं छात्रों की उपस्थिति, कायाकल्प के अन्तर्गत कराये गये कार्यों, मध्याह भोजन के नियमित वितरण, विद्यालयों के निरीक्षण, अध्यापकों को शैक्षिक सपोर्ट (दीक्षा) छात्रों के लर्निग आउटकम्स और तद्नुसार विद्यालयों का श्रेणीकरण इत्यादि सूचनायं सतत रूप से अध्यापकों एवं क्षेत्रीय अधिकारियों द्वारा फोटो सहित अपलोड की जायेगी।

उपरोक्त कार्यक्रमों को दृष्टिगत रखते हुए विद्यालयों के सतत् निरीक्षण व पर्यवेक्षण की अत्यन्त आवश्यकता है। इस हेतु फील्ड आफिसर्स का भ्रमण बढाने एवं इसे सुनियोजित किये जाने की व्यवस्था
बनायी जानी है। अतः खण्ड शिक्षा अधिकारियों हेतु वाहन की अपरिहार्यता का संज्ञान लेते हुए कपया तद् विषयक प्रस्ताव की स्वीकृति प्रदान करना चाहें।
संलग्नकः यथोपरि।

भवदीय, 

(विजय किरन आनन्द)
राज्य परियोजना निदेशक
निदेशक।

Post a Comment

0 Comments