Monday, April 30, 2018

GOVERNMENT ORDER, BSA, TRANSFER : राज्य सरकार ने किए तीन शिक्षाधिकारियों के तबादले, भूपेन्द्र नरायण गोरखपुर और अम्बरीश कुमार सिंह यादव बने बुलंदशहर के बीएसए

GOVERNMENT ORDER, BSA, TRANSFER : राज्य सरकार ने किए तीन शिक्षाधिकारियों के तबादले, भूपेन्द्र नरायण गोरखपुर और अम्बरीश कुमार सिंह यादव बने बुलंदशहर के बीएसए

Sunday, April 29, 2018

BASIC SHIKSHA NEWS, SCERT : राज्य स्तरीय कहानी प्रतियोगिता में चयनित शिक्षकों द्वारा तैयार किये गये आडियो रिकार्डिंग उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में ।

BASIC SHIKSHA NEWS, SCERT : राज्य स्तरीय कहानी प्रतियोगिता में चयनित शिक्षकों द्वारा तैयार किये गये आडियो रिकार्डिंग उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में ।

FAKE, BASIC SHIKSHA NEWS : डिग्रियों के फर्जीवाड़े को रोकने में रोड़ा बने राज्य, सभी राज्यों को नेशनल एकेडमिक डिपाजिटरी स्कीम से जुड़ने की सलाह दी

FAKE, BASIC SHIKSHA NEWS : डिग्रियों के फर्जीवाड़े को रोकने में रोड़ा बने राज्य, सभी राज्यों को नेशनल एकेडमिक डिपाजिटरी स्कीम से जुड़ने की सलाह दी

नई दिल्ली: डिग्रियों के फर्जीवाड़े को रोकने की सरकार की मुहिम तेजी से आगे तो बढ़ी है, पर राज्यों के विश्वविद्यालय इसकी राह में अभी भी एक बड़ी बाधा बने हुए है। सभी राज्यों को नेशनल एकेडमिक डिपाजिटरी स्कीम से जुड़ने की सलाह दी गई थी। लेकिन देश के कुल 367 राज्य विश्वविद्यालयों में से अभी तक सिर्फ 147 ही इससे जुड़े हैं। स्कीम से अब तक ना जुड़ने वाले राज्यों के विश्वविद्यालयों में बड़ी संख्या में विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों के भी हैं। देश के शैक्षणिक संस्थानों से मिलने वाली डिग्रियों को विश्वसनीय बनाने और उन्हें फर्जीवाड़े से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने पिछले साल नेशनल एकेडमिक डिपाजिटरी (नैड) स्कीम की शुरुआत की थी। इसके तहत डिग्रियों को डिजिटल तकनीक के जरिए ऑनलाइन सुरक्षित करना और जरूरत पड़ने पर आसानी से डाउनलोड करना भी शामिल है।

स्कीम के तहत देश के सभी विवि और राज्यों के शिक्षा बोर्ड को शामिल किया जाना है। लेकिन अब तक इससे 42 केंद्रीय विश्वविद्यालय, 147 राज्य विश्वविद्यालय और राज्यों के 23 स्कूली शिक्षा बोर्ड सहित कुल 413 शैक्षणिक संस्थान ही जुड़े हैं।

DELED, BASIC SHIKSHA NEWS : तकनीक खामियों के चलते लटकी डीएलएड आवेदन, बेसिक और राजकीय शिक्षकों की तबादला प्रक्रिया

DELED, BASIC SHIKSHA NEWS : तकनीक खामियों के चलते लटकी डीएलएड आवेदन, बेसिक और राजकीय शिक्षकों की तबादला प्रक्रिया

इलाहाबाद: सरकारी महकमों को कार्य तेज और पारदर्शी तरीके से करने के निर्देश हैं। अधिकांश विभाग आवेदन लेने या फिर सूचनाएं प्रसारित करने को वेबसाइट का सहारा ले रहे हैं लेकिन, अब कई अहम कार्यो में वेबसाइट के कारण विलंब हो रहा है। स्थिति यह हो गई है कि लगभग हर बार शासन के अफसरों को सरकारी एजेंसियों को निर्देश देना पड़ तब वेबसाइट शुरू हो रही हैं।

