Sunday, December 31, 2017

UNIFORM DISTRIBUTION : टेंडर के फंदों में उलझ गया स्कूली बच्चों का स्वेटर, न्यूनतम रेट वाले को ठेका नहीं, खरीद प्रक्रिया सवालों में

UNIFORM DISTRIBUTION : टेंडर के फंदों में उलझ गया स्कूली बच्चों का स्वेटर, न्यूनतम रेट वाले को ठेका नहीं, खरीद प्रक्रिया सवालों में

लखनऊ । सरकारी स्कूलों में बच्चों को बांटा जाने वाला स्वेटर टेंडर के फंदों में उलझ गया है। कड़ाके की ठंड में सूबे के करीब डेढ़ करोड़ बच्चे ठिठुर रहे हैं। खुद मुख्यमंत्री ने बच्चों को तत्काल स्वेटर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं, लेकिन जिम्मेदार प्रक्रिया चलने की बात कह रहे हैं। टेंडर क्यों नहीं हो रहा? स्वेटर कब तक बंट पाएंगे? कौन है इस प्रक्रिया में बाधक? इन सवालों पर सभी चुप्पी साधे हुए हैं।

सवाल यह भी उठ रहा है कि दो बार न्यूनतम रेट लगाने वाली कंपनी को टेंडर क्यों नहीं दिया गया? क्योंकि नौ नवंबर को बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से स्वेटर वितरण के लिए गवर्नमेंट ई मार्केट (जीईएम) पोर्टल पर बिड खोली गई। इसमें रिवर्स ऑक्सन (आरए) के तहत विभाग की ओर से प्रति स्वेटर की न्यूनतम दर 350 रुपये तय की गई थी। यानी इससे कम बोली लगानी थी।

सूत्रों का कहना है कि स्वेटर वितरण के लिए एक कंपनी ने सबसे कम 249.75 रुपये प्रति स्वेटर बोली लगाई थी, लेकिन यह सिर्फ लखनऊ के लिए थी और आगे दूसरे जिलों के लिए नई बिड लेने का प्रावधान था। इस पर सबसे कम बोली लगाने वाली कंपनी ने यह कहते हुए आपत्ति दर्ज कराई कि अलग-अलग जिलों के लिए अलग-अलग टेंडर का कोई तुक नहीं और इससे उसके रेट भी लीक हो जाएंगे। कंपनी की आपत्ति पर विभाग ने पहली प्रक्रिया रोक दी।

इसके बाद दोबारा टेंडर प्रक्रिया शुरू की गई। इसके तहत जीईएम पोर्टल पर दूसरी बिड डिमांड एग्रीग्रेशन (मांग एकत्रीकरण) यानी बिड डीए आमंत्रित की। इसमें पूरे यूपी के लिए विभिन्न साइज के स्वेटर के रेट मांगे गए। बिड 23 नवंबर को हुई। घालमेल की आशंका होने पर पहली बार न्यूनतम रेट देने वाली कंपनी ने दूसरी बिड में पहले से भी कम 248.13 रुपये प्रति पीस स्वेटर का रेट डाला। ये रेट सबसे कम निकला, मगर फिर भी कंपनी को टेंडर आवंटित नहीं किया गया। ऐसा क्यों? इस पर जिम्मेदार मौन रहे और 23 दिसंबर को फिर नया ई टेंडर जारी कर दिया गया जो अब तक फाइनल नहीं किया जा सका है।

MDM, MTA, BASIC SHIKSHA NEWS : स्कूलों में मां के मन का मिड-डे मील, जिलाधिकारियों को निर्देश जारी, विद्यालयों में 15 से 30 जनवरी तक स्वस्थ शरीर स्वस्थ दिमाग पखवाड़ा भी मनाया जाएगा

MDM, MTA, BASIC SHIKSHA NEWS : स्कूलों में मां के मन का मिड-डे मील, जिलाधिकारियों को निर्देश जारी, विद्यालयों में 15 से 30 जनवरी तक स्वस्थ शरीर स्वस्थ दिमाग पखवाड़ा भी मनाया जाएगा

🔵 बेसिक शिक्षा न्यूज़ डॉट कॉम का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

🔴 प्राइमरी का मास्टर डॉट नेट का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

