Friday, December 01, 2017

RESULT, UPTET : चौंकाने वाले होंगे यूपी टीईटी के परिणाम, बुधवार तक जारी हो सकता है 2017 का परीक्षा परिणाम, हो रही डाटा फीडिंग

RESULT, UPTET : चौंकाने वाले होंगे यूपी टीईटी के परिणाम, बुधवार तक जारी हो सकता है 2017 का परीक्षा परिणाम, हो रही डाटा फीडिंग

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपी टीईटी-2017, का परिणाम जारी होने की अनुमानित तारीख 30 नवंबर बीतने के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने अगले हफ्ते बुधवार तक परिणाम घोषित होने की संभावना जताई है। लाखों अभ्यर्थियों को इस परिणाम का बेसब्री से इंतजार है जबकि भरपूर जोर लगने के बावजूद सफलता के पायदान पर चढ़ने वालों की संख्या चौंकाने वाली हो सकती है। सूत्रों के अनुसार इस बार भी उत्तीर्ण होने वालों की तादाद काफी कम है।

गौरतलब है कि परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इलाहाबाद ने 15 अक्टूबर को प्रदेश भर में 1614 केंद्रों पर दो पालियों में यूपी टीईटी-2017 परीक्षा का आयोजन कराया था। कुल नौ लाख 97 हजार 760 अभ्यर्थियों में प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 80.50 तथा उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में 86.74 फीसद अभ्यर्थी शामिल हुए थे। इस परीक्षा की उत्तर कुंजी को लेकर कई अभ्यर्थियों ने सवाल उठाए, आपत्तियां भेजी जिनके निस्तारण से संतुष्ट न होने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट और लखनऊ बेंच में याचिकाएं दाखिल हुईं। उधर आपत्तियों के निस्तारण के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने दावा किया था कि 30 नवंबर को परिणाम जारी कर दिया जाएगा लेकिन, इस पर असमंजस की स्थिति बरकरार रही और आखिरकार तय समय सीमा में परिणाम जारी नहीं हो सका।

परीक्षा परिणाम हालांकि गोपनीय है फिर भी परीक्षा कराने वाली संस्था से जुड़े सूत्रों की मानें तो इस बार भी उत्तीर्ण होने वालों का प्रतिशत काफी कम है। टीईटी की पिछली दो परीक्षाओं में भी परिणाम अपेक्षा के विपरीत चौंकाने वाले रहे, इस बार भी वैसी ही स्थिति बनी है जो गंभीर चिंतन का विषय हो सकती है।

वहीं सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इलाहाबाद डा. सुत्ता सिंह का कहना है कि डाटा फीडिंग हुई है। मास्टर डाटा मिला है जिसे प्रोसेस में लाए बिना परिणाम की स्थिति पर कुछ कहा नहीं जा सकता।

उन्होंने कहा कि रिजल्ट कितने फीसद है इसकी जानकारी डाटा प्रोसेसिंग के बाद ही हो सकेगी। बताया कि कुछ याचिकाओं पर कोर्ट ने काउंटर मांगा है, कुछ आपत्तियों पर तीन से लेकर पांच विशेषज्ञों तक से निस्तारण कराया जा रहा है इसलिए परिणाम जारी करने में अभी चार से पांच दिन का समय लग सकता है।

यूपी टीईटी-2017 को लेकर एक और याचिका

विधि संवाददाता, इलाहाबाद : यूपी टीईटी-2017 के परिणाम जारी होने से पहले परीक्षा कराने वाली संस्था के लिए एक और मुश्किल हालात पैदा हो गए हैं। कोर्ट में पहले से लंबित कई याचिकाओं के अलावा एक और याचिका दाखिल हो गई है। यह याचिका पर्यावरण विषय के क्षेत्र में सवाल पूछने के स्थान पर संविधान के प्रश्न पूछे जाने को लेकर दाखिल हुई है।

प्रभा त्रिपाठी और अन्य ने टीईटी-2017 में पर्यावरण विषय के क्षेत्र में सवाल पूछे जाने की बजाए संविधान के प्रश्न पूछे जाने को हाईकोर्ट में चुनौती दी है। कोर्ट ने इस पर सरकारी वकील से जानकारी मांगी है। याचिका को इस मामले में पूर्व में दाखिल कुर्मेश कुमार व आठ अन्य की याचिका के साथ संबद्ध कर दिया गया है। सुनवाई 14 दिसंबर को होगी। इस मामले की सुनवाई न्यायमूर्ति सुनीत कुमार कर रहे हैं। याची के अधिवक्ता एके त्रिपाठी और अनिल बिसेन का कहना था कि पर्यावरण पाठ्यक्रम के तहत पूछे जाने वाले सवालों की जगह संविधान से संबंधित सवाल पूछ लिए गए। जबकि, उस सेशन में सिर्फ पर्यावरण के सवाल होने चाहिए थे। याचीगण ने प्रत्यावेदन दिया था लेकिन उस पर कोई सुनवाई नहीं हुई।

No comments:

Post a Comment

RECENT POSTS

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/आदेश/निर्देश/सर्कुलर/पोस्ट्स एक साथ एक जगह, बेसिक शिक्षा न्यूज ● कॉम के साथ क्लिक कर पढ़ें ।

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/ आदेश / निर्देश / सर्कुलर / पोस्ट्स एक साथ एक जगह , बेसिक शिक्षा न्यूज ●...