प्रदेश में डीएलएड (पूर्व बीटीसी) 2018 सत्र में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन लेने के निर्देश शासन ने छह मार्च को जारी किए। तीन अप्रैल से इसका पंजीकरण शुरू होने था व 25 अप्रैल तक आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तारीख तय हुई। विभाग ने इस बार आवेदन व शुल्क आदि जमा करने के कुछ नियमों में बदलाव करने का निर्णय लिया। इससे अब तक वेबसाइट तैयार नहीं हो सकी है, उसमें बदलाव व सिक्योरिटी ऑडिट के नाम पर आवेदन का कार्य रुका है।

अफसरों की मानें तो मई माह में एनआइसी व यूपी डेस्को के साथ बैठक के बाद वेबसाइट शुरू हो सकेगी। ऐसे ही बेसिक शिक्षा परिषद में अंतर जिला तबादलों के लिए दो चरणों में ऑनलाइन आवेदन लिए गए। बीएसए ने शिक्षकों की काउंसिलिंग कराने के बाद तबादले के लिए अर्ह शिक्षकों की सूची जारी की, उस पर विभाग ने आपत्तियां लीं। इसके बाद भी तबादला आदेश जारी नहीं हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि एनआइसी जब उन्हें सूची उपलब्ध कराएगा, प्रक्रिया उसके बाद ही आगे बढ़ सकेगी। ज्ञात हो कि इन तबादलों के लिए 13 जून 2017 को शासनादेश जारी हुआ था। बेसिक शिक्षा विभाग ने इसके छह माह बाद अंतर जिला तबादला करने के निर्देश दिए।

राजकीय माध्यमिक हाईस्कूल व इंटर कालेजों के शिक्षकों के तबादले के लिए एक सप्ताह पहले उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने शिक्षकों से तबादले के लिए ऑनलाइन आवेदन लेने का कार्यक्रम घोषित किया। उसके मुताबिक 30 अप्रैल तक आवेदन लिए जाएंगे। हालत यह है कि अब तक तबादले की वेबसाइट ही शुरू नहीं हो सकी है, जबकि तय अंतिम तारीख आने में दो दिन शेष हैं।1 विभागीय अफसरों ने भी देर करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। मंत्री के निर्देश के बाद शिक्षा निदेशक माध्यमिक ने जिला विद्यालय निरीक्षकों व मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशकों से राजकीय कालेजों में रिक्त पदों का जिलावार ब्योरा मांगा था। नया शैक्षिक सत्र शुरू हुए एक माह बीतने जा रहा है, यह तबादला प्रक्रिया कब शुरू होगी, कोई अफसर बताने को तैयार नहीं है।

कार्य जल्दी और पारदर्शी कराने के चलते विलंब होने से बढ़ गई है परेशानी

हर बार शासन के अफसरों को सरकारी एजेंसियों को निर्देश देने पर शुरू हो रही हैं वेबसाइट

एक सप्ताह पहले उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने शिक्षकों से तबादले को ऑनलाइन आवेदन को कहा

DELED, BTC, BASIC SHIKSHA NEWS : डायट मुख्यालयों पर डीएलएड (बीटीसी) उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन, सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में होगा मूल्यांकन

DELED, BTC, BASIC SHIKSHA NEWS : डायट मुख्यालयों पर डीएलएड (बीटीसी) उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन, सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में होगा मूल्यांकन

इलाहाबाद : डीएलएड यानि पूर्व बीटीसी की सेमेस्टर परीक्षाएं भी यूपी बोर्ड की तर्ज पर होंगी। इम्तिहान शांतिपूर्ण व नकलविहीन कराने के लिए प्रदेश के सभी डीएम को निर्देश दिए हैं। केंद्रों की निगरानी को मजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारी तैनात होंगे। वहीं, इस बार से उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन डायट मुख्यालयों पर सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में होगा। डीएलएड 2017 प्रथम सेमेस्टर सहित अन्य वर्षो के इम्तिहान एक मई से शुरू होकर 10 मई तक चलेंगे। परीक्षा में करीब तीन लाख से अधिक प्रशिक्षु शामिल होंगे।

एससीईआरटी निदेशक संजय सिन्हा ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि परीक्षा शांतिपूर्ण और नकल विहीन कराने के लिए केंद्रों पर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की जाए। साथ ही प्रश्नपत्र व उत्तर पुस्तिकाओं की सुरक्षा सख्ती से हो। डीएलएड की पढ़ाई कराने के उम्दा इंतजाम करें। सारे संसाधन सरकार ने केंद्रों पर मुहैया कराया है, केवल उनका सही से अनुपालन होना जरूरी है। साथ ही जिले के निजी कालेजों में पढ़ाई और परीक्षा की भी वह सख्ती से निगरानी करें। सचिव डॉ. सुत्ता सिंह ने प्राचार्यो से कहा कि इस बार से डायट मुख्यालयों पर ही उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराया जाएगा।