इलाहाबाद । नए साल में मध्याह्न् भोजन योजना के तहत गठित मां समूह का लाभ छात्र-छात्रओं को दिलाने की तैयारी है। इस समूह की नियमित बैठकें कराकर योजना को बेहतर करने के लिए माताओं के विचार लेने का निर्देश जारी हुआ है। साथ ही विद्यालयों में 15 से 30 जनवरी तक स्वस्थ शरीर स्वस्थ दिमाग पखवाड़ा भी मनाया जाएगा। उसमें विविध आयोजन होंगे।

जिलाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश जारी किया गया है। विद्यालयों में मध्याह्न् भोजन योजना संचालित है उसे और बेहतर करने के लिए मां समूह का गठन किया जा चुका है। इसका उद्देश्य खाने के मीनू को और बेहतर बनाना है, क्योंकि बच्चे के संबंध में मां से अच्छी जानकारी किसी के पास नहीं होती। मिड-डे मील के प्रदेश निदेशक अब्दुल समद ने जिलाधिकारियों को भेजे निर्देश में कहा है कि इस समूह की नियमित बैठकें कराकर योजना के बेहतर संचालन को उनके विचार लिए जाएं। वहीं, शिक्षक छात्र-छात्रओं से भोजन की गुणवत्ता, व्यक्तिगत स्वच्छता और पर्यावरण स्वच्छता पर चर्चा करें। विशेष पखवाड़े में विद्यालय प्रबंध समिति के सदस्य, गणमान्य नागरिक व जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित कर साफ सफाई के बारे में जानकारी दी जाए। हर स्कूल के बच्चे स्वच्छता के संबंध में रैली निकालें। वहीं, छात्र-छात्रओं के मध्य खेलकूद, वाद-विवाद, चित्रण, पोस्टर मेकिंग, लोकगीत व नाटक आदि का आयोजन हो। निर्देश में कहा गया है कि विद्यालय परिसर की साफ-सफाई के साथ ही पौधरोपण भी कराया जाए।

TEACHING QUALITY, AWARD, BASIC SHIKSHA NEWS : प्रदेश के विभिन्न जनपदों में शैक्षिक नवाचार से बदलाव की इबारत लिखने वाले शिक्षकों के प्रयास से सरकारी स्कूलों की तस्वीर बदलने लगी, मिशन शिक्षण संवाद सेमिनार में प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित

TEACHING QUALITY, AWARD : प्रदेश के विभिन्न जनपदों में शैक्षिक नवाचार से बदलाव की इबारत लिखने वाले शिक्षकों के प्रयास से सरकारी स्कूलों की तस्वीर बदलने लगी, मिशन शिक्षण संवाद सेमिनार में प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिन्ह देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित

🔵 बेसिक शिक्षा न्यूज़ डॉट कॉम का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

🔴 प्राइमरी का मास्टर डॉट नेट का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

सिद्धार्थनगर : प्रदेश के विभिन्न जनपदों में शैक्षिक नवाचार से बदलाव की इबारत लिखने वाले शिक्षकों के प्रयास से सरकारी स्कूलों की तस्वीर बदलने लगी है। वह दिन दूर नहीं जब प्राइमरी स्कूल भौतिक संसाधनों तथा गुणवत्ता पूर्ण शैक्षिक वातावरण के बल पर महंगे प्राइवेट स्कूलों से आगे दिखाई देंगे।

उपरोक्त बातें सांसद जगदंबिका पाल ने कही। वह शनिवार को कपिलवस्तु महोत्सव अंतर्गत लोहिया कला भवन में आयोजित दो दिवसीय शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार को संबोधित कर रहे थे। नवाचारी शिक्षकों की प्रशंसा करते हुए सफल आयोजन के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं मिशन शिक्षण संवाद टीम की मुक्त कंठ से सराहना की। सदर विधायक श्याम धनी राही ने शैक्षिक सुधारों के लिए सरकार और मुख्यमंत्री के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए शिक्षकों से नवाचारी शिक्षकों से प्रेरणा लेकर बेहतर कार्य करने को प्रेरित किया। डुमरियागंज के विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह ने शैक्षिक गुणवत्ता सेमिनार को कपिलवस्तु महोत्सव का सबसे उत्कृष्ट आयोजन बताया। कहा कि जूता-मोज़ा वितरण के पश्चात अगले सत्र में सरकारी स्कूलों में फ़र्नीचर की व्यवस्था की जाएगी, जिसके संबंध में मुख्यमंत्री से उनकी बात हो चुकी है। श्री सिंह ने उपस्थित सांसद और मुख्य विकास अधिकारी से अपने क्षेत्र के स्कूलों को गोद लेकर वहां बुनियादी सुविधाओं के प्रबंध का अनुरोध भी किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सहायक शिक्षा निदेशक डा. सत्य प्रकाश त्रिपाठी, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार मिश्र, बेसिक शिक्षा अधिकारी मनिराम सिंह व डायट प्राचार्य के.सी. भारती ने समस्त नवाचारी शिक्षकों और मिशन शिक्षण संवाद टीम के सदस्यों की सराहना करते हुए अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया। अंत में समस्त नवाचारी शिक्षकों को सांसद ने प्रशस्ति-पत्र एवं स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। सफल संचालन नियाज़ कपिलवस्तुवी ने किया।

