Tuesday, March 13, 2018

PENSION, BASIC SHIKSHA NEWS, CM : विधानसभा, यूपी में पुरानी पेंशन योजना नहीं होगी बहाल, सरकार का कहना था कि नई पेंशन योजना राज्य कर्मचारियों के हित में हैं और पुरानी पेंशन योजना के मुकाबले काफी बेहतर

PENSION, BASIC SHIKSHA NEWS, CM : विधानसभा, यूपी में पुरानी पेंशन योजना नहीं होगी बहाल, सरकार का कहना था कि नई पेंशन योजना राज्य कर्मचारियों के हित में हैं और पुरानी पेंशन योजना के मुकाबले काफी बेहतर

हिन्दुस्तान टीम, लखनऊ । क्रासर....नाराज कांग्रेस, सपा व बसपा सदस्यों ने किया सदन से वाकआउट क्रासर....विधानसभा में सरकार का ऐलान राज्य मुख्यालय। विशेष संवाददातायूपी सरकार ने साफ कर दिया है कि प्रदेश में राज्य कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना बहाल नहीं होगी। मौजूदा नई पेंशन योजना ही चलती रहेगी। विधानसभा में संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना के इस जवाब से नाराज कांग्रेस, सपा व बसपा सदस्यों सदन से वाकआउट किया। सरकार का कहना था कि नई पेंशन योजना राज्य कर्मचारियों के हित में हैं और पुरानी पेंशन योजना के मुकाबले काफी बेहतर है।

विधानसभा में सोमवार को प्रश्नकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू ने कहा कि नई पेंशन योजना से 20 लाख राज्य कर्मचारियों के हित प्रभावित हो रहे हैं। उनका कहना था कि मार्च 2005 के बाद सेवा में आने वाले कर्मचारियों को भी पुरानी पेंशन योजना के दायरे में लाया जाना चाहिए। इस मुद्दे पर सुरेश खन्ना व नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी के बीच खासी नोकझोंक भी हुई। नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि यूपी विधानसभा से पुरानी पेंशन योजना बहाल करने संबंधी प्रस्ताव पास करा कर केंद्र को भेजा जाना चाहिए। इस पर सुरेश खन्ना ने कहा कि 2005 के बाद से प्रदेश में सपा व बसपा की ही सरकारें रहीं। इस पर तब क्यों नहीं पुरानी पेंशन योजना बहाल की। उस वक्त पश्चिम बंगाल व त्रिपुरा ने केंद्र से अलग रुख लिया था। तब यूपी सरकार भी इसी राह पर चल सकती थी।

उन्होंने कहा कि नई पेंशन योजना का एक मकसद यह भी है कि आने वाली पीढ़ी पर पेंशन खर्च का बड़ा बोझ न पड़े। उन्होंने कहा कि राज्य कर्मचारियों की पेंशन का पैसा शेयर बाजार में डूब जाने की आशंका भी गलत है। 28 मार्च 2005 का शासनादेश तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की सरकार में पास हुआ था। अब सपा के लोग अपनी सरकार के लाये शासनादेश का विरोध कर रहे हैं। बसपा के लालजी वर्मा व सुखदेव राजभर ने नई पेंशन योजना की समीक्षा किये जाने व पुरानी पेंशन योजना लागू करने की बात कही।

पेंशन योजना बंद नहीं किया जाएगा, कर्मचारियों को होगा फायदा

विशेष संवाददाता, लखनऊ। विधानसभा में सोमवार को राज्य कर्मचारियों के लिए नई पेंशन योजना की जगह पुरानी पेंशन योजना बहाल करने का मुद्दा उठा। सरकार ने साफ कह दिया कि वह नई पेंशन योजना को बंद नहीं करेगी। इस योजना से कर्मचारियों को काफी फायदा होगा। इस जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस, सपा और बसपा ने सदन से वॉकआउट किया।

प्रश्नकाल में यह मामला कांग्रेस के अजय कुमार लल्लू ने उठाया। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि नई पेंशन योजना को लेकर अनावश्यक भ्रम फैलाया जा रहा है। यह योजना तो 1 अप्रैल 2005 से लागू है। इस बीच बसपा सपा की सरकारें रही। तब क्यों नहीं इसे उठाया गया। आज विरोधी दल इस पर क्यों बोल रहे हैं। वैसे भी नई पेंशन योजना 20 लाख कर्मचारियों के हित में है और उनका पैसा पूरी तरह सुरक्षित है।

No comments:

Post a Comment

RECENT POSTS

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/आदेश/निर्देश/सर्कुलर/पोस्ट्स एक साथ एक जगह, बेसिक शिक्षा न्यूज ● कॉम के साथ क्लिक कर पढ़ें ।

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/ आदेश / निर्देश / सर्कुलर / पोस्ट्स एक साथ एक जगह , बेसिक शिक्षा न्यूज ●...