SHIKSHAK BHARTI, BASIC SHIKSHA NEWS : शिक्षक भर्ती, दूसरे जिले के अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने पर लगी रोक, उसी जिले के चयनित अभ्यर्थियों को एक मई को दिया जाएगा नियुक्ति पत्

SHIKSHAK BHARTI, BASIC SHIKSHA NEWS : शिक्षक भर्ती, दूसरे जिले के अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने पर लगी रोक, उसी जिले के चयनित अभ्यर्थियों को एक मई को दिया जाएगा नियुक्ति पत्र

इलाहाबाद: परिषदीय स्कूलों की 12460 शिक्षक भर्ती में दूसरे जिले के चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने पर रोक लग गई है। बेसिक शिक्षा परिषद सचिव संजय सिन्हा ने यह आदेश हाईकोर्ट के निर्देश पर दिया है। वहीं, उसी जिले से प्रशिक्षण प्राप्त चयनित अभ्यर्थियों को एक मई को नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। दूसरे जिले के अभ्यर्थियों का स्थान फिलहाल सुरक्षित रखने के भी आदेश हुए हैं, कोर्ट के अंतिम फैसले के बाद उनकी नियुक्ति प्रक्रिया आगे बढ़ेगी।
बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 160 सहायक अध्यापक भर्ती 2016 के विज्ञापन पर हो रही है। इसकी पहली काउंसिलिंग 18 से 20 मार्च 2017 को हुई थी, दूसरी काउंसिलिंग से पहले ही प्रदेश सरकार ने नियुक्ति प्रक्रिया रोक दी थी। यह भर्ती मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अब आगे बढ़ाई जा रही है। बीते अप्रैल को इसका शासनादेश हुआ। सरकार ने निर्देश दिया कि भर्ती के लिए दोबारा काउंसिलिंग नहीं होगी। पहली काउंसिलिंग में शामिल अभ्यर्थियों को अप्रैल को संबंधित जिले के बीएसए कार्यालय पर बुलाकर हस्ताक्षर कराए गए। जिला चयन समिति ने श्रेणी व आरक्षणवार चयनित अभ्यर्थियों की मेरिट सूची 27 अप्रैल को जारी कर दी है। 1ज्ञात हो कि यह भर्ती प्रदेश के जिलों में हो रही है। जिलों को एक भी पद आवंटित नहीं था। ऐसे में दूसरे जिले से बीटीसी का प्रशिक्षण पाने वाले अभ्यर्थियों ने भर्ती वाले जिलों में आवेदन किया। उनमें से अच्छी मेरिट वाले तमाम अभ्यर्थी चयनित सूची में स्थान पा गए हैं। इसी बीच रामजनक मौर्य व अन्य ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करके कहा कि पहली काउंसिलिंग में दूसरे जिले से प्रशिक्षण लेने वाले अभ्यर्थी क्यों शामिल किए गए हैं। इस पर कोर्ट ने पूरी भर्ती प्रक्रिया को रोकने से इन्कार दिया लेकिन, दूसरे जिले से प्रशिक्षण पाने वाले चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र अभी न देने का निर्देश दिया। परिषद सचिव ने बीएसए को निर्देश दिया है कि ऐसे अभ्यर्थी जो अन्य जिलों से प्रशिक्षण प्राप्त हैं, किंतु वहां रिक्ति न होने से आपके जिले की प्रथम काउंसिलिंग में प्रतिभाग किया है और मेरिट सूची में हैं। उन्हें अगले आदेश तक नियुक्ति पत्र निर्गत न किया जाए। यह निर्देश है कि दूसरे जिले के अभ्यर्थियों का स्थान फिलहाल सुरक्षित रखा जाए। वहीं, उसी जिले के चयनित अभ्यर्थियों को एक मई को नियुक्ति पत्र जारी होगा।

BED, RESULT : बीएड प्रवेश परीक्षा में सफल हुए 209241 अभ्यर्थी, दो वर्षीय कोर्स में दाखिले के लिए आयोजित हुई संयुक्त प्रवेश परीक्षा का परिणाम घोषित