मिशन शिक्षण संवाद टीम के विमल कुमार, ज्योति, डा. ख़ुर्शीद, सर्वेष्ट मिश्र, प्राशिसं के ज़िलाध्यक्ष राधेरमण त्रिपाठी, जिला मंत्री योगेन्द्र पांडेय, उदयभान मिश्र, कैलाश मणि त्रिपाठी, नफ़ीस हैदर रिज़्वी, मुश्तन शेरूल्लाह, शैलेन्द्र मिश्र, अंब्रीश श्रीवास्तव, अंशुमान सिंह, उपेन्द्र उपाध्याय, महेश कुमार, दुर्गेश मिश्र एवं समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों सहित बड़ी तादाद में शिक्षकों की उपस्थिति रही।

Saturday, December 30, 2017

BED, ONLINE, UDISE : नंबर बनी समस्या, ब्रिज कोर्स में आवेदन नही कर पा रहे शिक्षक

BED, ONLINE, UDISE : नंबर बनी समस्या, ब्रिज कोर्स में आवेदन नही कर पा रहे शिक्षक

UNIFORM DISTRIBUTION, BASIC SHIKSHA NEWS : सरकारी स्कूलों में 1.54 करोड़ बच्चों को स्वेटर देने का मामला, स्वेटर का दाम अधिक ज्यादा होने से अफसर असमंजस में, कई दौर की वार्ता के बाद भी नही निकला नतीजा ।

UNIFORM DISTRIBUTION : सरकारी स्कूलों में 1.54 करोड़ बच्चों को स्वेटर देने का मामला, स्वेटर का दाम अधिक ज्यादा होने से अफसर असमंजस में, कई दौर की वार्ता के बाद भी नही निकला नतीजा ।

INTERDISTRICT TRANSFER, POLICY : शिक्षकों को अंतर जिला तबादले का तोहफा, फरवरी में बदल सकेंगे जिला, लिए जाएंगे ऑनलाइन आवेदन

INTERDISTRICT TRANSFER, POLICY : शिक्षकों को अंतर जिला तबादले का तोहफा, फरवरी में बदल सकेंगे जिला, लिए जाएंगे ऑनलाइन आवेदन

लखनऊ । पिछले साल अंतर जिला तबादले से वंचित रह गए परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों की यह मुराद नए साल में पूरी होने के आसार हैं। जनवरी के दूसरे हफ्ते में परिषदीय शिक्षकों के अंतर जिला तबादला प्रक्रिया की शुरुआत हो सकती है। बेसिक शिक्षा विभाग में इस पर सहमति बन गई है। अंतर जिला तबादलों के लिए शिक्षकों से ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे। तबादले के लिए वरीयता गुणवत्ता अंक के आधार पर तय की जाएगी।

शासन ने चालू शैक्षिक सत्र में परिषदीय (बेसिक) शिक्षकों के अंतर जिला तबादले की नीति जून में जारी की थी। नीति में कहा गया था कि अपनी तैनाती वाले जिले में 31 मार्च, 2017 तक पांच साल की संतोषजनक सेवा पूरी करने वाले नियमित शिक्षक ही चालू शैक्षिक सत्र में दूसरे जिले में तबादले के लिए आवेदन कर सकेंगे। शर्त यह भी थी कि शिक्षक ने पहले कभी अंतर जिला तबादले का लाभ न लिया हो। न ही उन्हें विभागीय कार्यवाही के तहत दंडित किया गया हो। अंतर जिला तबादले की प्रक्रिया जिले के अंदर शिक्षकों का समायोजन/स्थानांतरण पूरा होने के बाद ही शुरू होनी थी लेकिन, ऐसा हो नहीं पाया। बेसिक शिक्षा विभाग ने इस दिशा में फिर कदम बढ़ाने का मन बनाया है।

