SHIKSHAMITRA, CASE : तमाम जद्दोजहद के बाद शिक्षामित्रों के मामले में टीम रिज़वान अंसारी की क्यूरेटिव याचिका मा0 सुप्रीम कोर्ट में हुई रजिस्टर्ड

SHIKSHAMITRA : तमाम जद्दोजहद के बाद शिक्षामित्रों के मामले में टीम रिज़वान अंसारी की क्यूरेटिव याचिका मा0 सुप्रीम कोर्ट में हुई रजिस्टर्ड


काफी लंबी जद्दोजहद के बाद प्रदेश में सभी शिक्षामित्रों (समायोजित+असमायोजित) का प्रतिनिधित्व करने वाली न्याय की अंतिम सीढ़ी क्यूरेटिव याचिका - *MOHAMMED RABIE vs THE STATE OF U.P.* आज मा0 सुप्रीम कोर्ट में रजिस्टर्ड हो गयी। जिसका *क्यूरेटिव पिटीशन नंबर- 104/2019* आज प्राप्त हो गया है।



अब कोशिश ये होगी कि जल्द से जल्द याचिकाओं को लिस्टेड करवाया जाए। टीम ने अपनी अपनी याचिका में *ओपन कोर्ट हियरिंग* की एप्लिकेशन भी लगवाई है। हालांकि अभी सभी याचिकाएं चैम्बर में ही सुनी जाएंगी। जिसमे सिर्फ जजेस ही याचिका की क्वालिटी पॉइंट चेक करेंगे। यदि याचिका एक्सेप्ट हुई तो ओपन हियरिंग के लिए लिस्टेड होगी। जिसकी संभावना मात्र 1% ही है। क्योंकि हम प्रत्येक पायदान पर केस हारे हुए हैं।
टीम ने इस याचिका को अपने निजी खर्चे पर योजित किया है। प्रदेश में सिंगल शिक्षामित्र से क्यूरेटिव के नाम पर कोई आर्थिक सहयोग नही लिया गया है। जब तक ये सभी याचिकाएं एक्सेप्ट होकर ओपेन कोर्ट हियरिंग के लिए न लग जाएं तब तक कोई भी खर्चा भी नही है और न ही किसी को दिया जाए। जो भी संघठन या लोग आपसे क्यूरेटिव के नाम पर धन-उगाही कर रहे हैं वो सिर्फ आम शिक्षामित्रों को बेवकूफ बना रहे हैं। इसीलिए जागरूक रहें,सतर्क रहें। 
जैसे ही क्यूरेटिव हियरिंग की मा0 सुप्रीम कोर्ट में कोई गतिविधि होगी, आप सभी को अवगत करा दिया जाएगा। इसलिए तब तक अपने अमूल्य सहयोग को बचा कर रखें अन्यथा वसूलने वालों की मंडी खुली हुई है।

*®टीम रिज़वान अंसारी।।*
(टेट सेवा समिति-उ0प्र0)

Post a Comment

0 Comments