BED, RESULT : बीएड प्रवेश परीक्षा में सफल हुए 209241 अभ्यर्थी,  दो वर्षीय कोर्स में दाखिले के लिए आयोजित हुई संयुक्त प्रवेश परीक्षा का परिणाम घोषित


इलाहाबाद के अभिषेक कुमार अवस्थी टॉपर, मगर नहीं लेंगे दाखिला, जिम्मी सौरभ दूसरे स्थान पर टॉप टेन की सूची में नौ छात्र व एक छात्र, जून के पहले सप्ताह में काउंसिलिंग



मजबूत आत्मविश्वास ने दिलाई सफलता : अभिषेक  संवाददाता, लखनऊ : अगर आपका आत्मविश्वास मजबूत है तो कोई भी मुकाम आप आसानी से हासिल कर सकते हैं। यह मानना बीएड में टॉप करने वाले इलाहाबाद के अभिषेक कुमार अवस्थी का है। फिलहाल उनका चयन लोअर पीसीएस 2015 में मनोरंजन कर अधिकारी के पद पर हो चुका है।



पीसीएस 2016 का मेन वह दे चुके हैं और उन्हें रिजल्ट का इंतजार है। ऐसे में वह बीएड कोर्स में दाखिला नहीं लेंगे। अभिषेक का कहना है कि 11 अप्रैल को बीएड प्रवेश परीक्षा थी और लोअर पीसीएस का रिजल्ट 13 अप्रैल को आया। ऐसे में अगर यह रिजल्ट पहले आ जाता तो वह बीएड प्रवेश परीक्षा न देते। उन्हें शायद टॉप कर एक और उपलब्धि हासिल करनी थी तो ऐसा हुआ। अभिषेक के पिता बाबू प्रसाद अवस्थी पुरोहित हैं। अभिषेक मूल रूप से हमीरपुर के रहने वाले हैं। उन्होंने सरस्वती इंटर कॉलेज से हाईस्कूल 79.3 प्रतिशत और इंटरमीडिएट 79.8 प्रतिशत अंक के साथ पास किया है। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से बीए 67.5 प्रतिशत अंक के साथ और एमए इकोनामिक्स 70.5 प्रतिशत अंक के साथ पास किया। एमए इकोनामिक्स में इन्हें गोल्ड मेडल भी मिला था। वह अपनी सफलता का श्रेय परिवार व गुरुजन को देते हैं।



लखनऊ : सूबे में बीएड के दो वर्षीय कोर्स में दाखिले के लिए आयोजित हुई संयुक्त प्रवेश परीक्षा का परिणाम शुक्रवार को घोषित कर दिया गया। बीएड प्रवेश परीक्षा में 209241 अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए। इलाहाबाद के अभिषेक कुमार अवस्थी ने 400 में से 341 अंक हासिल कर पहला स्थान हासिल किया है। अभिषेक का चयन लोअर पीसीएस में मनोरंजन कर अधिकारी पद पर हो चुका है, ऐसे में वह फिलहाल बीएड में दाखिला नहीं लेंगे। आगरा सेंटर से परीक्षा देने वाली जिम्मी सौरभ ने 324.67 अंक हासिल कर दूसरा स्थान हासिल किया है। वह मूलरूप से बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वाली हैं।



इस बार की सूची में नौ छात्र हैं और एक छात्र है। बीएड प्रवेश परीक्षा का परिणाम वेबसाइट पर उपलब्ध है। शुक्रवार को शाम करीब चार बजे लखनऊ विश्वविद्यालय (लविवि) के कुलपति प्रो. एसपी सिंह और बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा के राज्य समन्वयक प्रो. एनके खरे ने परिणाम घोषित किया। जून के पहले सप्ताह में दाखिले के लिए काउंसिलिंग होगी। इस बार ऑफ कैंपस ऑनलाइन काउंसिलिंग होगी। अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग सेंटर पर नहीं आना होगा। पूरी काउंसिलिंग घर पर बैठे-बैठे कम्प्यूटर व इंटरनेट की मदद से या फिर साइबर कैफे में जाकर अभ्यर्थी पूरी करेंगे।



राज्य समन्वयक प्रो. एनके खरे ने बताया कि बीएड की प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए 233913 ने पंजीकरण करवाया था। इसमें से 210415 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा में आए। इसमें 10 अभ्यर्थियों को नकल करने के आरोप में पकड़ा गया। वहीं 1174 अभ्यर्थी ऐसे थे जिन्होंने सिर्फ पहली या फिर दूसरी पाली का इम्तिहान दिया।