लखनऊ : बेसिक शिक्षकों को मिल सकता है तोहफा, जनवरी के दूसरे हफ्ते में हो सकती है अंतरजनपदीय तबादले प्रक्रिया की शुरुआत

ऐसे तय होंगे गुणवत्ता अंक

’दिव्यांगता के लिए पांच अंक

’स्वयं या पति/पत्नी या बच्चे के असाध्य/गंभीर बीमारी से ग्रस्त होने पर पांच अंक

’महिला शिक्षक के लिए पांच अंक

’सेवा के प्रत्येक वर्ष के लिए एक अंक (अधिकतम 35 अंक)

’सेवाकाल के आधार पर यदि दो शिक्षकों के समान अंक होते हैं और केवल एक का ही तबादला किया जा सकता है तो ऐसी स्थिति में उनमें से अधिक आयु वाले अध्यापक को वरीयता दी जाएगी।

राज्य ब्यूरो, लखनऊ । पिछले साल अंतर जिला तबादले से वंचित रह गए परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों की यह मुराद नए साल में पूरी होने के आसार हैं। जनवरी के दूसरे हफ्ते में परिषदीय शिक्षकों के अंतर जिला तबादला प्रक्रिया की शुरुआत हो सकती है। बेसिक शिक्षा विभाग में इस पर सहमति बन गई है। अंतर जिला तबादलों के लिए शिक्षकों से ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे। तबादले के लिए वरीयता गुणवत्ता अंक के आधार पर तय की जाएगी।

शासन ने चालू शैक्षिक सत्र में परिषदीय (बेसिक) शिक्षकों के अंतर जिला तबादले की नीति जून में जारी की थी। नीति में कहा गया था कि अपनी तैनाती वाले जिले में 31 मार्च, 2017 तक पांच साल की संतोषजनक सेवा पूरी करने वाले नियमित शिक्षक ही चालू शैक्षिक सत्र में दूसरे जिले में तबादले के लिए आवेदन कर सकेंगे। शर्त यह भी थी कि शिक्षक ने पहले कभी अंतर जिला तबादले का लाभ न लिया हो। न ही उन्हें विभागीय कार्यवाही के तहत दंडित किया गया हो। अंतर जिला तबादले की प्रक्रिया जिले के अंदर शिक्षकों का समायोजन/स्थानांतरण पूरा होने के बाद ही शुरू होनी थी लेकिन, ऐसा हो नहीं पाया। बेसिक शिक्षा विभाग ने इस दिशा में फिर कदम बढ़ाने का मन बनाया है।

अंतर जिला तबादलों के इच्छुक अध्यापकों को ऑनलाइन आवेदन में वरीयता क्रम में तीन जिलों का विकल्प देना होगा। स्थानांतरण चाहने वाले शिक्षकों का तबादला उनके अधिमान क्रम में प्रथम विकल्प के तौर पर किया जाएगा।

इसके बाद उनका स्थानांतरण उनके द्वितीय विकल्प और बाकी बचे अध्यापकों का उनके तीसरे विकल्प के आधार पर किया जाएगा। यदि पति-पत्नी दोनों में से कोई एक प्रदेश सरकार की सेवा में हो तो उन्हें यथासंभव एक ही जिले में तैनाती दी जाएगी। शिक्षकों को ऑनलाइन आवेदन के साथ संबंधित दस्तावेज भी अपलोड करने होंगे।

BASIC SHIKSHA NEWS, ORDER : सभी दफ्तरों, शिक्षण संस्थाओं में लगेंगे डॉ भीमराव अम्बेडकर के चित्र, अंकित करना होगा जन्मतिथि व निर्वाण दिवस, यहीं आदेश भी देखें ।

BASIC SHIKSHA NEWS, ORDER : सभी दफ्तरों, शिक्षण संस्थाओं में लगेंगे डॉ भीमराव अम्बेडकर के चित्र, अंकित करना होगा जन्मतिथि व निर्वाण दिवस, यहीं आदेश भी देखें ।

