BED : बीएड में सैकड़ों अभ्यर्थियों के वेटेज पर मडराया संकट, वेटेज के लिए लगाए गए कई अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट गायब

बीएड में सैकड़ों अभ्यर्थियों के वेटेज पर मडराया संकट, वेटेज के लिए लगाए गए कई अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट गायब

 बरेली : उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा में एनएसएस, एनसीसी और स्पोर्ट्स के वेटेज का विकल्प चुनने वाले सैकड़ों अभ्यर्थी इससे वंचित रह सकते हैं। वजह, उन्होंने वेटेज का विकल्प तो चुन लिया मगर, प्रमाण पत्र की कॉपी अपलोड नहीं की। सूत्रों के मुताबिक, साइबर कैफे से फॉर्म भरने वाले अभ्यर्थियों के आवेदन में ऐसी समस्याएं ज्यादा सामने आ रही हैं।
यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा 15 अप्रैल को होगी। इसके लिए प्रदेश के 15 शहरों में 1216 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

आयोजक एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय प्रशासन परीक्षा तैयारी में जुटा है। आठ अप्रैल को प्रवेश पत्र जारी होंगे। इस बीच कई अभ्यर्थियों के ऐसे आवेदन सामने आए हैं, जिनमें वेटेज के प्रमाण पत्र नहीं लगाए गए। दरअसल, एनएसएस, एनसीसी और स्पोर्ट्स के प्रमाण पत्र पर दस अंकों का वेटेज मिलता है। रैंक अच्छी आने से अभ्यर्थियों को राजकीय-एडेड कॉलेज मिलने की संभावना ज्यादा रहती है। जिन्होंने प्रमाण पत्र नहीं लगाए, उन्हें इसका लाभ मिलना संभव नहीं होगा। प्रवेश परीक्षा के राज्य समन्वयक प्रो. बीआर कुकरेती बताते हैं कि तैयारियां तेजी से चल रही हैं। केंद्र तय हैं। शासन ने सभी केंद्रों पर पुख्ता व्यवस्था के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि कुछ अभ्यर्थियों के आवेदन पत्र के साथ वेटेज के प्रमाण पत्र नहीं आए हैं। प्रमाण पत्र पर ही वेटेज का लाभ मिलता है।


Post a Comment

0 Comments