समय से पहले परिणाम घोषित : पिछले साल बीएड में 1.94 लाख सीटें थी। इस बार कॉलेज 20 मई तक बीएड कोर्स की सीटों का ऑनलाइन ब्योरा देंगे। ऐसे में सफल हुए अभ्यर्थी आराम से दाखिला पा जाएंगे। बीएड की प्रवेश परीक्षा 11 अप्रैल को हुई थी और रिजल्ट 10 मई को घोषित किया जाना था लेकिन लविवि ने इसे पहले ही घोषित कर दिया। 1जिम्मी ने नहीं लिया वेटेज : पहला स्थान हासिल करने वाले अभिषेक कुमार अवस्थी को पहले पेपर में 172 व दूसरे पेपर में 154 अंक मिले हैं। यानी लिखित परीक्षा में 326 अंक मिले और 15 अंक का स्पोर्ट्स व एनसीसी आदि का वेटेज मिला। इस तरह कुल 341 अंक मिले। दूसरे नंबर पर रहीं जिम्मी सौरभ को लिखित परीक्षा में कुल 324.67 अंक मिले, उन्होंने किसी भी तरह का वेटेज नहीं लिया। तीसरे स्थान पर गोरखपुर के सत्येंद्र कुमार मिश्र, चौथे स्थान पर फैजाबाद के राजीव कुमार पांडे और पांचवें स्थान पर इलाहाबाद के शिव शंकर धूरिया रहे। 1आंसर की भी ऑनलाइन की गई : बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा की आंसर ऑनलाइन की है। सात दिनों के अंदर अपनी आपत्ति दर्ज करवा सकते हैं।

Saturday, April 28, 2018

ATTACHMENT, BASIC SHIKSHA NEWS : कार्यालय या दूसरे स्कूलों में संबद्घ बेसिक शिक्षकों का ब्योरा तलब, मुख्यमंत्री के निर्देश पर सभी बीएसए से मांगी गई एक वर्ष की रिपोर्ट

ATTACHMENT, BASIC SHIKSHA NEWS : कार्यालय या दूसरे स्कूलों में संबद्घ बेसिक शिक्षकों का ब्योरा तलब, मुख्यमंत्री के निर्देश पर सभी बीएसए से मांगी गई एक वर्ष की रिपोर्ट


■ कार्यालय या दूसरे स्कूलों में संबद्घ बेसिक शिक्षकों का ब्योरा तलब

■ मुख्यमंत्री के निर्देश पर सभी बीएसए से मांगी गई एक वर्ष की रिपोर्ट

■ 15 दिन में निदेशक बेसिक शिक्षा व परिषद सचिव को भेजने का आदेश

इलाहाबाद : प्रदेश के विभिन्न जिलों से मुख्यमंत्री कार्यालय को यह शिकायतें मिली हैं कि बड़े पैमाने पर प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों को कार्यालय या फिर मनचाहे स्कूलों में संबद्ध किया गया है। इससे प्राथमिक स्तर पर पढ़ाई प्रभावित हो रही है। सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वह अपने जिले में एक वर्ष में संबद्ध हुए सभी शिक्षकों का ब्योरा 15 दिन में भेजे।
बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में ऐसे शिक्षकों की भरमार है, जिन्होंने अफसरों से मिलकर अपना संबद्धीकरण खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय, डायट या फिर पसंदीदा स्कूल में करा लिया है। ये शिकायतें मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंची हैं। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव ने 19 अप्रैल को इस संबंध में शिक्षा निदेशक बेसिक डा. सर्वेद्र विक्रम बहादुर सिंह से रिपोर्ट मांगी है।



डा. सिंह ने इस मामले में बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि जिलों में बीएसए, उप शिक्षा निदेशक बेसिक, जिला विद्यालय निरीक्षक, संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा आदि विभिन्न स्तर के कार्यालयों और डायट में कितने शिक्षक संबद्ध हैं। यही नहीं कई जिलों में शिक्षक व शिक्षिकाओं ने मूल तैनाती के विद्यालय से अन्य स्कूलों में अपने को संबद्ध करा लिया है। यह रिपोर्ट 30 जून तक मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजी जानी है। ऐसे में बीएसए एक अप्रैल 2017 से लेकर अब तक जिले भर में तैनात ऐसे शिक्षकों का ब्योरा 15 दिन में उपलब्ध कराएं। इसकी एक प्रति बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय इलाहाबाद भी भेजी जाए। इस आदेश से हड़कंप मचा है।