योगी आदित्यनाथ की घोषणा के क्रम में शासन ने विधान सभा, विधान परिषद, सचिवालय सहित राज्य सरकार के सभी कार्यालयों, सार्वजनिक उपक्रमों, निगमों, परिषदों के कार्यालयों तथा शैक्षणिक संस्थाओं में डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर का चित्र लगाने के बारे में तत्काल आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि निर्देश में यह भी कहा गया है कि डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर के चित्र के नीचे उनकी जन्म तिथि और निर्वाण तिथि अनिवार्य रूप से अंकित की जाए। गौरतलब है कि छह दिसंबर को मुख्यमंत्री ने सचिवालय, विधान सभा, विधान परिषद सहित राज्य सरकार के सभी कार्यालयों, सार्वजनिक उपक्रमों, निगमों/परिषदों के कार्यालयों व शैक्षणिक संस्थाओं में डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर के चित्र लगाने के निर्देश दिए थे ।

📌 GOVERNMENT ORDER : सभी कार्यालयों, सार्वजनिक उपक्रमों, निगमों/परिषदों के कार्यालयों व शैक्षणिक संस्थाओं में डा0 भीमराव अम्बेडकर जी का चित्र लगाने के संबंध में।

GOVERNMENT ORDER, CIRCULAR, KGBV : प्रदेश के समस्त जनपदों में सर्व शिक्षा अभियान के अन्तर्गत संचालित NPEGEL के खातों को बंद किये जाने के संबंध में आदेश जारी ।

GOVERNMENT ORDER, CIRCULAR, KGBV : प्रदेश के समस्त जनपदों में सर्व शिक्षा अभियान के अन्तर्गत संचालित NPEGEL के खातों को बंद किये जाने के संबंध में आदेश जारी ।

GOVERNMENT ORDER, CIRCULAR, UDISE : शाला सिद्धि कार्यक्रम के अन्तर्गत समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों का डैशबोर्ड भरने के संबंध में आदेश जारी ।

GOVERNMENT ORDER, CIRCULAR, UDISE : शाला सिद्धि कार्यक्रम के अन्तर्गत समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों का डैशबोर्ड भरने के संबंध में आदेश जारी ।

DIRECTOR, TEACHING QUALITY, BSA , BASIC SHIKSHA NEWS : नवाचार चिह्न्ति कर भेजनी थी सूचना, जिला स्तर पर विशिष्ट नवाचार नहीं बता रहे बीएसए, किसी जिले से इस संबंध में नहीं भेजी जा रही है रिपोर्ट

DIRECTOR, TEACHING QUALITY, BSA : नवाचार चिह्न्ति कर भेजनी थी सूचना, जिला स्तर पर विशिष्ट नवाचार नहीं बता रहे बीएसए, किसी जिले से इस संबंध में नहीं भेजी जा रही है रिपोर्ट

🔵 बेसिक शिक्षा न्यूज़ डॉट कॉम का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

🔴 प्राइमरी का मास्टर डॉट नेट का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

इलाहाबाद । बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में पठन-पाठन का अंदाजा सिर्फ इसी से लगाया जा सकता है कि शैक्षिक क्षेत्र में नवाचार करने वालों की रिपोर्ट बेसिक शिक्षा अधिकारी नहीं दे पा रहे हैं। शिक्षा निदेशक बेसिक ने बीएसए को भेजे कड़े पत्र में लिखा है कि ऐसा लगता है कि उनके स्तर पर इस दिशा में कोई कार्य ही नहीं हुआ है। अब फिर रिपोर्ट भेजने का आदेश हुआ है। परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्तर के शिक्षण कार्य में उल्लेखनीय कार्य करने वाले पांच शिक्षकों का अलग-अलग समूह तैयार करके विकासखंड स्तर पर कार्यरत सभी शिक्षकों को चरणबद्ध तरीके से नवाचारों का प्रस्तुतीकरण करने का आदेश हुआ था। साथ ही जिले स्तर पर विशिष्ट नवाचार चिह्न्ति करके समूह गठन की सूचना शिक्षा निदेशक बेसिक को भेजनी थी लेकिन, अब तक इस दिशा में कोई कार्य नहीं हुआ है । बेसिक शिक्षा महकमा जिले के नवाचार करने वाले शिक्षकों का प्रदेश स्तर पर समूह गठित करना चाहता है लेकिन, किसी जिले से इस संबंध में रिपोर्ट ही नहीं भेजी जा रही है।

