SCHOOL : ‘प्राथमिक स्कूल से ही लैंगिक रूढ़ियों को तोड़ें'

SCHOOL : ‘प्राथमिक स्कूल से ही लैंगिक रूढ़ियों को तोड़ें'

नई दिल्ली । राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) ने बृहस्पतिवार को कहा कि लैंगिक रूढ़ियों को तोड़ने की शुरुआत प्राथमिक स्कूल स्तर से होनी चाहिए ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि बच्चे बड़े होकर लिंग के आधार पर पक्षपात नहीं करें।

मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय की पाठ्यक्रम विकसित करने वाली संस्था ने प्राथमिक स्कूल शिक्षा के लिए नए दिशा निर्देशों में लैंगिक समानता की सिफारिश की है। इसने स्कूलों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया कि शिक्षक लड़कों और लड़कियों पर समान रूप से ध्यान दें, उन्हें समान सम्मान और अवसर दें। लैंगिक भेदभाव के बगैर लड़के और लड़कियों से समान रूप से अपेक्षाएं रखें।

Post a Comment

0 Comments