छात्र-छात्रओं का मांगा ब्योरा : शिक्षा निदेशक बेसिक ने कक्षा एक से लेकर आठ तक में पढ़ने वाले छात्र-छात्रओं का ब्योरा मांगा है, ताकि उन्हें जल्द स्कूल बैग और जूता-मोजा उपलब्ध कराया जा सके। इसके लिए एक प्रोफार्मा भी जिलों को भेजा गया है, जिस पर सूचनाएं देनी हैं। सभी से यह रिपोर्ट दस मई तक मांगी गई है।

SYLLABUS, BASIC SHIKSHA NEWS : बाबा गोरखनाथ और श्यामा प्रसाद को पढ़ेंगे छठी से आठवीं तक के परिषदीय बच्चे, भावी पीढ़ी में भगवा एजेंडे को धार देगा स्कूली पाठ्यक्रम ।

SYLLABUS, BASIC SHIKSHA NEWS : बाबा गोरखनाथ और श्यामा प्रसाद को पढ़ेंगे छठी से आठवीं तक के परिषदीय बच्चे, भावी पीढ़ी में भगवा एजेंडे को धार देगा स्कूली पाठ्यक्रम ।

PRIVATE SCHOOL, RECOGNITION : गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों पर कसेगा शिकंजा, कुशीनगर में हादसे के बाद एक बार फिर से जागा विभाग

PRIVATE SCHOOL, RECOGNITION : गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों पर कसेगा शिकंजा, कुशीनगर में हादसे के बाद एक बार फिर से जागा विभाग

हिन्दुस्तान टीम, लखनऊ । कुशीनगर हादसे के बाद गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों के प्रति बेसिक शिक्षा विभाग का रवैया सख्त हो गया है। बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों से ऐसे स्कूलों पर कार्रवाई का ब्यौरा 15 मई तक तलब किया है।

इससे पहले विभाग ने 23 मार्च को पत्र भेज कर मान्यता की शर्ते स्पष्ट करते हुए आदेश दिए थे कि किसी भी हाल में बिना मान्यता के स्कूल संचालित न किए जाएं। वहीं बिना मान्यता के चल रहे स्कूलों को चिह्नित कर कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए थे। अब निदेशालय ने ऐसी कार्रवाई का पूरा ब्योरा तलब कर लिया है।

कुशीनगर में जिस स्कूल की वैन दुर्घटना का शिकार हुई वह बिना मान्यता के चल रहा था। मान्यता के लिए तय मानकों को पूरा करना होता है। मानक पूरा न होने पर मान्यता नहीं दी जाएगी। वही मान्यता की शर्तों का उल्लघंन करने पर मान्यता वापस ले ली जाएगी लेकिन इसके साथ ही वहां पढ़ रहे बच्चों का प्रवेश पास के स्कूलों में करवाने के भी आदेश हैं। बिना मान्यता के चल रहे स्कूलों से एक लाख रुपये जुर्माना लेने का भी नियम है।

MDM, BASIC SHIKSHA NEWS, AKSHAY PATR : कानपुर समेत पांच जिलों में भी अक्षय पात्र देगा मिड डे मील, जल्द ही ऑटोमेटिक किचन प्लांट पर होगा काम शुरू

MDM, BASIC SHIKSHA NEWS, AKSHAY PATR : कानपुर समेत पांच जिलों में भी अक्षय पात्र देगा मिड डे मील, जल्द ही ऑटोमेटिक किचन प्लांट पर होगा काम शुरू

ALLAHABAD HIGHCOURT, CIRCULAR, COUNSELLING, RECRUITMENT, TEACHER : 12460 शिक्षक भर्ती के अन्तर्गत शून्य रिक्ति वाले जनपद से प्रशिक्षण प्राप्त अन्य जनपद में काउंसिलिंग करा मेरिट सूची में स्थान प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों की सीट सुरक्षित रखते हुए नियुक्ति पत्र निर्गत न किये जाने सम्बन्धी आदेश जारी ।