GOVERNMENT ORDER, AADHAR CARD, CIRCULAR, KGBV : कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में अध्ययनरत बालिकाओं के आधार कार्ड 30 दिसम्बर तक पूर्ण कराये जाने के संबंध में आदेश जारी ।

GOVERNMENT ORDER, AADHAR CARD, CIRCULAR, KGBV : कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में अध्ययनरत बालिकाओं के आधार कार्ड 30 दिसम्बर तक पूर्ण कराये जाने के संबंध में आदेश जारी ।

SCHOOL, BASIC SHIKSHA NEWS : अब सूबे के अभी विद्यालय बनेंगे तंबाकू मुक्त संस्थान, हर स्कूल की 100 गज की परिधि में तंबाकू उत्पाद विक्रय प्रतिबंधित

BASIC SHIKSHA NEWS : अब सूबे के अभी विद्यालय बनेंगे तंबाकू मुक्त संस्थान, हर स्कूल की 100 गज की परिधि में तंबाकू उत्पाद विक्रय प्रतिबंधित

इलाहाबाद. प्रदेश भर के विद्यालयों के आसपास तंबाकू उत्पादों का विक्रय प्रतिबंधित कर दिया गया है। स्कूल के 100 गज की परिधि में तंबाकू उत्पाद बेचने या फिर सेवन करने पर 200 रुपये तक का दंड लगेगा। इस संबंध में नए सिरे से कड़े निर्देश जारी किए गए हैं। इसमें स्थानीय पुलिस प्रशासन को भी तत्परता दिखानी होगी, क्योंकि अक्सर प्रतिबंधित दुकानें पुलिस के संरक्षण में ही चलती हैं।

एक ओर जहां विश्व भर में विज्ञान के क्षेत्र में नई उपलब्धियों के कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं। वहीं, भारत व कुछ अन्य देशों में तंबाकू व उसके उत्पादों के सेवन से छात्र-छात्रओं का मनमस्तिष्क प्रभावित होने के साथ ही स्वास्थ्य पर भी कुप्रभाव पड़ रहा है। ऐसे में भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रलय ने सिगरेट व अन्य तंबाकू उत्पाद कोटपा अधिनियम 2003 के प्रावधान लागू किए हैं। हर विद्यालय के बाहर मुख्य द्वार के पास बोर्ड लगाया जाएगा जिसमें तंबाकू मुक्त शिक्षण संस्थान लिखा होगा। हर स्कूल में तंबाकू निषेध कमेटी का भी गठन किया जाएगा, जिसमें शिक्षक, छात्र व स्वैच्छिक संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

शिक्षा निदेशक बेसिक डा. सर्वेद्र विक्रम बहादुर सिंह की ओर से भेजे निर्देश में कहा गया है कि विद्यालय में शिक्षक, छात्र, कर्मचारी, आगंतुक कोई भी तंबाकू उत्पाद का सेवन नहीं करेगा। साथ ही तंबाकू नियंत्रण की कार्यशालाएं समय-समय पर आयोजित होंगी। विद्यालय प्रबंध समिति की बैठकों में भी इस पर चर्चा की जाए और लगातार तंबाकू निषेध कार्यक्रम का प्रचार-प्रसार हो। इस तरह के निर्देश सरकार व शासन की ओर से े भी जारी हुए हैं, लेकिन स्थानीय पुलिस प्रशासन की अनदेखी से स्कूलों के गेट पर ही तंबाकू उत्पाद की दुकानें सजी हैं। ऐसे में पुलिस प्रशासन को भी कानून का अमल कराने पर जोर देना होगा।’

Friday, December 29, 2017

GOVERNMENT ORDER, TIMETABLE, SCHOLARSHIP : शैक्षिक सत्र 2017-18 में कक्षा 9 व 10 में अध्ययनरत छात्रों को छात्रवृत्ति हेतु आवेदन करने एवं अन्य प्रक्रियात्मक कार्यवाही हेतु संशोधित समय सारिणी निर्गत किये जाने के सम्बन्ध में।

GOVERNMENT ORDER, TIMETABLE, SCHOLARSHIP : शैक्षिक सत्र 2017-18 में कक्षा 9 व 10 में अध्ययनरत छात्रों को छात्रवृत्ति हेतु आवेदन करने एवं अन्य प्रक्रियात्मक कार्यवाही हेतु संशोधित समय सारिणी निर्गत किये जाने के सम्बन्ध में।