ALLAHABAD HIGHCOURT, CIRCULAR, COUNSELLING, RECRUITMENT, TEACHER : 12460 शिक्षक भर्ती के अन्तर्गत शून्य रिक्ति वाले जनपद से प्रशिक्षण प्राप्त अन्य जनपद में काउंसिलिंग करा मेरिट सूची में स्थान प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों की सीट सुरक्षित रखते हुए नियुक्ति पत्र निर्गत न किये जाने सम्बन्धी आदेश जारी ।

CIRCULAR, DIRECT, RECRUITMENT, RECRUITMENT, URDU TEACHER : मा0 उच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में 3500 उर्दू अध्यापक भर्ती के अन्तर्गत मोअल्लिम-ए-उर्दू ट्रेनिंग कोर्स करने वाले याचीगणों के प्रमाण पत्रों का परीक्षण कर चयन/नियुक्ति की कार्यवाही किये जाने सम्बन्धी सचिव परिषद का आदेश जारी

CIRCULAR, RECRUITMENT, RECRUITMENT, URDU TEACHER : मा0 उच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में 3500 उर्दू अध्यापक भर्ती के अन्तर्गत मोअल्लिम-ए-उर्दू ट्रेनिंग कोर्स करने वाले याचीगणों के प्रमाण पत्रों का परीक्षण कर चयन/नियुक्ति की कार्यवाही किये जाने सम्बन्धी सचिव परिषद का आदेश जारी

SCHOOL, BASIC SHIKSHA NEWS : गैर मान्यताप्राप्त स्कूलों पर कार्रवाई की 15 तक मांगी रिपोर्ट- कुशीनगर

SCHOOL, BASIC SHIKSHA NEWS : गैर मान्यताप्राप्त स्कूलों पर कार्रवाई की 15 तक मांगी रिपोर्ट- कुशीनगर

राज्य ब्यूरो, लखनऊ : कुशीनगर में स्कूल वैन हादसे के बाद सभी मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक और जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों से बिना मान्यता संचालित किये जा के स्कूलों के खिलाफ की गई कार्रवाई का ब्योरा तलब किया गया है। बेसिक शिक्षा निदेशक डॉ.सर्वेद्र विक्रम बहादुर सिंह ने 15 मई तक यह ब्योरा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। गुरुवार को कुशीनगर में हुए हादसे में जान गंवाने वाले 13 छात्र जिस डिवाइन मिशन स्कूल के छात्र थे, वह बिना मान्यता के ही संचालित हो रहा था। निश्शुल्क एवं बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के लागू होने के बाद बिना मान्यता प्राप्त किये कोई भी स्कूल संचालित नहीं किया जा सकता है। शिक्षा निदेशक ने 23 मार्च को सभी एडी बेसिक और बीएसए को बिना मान्यता प्राप्त संचालित किये जा रहे स्कूलों पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। शिक्षा निदेशक ने पूर्व निर्देश का हवाला देते एडी बेसिक व बीएसए से पूछा है कि उनके पत्र के क्रम में मान्यता के बिना संचालित किये जा रहे स्कूलों के खिलाफ तक क्या कार्रवाई की गई है।

BSA, BASIC SHIKSHA NEWS : शिक्षा विभाग के अफसरों के बुरे दिन शुरू, 10 बीएसए स्तर के अफसरों के खिलाफ होगी कार्रवाई

BSA, BASIC SHIKSHA NEWS : शिक्षा विभाग के अफसरों के बुरे दिन शुरू, 10 बीएसए स्तर के अफसरों के खिलाफ होगी कार्रवाई

दस शिक्षा अधिकारियों की होगी विभागीय जांच, नियम विरुद्ध तरीके से वेतन भुगतान करने के मामले में गिरी गाज

 

लखनऊ : नियम विरुद्ध तरीके से वेतन भुगतान करने के मामले में शासन ने जौनपुर के चार और इलाहाबाद के छह तत्कालीन जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों (बीएसए) के खिलाफ अनुशासनिक कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। इन अधिकारियों के खिलाफ अब विभागीय जांच शुरू होगी।1अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा राज प्रताप सिंह ने बताया कि बीएसए जौनपुर के पद पर रहते हुए नियम विरुद्ध तरीके से वेतन आदि के भुगतान के लिए प्रथम दृष्टया दोषी पाये गए चार अधिकारियों में सर्वदानंद, डॉ.विनोद कुमार राय, भाष्कर मिश्र और कृष्णानंद उपाध्याय शामिल हैं।
वहीं बीएसए इलाहाबाद के पद पर कार्यरत अवधि के दौरान सहायक अध्यापक के शैक्षिक प्रमाणपत्र फर्जी होने की जानकारी होने के बावजूद अनियमित तरीके से वेतन भुगतान करने जैसी गंभीर अनियमितता के लिए जिन छह अधिकारियों को प्रथम दृष्टया दोषी पाया गया है, उनमें धर्मेद्र कुमार सक्सेना, रमेश चंद्र मिश्र, दिनेश कुमार यादव, बृजेश मिश्र, राकेश कुमार और कमलाकर पांडेय शामिल हैं।

GOVERNMENT ORDER, GPF : जी0पी0एफ0 ब्‍याज की दर दिनांक 01 अप्रैल, 2018 से 30 जून, 2018 तक

GOVERNMENT ORDER, GPF : जी0पी0एफ0 ब्‍याज की दर दिनांक 01 अप्रैल, 2018 से 30 जून, 2018 तक

Friday, April 27, 2018

BSA, BEO : बीएसए नहीं मान रहे अफसरों के निर्देश, शासन की सख्त कार्रवाई भी बेअसर, खण्ड शिक्षाधिकारियों की पैरवी में हो रही लेटलतीफी

BSA, BEO : बीएसए नहीं मान रहे अफसरों के निर्देश, शासन की सख्त कार्रवाई भी बेअसर, खण्ड शिक्षाधिकारियों की पैरवी में हो रही लेटलतीफी

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा अधिकारियों की गड़बड़ी पर शासन सख्त कार्रवाई कर रहा है, उसके बाद भी बीएसए अफसरों के निर्देशों की लगातार अनदेखी कर रहे हैं। हालत यह है कि वह विभागीय सूचनाएं देने तक में टालमटोल कर रहे हैं। प्रदेश भर के विकासखंडों में तैनात खंड शिक्षा अधिकारियों की सेवा विवर्णिका शिक्षा निदेशालय को अधिकांश जिलों से नहीं मिल सकी है। इससे उनके तबादलों में देरी होना तय है।

शासन ने अफसरों की वार्षिक स्थानांतरण नीति घोषित कर दी है। इसी नीति के तहत वर्षो से एक ही मंडल व जिलों में तैनात खंड शिक्षा अधिकारियों का तबादला होना है। अपर शिक्षा निदेशक बेसिक कीर्ति गौतम ने 10 अप्रैल को इस संबंध में सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया था कि उनके जिले में तैनात अफसरों की सेवा विवर्णिका 20 अप्रैल तक निदेशालय भेज दी जाए। लखनऊ मंडल के लखीमपुर खीरी, कानपुर के फरुखाबाद, इटावा, कन्नौज, मेरठ मंडल के मुख्यालय, मुरादाबाद मंडल के रामपुर, फैजाबाद मंडल के सुलतानपुर, अलीगढ़ व वाराणसी मंडल मुख्यालय, चित्रकूट धाम मंडल के बांदा और इलाहाबाद मंडल के फतेहपुर के बीएसए ने ही आदेश का अनुपालन किया है।

वहीं, झांसी, बरेली, मिर्जापुर, आगरा, देवीपाटन, आजमगढ़, बस्ती, गोरखपुर व सहारनपुर मंडल के एक भी जिले ने सूचना नहीं दी है।  अपर शिक्षा निदेशक गौतम ने सभी बीएसए को कड़ा पत्र जारी किया है, जिसमें लिखा है कि प्रदेश के अधिकांश जिलों ने आदेश का अनुपालन नहीं किया है। अब वह ई-मेल पर जल्द सभी खंड शिक्षा अधिकारियों का सेवा विवरण व मूल अभिलेख भेजे। सभी जिलों से रिपोर्ट आने के बाद अफसरों के तबादले दूसरे मंडलों में होंगे। तमाम खंड शिक्षा अधिकारी भी तैनाती वाले जिले से हटना नहीं चाहते हैं, उनकी पैरवी पर बीएसए सूचनाएं देने में देरी कर रहे हैं।

RECENT POSTS

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/आदेश/निर्देश/सर्कुलर/पोस्ट्स एक साथ एक जगह, बेसिक शिक्षा न्यूज ● कॉम के साथ क्लिक कर पढ़ें ।

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/ आदेश / निर्देश / सर्कुलर / पोस्ट्स एक साथ एक जगह , बेसिक शिक्षा न्यूज ●...