GOVERNMENT ORDER, MDM, CIRCULAR : मिड डे मील योजनान्तर्गत "स्वस्थ परीक्षण स्वस्थ दिमाग" पखवाड़ा मनाये जाने के सम्बन्ध में ।

GOVERNMENT ORDER, MDM, CIRCULAR : मिड डे मील योजनान्तर्गत "स्वस्थ परीक्षण स्वस्थ दिमाग" पखवाड़ा मनाये जाने के सम्बन्ध में ।

GOVERNMENT ORDER : उत्तर प्रदेश माध्‍यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद का गठन

GOVERNMENT ORDER : उत्तर प्रदेश माध्‍यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद का गठन

GOVERNMENT ORDER, LEAVE, HOLIDAY : प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 हेतु अवकाश तालिका जारी, जयंती पर रहेंगे विद्यालय बन्द ।

GOVERNMENT ORDER, LEAVE, HOLIDAY : प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 हेतु अवकाश तालिका जारी, जयंती पर रहेंगे विद्यालय बन्द

GOVERNMENT ORDER, CIRCULAR, CONSTRUCTION : राज्य कर्मचारियों को भवन निर्माण / अग्रिम अथवा भवन मरम्मत / विस्तार अग्रिम स्वीकृत करने के सम्बन्ध में, साथ ही गृह निर्माण / मरम्मत अग्रिम के लिए प्रार्थना पत्र भी देखें ।

GOVERNMENT ORDER, CIRCULAR, CONSTRUCTION : राज्य कर्मचारियों को भवन निर्माण / अग्रिम अथवा भवन मरम्मत / विस्तार अग्रिम स्वीकृत करने के सम्बन्ध में, साथ ही गृह निर्माण / मरम्मत अग्रिम के लिए प्रार्थना पत्र भी देखें ।

GOVERNMENT ORDER : सभी कार्यालयों, सार्वजनिक उपक्रमों, निगमों/परिषदों के कार्यालयों व शैक्षणिक संस्थाओं में डा0 भीमराव अम्बेडकर जी का चित्र लगाने के संबंध में।

GOVERNMENT ORDER : सभी कार्यालयों, सार्वजनिक उपक्रमों, निगमों/परिषदों के कार्यालयों व शैक्षणिक संस्थाओं में डा0 भीमराव अम्बेडकर जी का चित्र लगाने के संबंध में।

SHIKSHAK BHARTI : 68500 शिक्षक भर्ती से कटऑफ हटाने की मांग, टीईटी पास शिक्षामित्र संघ सीएम को भेजा ज्ञापन

SHIKSHAK BHARTI : 68500 शिक्षक भर्ती से कटऑफ हटाने की मांग, टीईटी पास शिक्षामित्र संघ सीएम को भेजा ज्ञापन

🔵 बेसिक शिक्षा न्यूज़ डॉट कॉम का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

🔴 प्राइमरी का मास्टर डॉट नेट का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

CASUAL LEAVE, BASIC SHIKSHA NEWS : बेसिक शिक्षा विभाग में बदलेगा CL (आकस्मिक अवकाश) लेने का तरीका, जनवरी में लांच होगा नया सॉफ्टवेयर ।

CASUAL LEAVE, BASIC SHIKSHA NEWS : बेसिक शिक्षा विभाग में बदलेगा CL (आकस्मिक अवकाश) लेने का तरीका, जनवरी में लांच होगा नया सॉफ्टवेयर ।

🔵 बेसिक शिक्षा न्यूज़ डॉट कॉम का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

🔴 प्राइमरी का मास्टर डॉट नेट का एन्ड्रॉयड ऐप क्लिक कर डाउनलोड करें ।

RECENT POSTS

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/आदेश/निर्देश/सर्कुलर/पोस्ट्स एक साथ एक जगह, बेसिक शिक्षा न्यूज ● कॉम के साथ क्लिक कर पढ़ें ।

BASIC SHIKSHA NEWS, PRIMARY KA MASTER : अभी तक की सभी खबरें/ आदेश / निर्देश / सर्कुलर / पोस्ट्स एक साथ एक जगह , बेसिक शिक्षा न्यूज ●...